जानिए... क्यों बिगड़ रही है शहर की यातायात व्यवस्था, क्या कर रही है पुलिस

यातायात पुलिस चालान काटने में मशगुल, शहर के बिगड़े यातायात को सुधारने के लिए नहीं कोई प्रयास

शाजापुर.
शहर की बिगड़ती यातायात व्यवस्था से गत दिनों शहर की शांति भंग करने का प्रयास किया था। बावजूद जिम्मेदारों द्वारा शहर की यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए कोई महत्वपूर्ण कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। शहर में के बिगड़े यातायात की हालत सुधारने के लिए जिम्मेदार न ठीक व्यवस्था कर पा रहे है, नहीं जाम से शहरवासियों को निजात दिला रहे। शहर की यातयात टीम हाईवे पर चालान काटने में मशगुल है, जबकि शहर में बिगड़े यातायात को सुधारने का कोई प्रयास नहीं किया जा रहा है।
बता दें कि गत २६ नवंबर को वाहन टकराने की बात कसेरा बाजार क्षेत्र में दो पक्षों के बीच विवाद हो गया। इस दौरान पथराव भी हुआ था। इस विवाद से तनाव की स्थिति बन गई थी। पुलिस कार्रवाई के बाद मामले में प्रकरण दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था। बता दें कि यातायात व्यवस्था बिगड़ी हुई होने के चलते आए दिन लोगों में विवाद की स्थिति बनती है। कहीं दुकान के सामने वाहन खड़ा करने को लेकर तो कभी फोरव्हीलर वाहन से जाम लगने के कारण शहरवासी परेशान है। ऐसे में शहर के प्रमुख चौराहों पर यातायात पुलिस नहीं होने से स्थिति और खराब हो जाती है।

अव्यवस्थित पार्किंग और बड़े वाहनों का प्रवेश समस्या
बता दें कि शहर के दुकानदारों द्वारा बाहर तक सामान रखकर बेचा जाता है। जिससे मार्ग सकरे हो जाते हैं। ऐसे में पार्किंग की जगह नहीं होने पर लोगों द्वारा मार्ग पर ही पार्किंग लगाई जाती है। जिससे मार्ग से वाहन निकलने में काफी परेशानी होती है। वहीं फोर व्हीलर वाहनों के प्रवेश से शहर में पल-पल जाम की स्थिति बनती है। इस ओर जिम्मेदारों का कोई ध्यान नहीं। बता दें कि यातायात पुलिस द्वारा न तो दुकानदारों का सामान अंदर कराया जाता है और न ही सही पार्किंग से यातायात दूरूस्त किया जाता है। ऐसे में दिनभर शहरवासियों को जाम से परेशान होना पड़ता है।

३० वाहनों के चालान काटे, १२ हजार समन शुल्क वसूला
इधर यातायात विभाग द्वारा हाईवे पर वाहनों की जांच व चालानी कार्रवाई की जा रही है। यातायात प्रभारी सोरभ शर्मा ने बताया कि बुधवार को की गई कार्रवाई में ३० वाहनों के चालान काटे गए, जिनसे १२ हजार रुपए समन शुल्क वसूला गया। टूव्हीलर फोरव्हीलर दोनों तरह के वाहनों पर कार्रवाई की गई। जिसमें १२ चालन २५० रुपए के और १८ चालन ५०० रुपए के बनाए गए। इस दौरान वाहनों के कागज, नंबर प्लेट, ड्रायविंग साइसेंस सहित अन्य जांचे की गई।

यातायात में ये बड़ी समस्या
पार्किंग व्यवस्था : शहर के मुख्य बाजार चौक बाजार, सोमवारिया, सराफा बाजार, किला रोड, मीरकला बाजार, नईसडक़ कहीं भी पार्किंग व्यवस्था नहीं है। इन क्षेत्रों में बने कॉम्प्लेक्सों में भी पार्किंग की जगह नहीं छोड़ी गई, जिससे खरीदारी करने वाले लोग मार्ग पर ही वाहन खड़े कर देते हैं। जिससे मार्ग सकरे हो जाते है और यातायात प्रभावित होता है।
बैंक के बाहर अव्यवस्थित पार्किंग : शहर के प्रमुख बाजार में एसबीआई शाखा चौक बाजार, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक , सोमवारिया बाजार, बैंक ऑफ इंडिया नईसडक़ पर स्थित हैं। यहां पार्किंग व्यवस्था नहीं होने से मार्ग पर वाहन खड़े रहते हैं। जिससे आए दिन जाम की स्थिति बनती है।
अतिक्रमण : शहर के मुख्य बाजारों में दुकानों पर नालियों के आगे तक ओटले निकलकर अतिक्रमण किया जाता है। जहां दुकानदार सामान जमा लेते हैं। मार्ग सकरे होते जा रहे हैं। बता दें कि शहर के मुख्य बाजारों से अतिक्रमण हटाने की नगर पालिका ने वर्षों से कार्रवाई नहीं की। बता दें कि बाजार में कई रसूखदारों ने अतिक्रमण निकाल रखा है जिसके कारण उक्त कार्रवाई नहीं हो पा रही है।
बड़े वाहनों का प्रवेश : शहर के चौक बाजार, किला रोड, नईसडक़, सोमवारिया बाजार, मीरकला बाजार में पल-पल जाम लगता है। यहां जाम का एक कारण बड़े वाहनों का प्रवेश भी रहता है। कभी ट्रेक्टर-ट्राली तो कभी स्कूल के बड़े वाहन आते ही जाम की स्थिति बन जाती है। ऐसे वाहनों को रोकने के लिए भी कोई प्रयास नहीं हुए।
आवारा मवेशी : शहर में इन दिनों आवारा मवेशियों की संख्या भी बढ़ी हुई है। जिनके कारण बार-बार जाम की स्थिति बनती है। नईसडक़, किला रोड, मीरकला से लेकर बेरछा रोड, महूपुरा मार्ग सहित हाईवे पर मवेशियों का जमावड़ा रहता है। जो हर समय यातायात बाधित करते हैं।

इनका कहना
शहरी यातायात व्यवस्था बेहतर विशेष प्लानिंग की जा रही है। शहर में पार्किंग व्यवस्था नहीं है जिसके लिए विकल्प तलाशा जा रहा है। वनवे और फोर व्हीलर की इंट्री रोकने के लिए भी सुझाव लिए जा रहे हैं।
- सोरभ शर्मा, यातायात प्रभारी शाजापुर

Show More
anees khan
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned