जागरुकता में शहरी से आगे रहे ग्रामीण अभिभावक

जागरुकता में शहरी से आगे रहे ग्रामीण अभिभावक

Gopal Swaroop Bajpai | Updated: 07 Apr 2019, 09:53:11 PM (IST) Shajapur, Shajapur, Madhya Pradesh, India

पल्स पोलिया के तीन दिवसीय अभियान का हुआ शुभारंभ, शहरी क्षेत्र की अपेक्षा ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादा बच्चों को पिलाई पोलियारोधी दवाई

शाजापुर.

पल्स पोलियो अभियान का असर रविवार को ग्रामीण क्षेत्रों में खासा रहा। जबकि शहरी क्षेत्र में महज 50 प्रतिशत अभिभावक ही अपने बच्चों को पोलियो बूथ तक ले गए। रविवार को तीन दिवसीय पल्स पोलियो अभियान की शुरुआत की गई। अभियान के शेष रहे दो दिन में शत-प्रतिशत बच्चों को पोलियारोधी दवाई पिलाई जाने के लिए स्वास्थ्य विभाग को प्रयास करना होंगे।

उल्लेखनीय है कि पोलियो को जड़ से मिटाने के लिए समय-समय पर पल्स पोलिया अभियान चलाया जाता है। इसमें 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों को पोलियोरोधी दवाई पिलाई जाती है। इसके लिए व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जाता है। इस बार भी रविवार से शुरू हुए उक्त अभियान को लेकर काफी प्रचार-प्रसार किया गया। लोगों को अपने 0-5 साल तक के बच्चों को पोलियो बूथ पर ले जाकर दवाई पिलवाने के लिए जागरुकता फैलाई गई। सभी पोलिया बूथों पर सुबह 8 से शाम 5 बजे तक पोलियो रोधी दवाई पिलाई गई। इस जागरुकता का ग्रामीण क्षेत्रों में तो असर दिखाई दिया, लेकिन शहरी क्षेत्र में जागरुकता कम नजर आई। आंकड़ों के माध्यम से ये बात स्पष्ट हो रही है। जिले के 6 ब्लॉक में अलग-अलग टीमों ने बच्चों को पोलियारोधी दवाई पिलाई गई। इसमें शाजापुर शहर सबसे ज्यादा फिसड्डी रहा। यहां पर कुल अनुमानित बच्चों में से 50 प्रतिशत बच्चों को ही दवाई पिलाई जा सकी। इस अभियान के लिए जिले में कुल 1233 बूथ/टीम बनाई गई थी। 32 ट्रांजिट टीम एवं 20 मोबाइल टीम व 153 सुपरवाइजर नियुक्त किए गए थे। अभियान में करीब 2800 कर्मचारी कार्यरत रहे।

कालापीपल सबसे आगे, शाजापुर सबसे फिसड्डी
पोलियोरोधी दवाई पिलाने के लिए जिले के शाजापुर, शुजालपुर, कालापीपल, पोलायकलां, मो. बड़ोदिया और बेरछा ब्लॉक को बच्चों की अनुमानित संख्या के मान से 80-90 प्रतिशत तक की लक्ष्यपूर्ति के लिए निर्देश जारी किए गए थे। इसमें सबसे आगे 85 प्रतिशत लक्ष्यपूर्ति के साथ कालापीपल रहा। जबकि शाजापुर शहर 50 प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त कर सबसे पीछे रहा। बेरछा और मो. बड़ोदिया में भी लक्ष्य के मान से कम बच्चों को पोलियोरोधी दवाई पिलाई गई।

जिले में 73 प्रतिशत रही लक्ष्यपूर्ति
ब्लॉक कुल बच्चे दवाई पीने वाले बच्चे प्रतिशत
शाजापुर 11589 5846 50 प्रतिशत
बेरछा 32132 20929 65 प्रतिशत
मो. बड़ोदिया 27070 18392 68 प्रतिशत
पोलायकलां 23378 18779 80 प्रतिशत
शुजालपुर 8829 7317 82 प्रतिशत
कालापीपल 27675 23699 85 प्रतिशत
कुल 130673 94962 73 प्रतिशत

इनका कहना है
ग्रामीण क्षेत्रों में अच्छी स्थिति रही जबकि शहरी क्षेत्र में पहले दिन अपेक्षाकृत कम बच्चों को दवाई पिलाई जा सकी है। अब अभियान के दो दिनों में घर-घर जाकर दवाई पिलाई जाएगी।
- डॉ. एआर हावडिय़ा, जिला नोडल अधिकारी, पल्स पोलिया अभियान-शाजापुर

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned