Navratri 2021: नवरात्र में अपना स्वरूप बदलती है मां

35 वर्षों से अखंड ज्योत जल रही है मां चामुंडेश्वरी मंदिर में ।

By: Hitendra Sharma

Published: 11 Oct 2021, 07:38 PM IST

शाजापुर. बड़गांव नगर में स्थित मा चामुंडेश्वरी का मंदिर क्षेत्रवासियों के लिए आस्था का केंद्र है नवरात्र के दिनों में क्षेत्र एवं नगर से लोग दर्शन पूजन के लिए मंदिर पहुंच रहे हैं माता मंदिर में लगातार 35 वर्षों से अखंड ज्योत जल रही है मा चामुंडेश्वरी मंदिर में दो मूर्ति विराजमान है जिसमें एक बड़ी मूर्ति मां चामुंडेश्वरी की है और छोटी मूर्ति चौसठ योगिनी की है।

चामुंडेश्वरी का मंदिर प्राकृतिक सौंदर्य से सराबोर है तथा मंदिर परिसर में ही प्राचीन नीम, पारस पीपल, इमली के भी पेड़ है चामुंडेश्वरी की मूर्ति आकर्षक एवं चमत्कारिक है वहीं परिसर में खेड़ापति हनुमान मंदिर, लक्ष्मी नारायण मंदिर, हाटकेश्वर महादेव मंदिर भी है ऐसी मान्यता है कि मां की मूर्ति नवरात्रि पर्व के दौरान अपना स्वरूप बदलती है।

Must See: नवरात्रि 2021: मां पीतांबरा की शरण में आने वालों को मिल जाती है राजसत्ता

मां चामुंडेश्वरी मंदिर में 35 वर्षों से लगातार नगर वासियों के सहयोग से अखंड रामायण पाठ चल रहा है मंदिर परिसर में एक बावड़ी कुआं है जिसमें वर्ष भर पानी रहता है भीषण गर्मी के दिनों में भी उक्त कुएं में पानी रहता है कुए के पास ही पिपलेश्वर शनि देव भगवान का मंदिर भी है जिस मंदिर में नवग्रह देवता स्वरूप में विराजमान है।

Must See: नवरात्रि 2021: एक ऐसा मंदिर जहां महिलाओं को माता के दर्शन करना वर्जित

नवरात्रि के दिनों में समिति द्वारा कई अनुष्ठान आयोजन होते हैं नवरात्रि की आखरी दिन महानवमी की रात्रि में एक विशेष हवन किया जाता है जिसमें नगर के बुजुर्गों द्वारा हवन मैं आहुतियां दी जाती है एवं नगर की सुरक्षा रक्षा तथा स्वास्थ्य की कामना की जाती है मां चमुंडेश्वरी माता मंदिर में शारदीय नवरात्रि तथा चेत्र नवरात्रि के अलावा भी गुप्त नवरात्रि भी मनाई जाती है जिसमें विशेष हवन अनुष्ठान किए जाते हैं।

Must See: 140 देशों में देखी जाएगी ओरछा की अंतर्राष्ट्रीय भव्य रामलीला

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned