जिले में किसानों के फेर में सरकार को 995 करोड़ का फटका

नई सरकार की ऋण माफी योजना में पात्र अन्नदाता को ही मिलेगा लाभ, बैंक के अधिकारी डाटा जुटाने में लगे

By: Lalit Saxena

Published: 18 Dec 2018, 09:00 AM IST

शाजापुर. प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही अपेक्स बैंक ने सभी जिला सहकारी केंद्रीय बैंकों को ऋणदाता किसानों की सूची एवं ऋण सहित अन्य समस्त जानकारी इकट्ठा करके भिजवाने के निर्देश दिए हैं। इससे सरकार की घोषणा के अनुसार 2 लाख रुपए तक का किसानों का कर्ज माफ किया जा सके। इसके चलते जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के अधिकारी किसानों का डाटा एकत्रित कर रहे हैं। इस डाटा के आधार पर पात्र किसानों को सरकार के निर्देशानुसार ऋण माफी का लाभ दिया जाएगा।
जानकारी के अनुसार जिले में (शाजापुर और आगर मिलाकर) जिला सहकारी केंद्रीय बैंक की कुल 146 कृषि सेवा सहकारी समिति मर्यादित के नाम से सोसायटियां हैं। इन सोसायटियों के माध्यम से किसानों को बीज, खाद सहित अन्य कार्य के लिए ऋण दिया जाता है। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के अनुसार शाजापुर और आगर जिले में मिलाकर करीब 1 लाख 49 हजार किसानों को लगभग 995 करोड़ रुपए का कर्ज दिया हुआ है। अब नई सरकार में से किसानों को 2 लाख रुपए तक के बकाया ऋण की माफी का लाभ दिया जाना है। हालांकि ये आंकड़ा अभी तक सामने नहीं है कि किसानों का कितना कर्ज माफ किया जाएगा, लेकिन बैंक के अधिकारी और कर्मचारी इस योजना के लिए कार्रवाई में जुट गए है। इधर सोमवार शाम को प्रमुख सचिव किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग ने फसल ऋण माफ करने के संबंध में आदेश जारी कर दिया है।
पोर्टल पर अपलोड करेंगे जानकारी
प्रमुख सचिव की ओर से आदेश जारी होने के बाद अब जिला सहकारी केंद्रीय बैंक की ओर से दोनों जिले के समस्त किसानों और उन्हें दिए गए ऋण की समस्त जानकारी पोर्टल पर अपलोड की जाएगी। इस जानकारी के हिसाब से पात्र किसानों का चयन किया जाएगा। फिर इन किसानों की बकाया ऋण की जानकारी लेकर किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा। इस कार्य के लिए सोमवार को बैंक के अधिकारी दोनों जिलों की सोसायटियों पर पहुंचकर जानकारी एकत्रित करते रहे।
31 मार्च तक का फसल ऋण होगा माफ
प्रमुख सचिव की ओर से जारी आदेश में 31 मार्च 2018 तक की स्थिति में किसानों के बकाया फसल ऋण की जानकरी जुटाकर अधिकतम 2 लाख रुपए तक का कर्ज माफ किया जाएगा। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के अनुसार दोनों जिले के मिलाकर 1 लाख 49 हजार किसानों पर खरीफ फसल का करीब 500 करोड़ रुपए और 30 जून 2018 की स्थिति में ओवरड्यू करीब 450 करोड़ रुपए हैं। इसे मिलाकर किसानों ने करीब 995 करोड़ रुपए का कर्ज लिया हुआ है। इसमें से पात्र किसानों की जानकारी निकालकर योजना का लाभ दिया जाएगा।
प्रारूप में भरी जा रही जानकारी
जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के अनुसार प्रत्येक किसान के नाम, पता, भूमि सहित अन्य मिलाकर करीब 36 कॉलम में जानकारी भरी जा रही है। इसमें से ये देखा जा रहा है कि किसान के पास कितनी भूमि है। उसने किस आधार पर कितना ऋण लिया है। उसका बकाया ऋण कितना है। इसी तरह की अन्य जानकारियों को प्रारूप में भरकर पात्र किसानों का चयन किया जाएगा। इसके बाद वरिष्ठ स्तर से मिलने वाले निर्देशों के अनुसार आगामी कार्रवाई की जाएगी।
आगर और शाजापुर जिले में मिलाकर करीब 1 लाख 49 हजार किसानों ने लगभग 995 करोड़ रुपए का कर्ज लिया हुआ है। वरिष्ठ स्तर से मिले निर्देशों के अनुसार जिले की समस्त सोसाइटियों से किसानों की जानकारी को एकत्रित किया जा रहा है। इसमें से पात्र किसानों को निर्देशानुसार ऋण माफी योजना का लाभ दिया जाएगा।
डीआर सरोठिया, प्रबंधक, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक-शाजापुर

Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned