ट्रेंचिंग ग्राउंड को लेकर खड़ा हुआ बखेड़ा, सड़कों पर उतरे रहवासी

मुख्य मार्ग के समीप फेंक रहे थे कचरा, लोगों के विरोध के चलते अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर सुलझाया मामला

By: Lalit Saxena

Published: 20 Jul 2018, 12:40 AM IST

शाजापुर. शहर के वार्ड क्रमांक 9 और 10 के बीच बने हुए ट्रेंचिंग ग्राउंड पर शहरभर से कचरा एकत्रित करके कचरा संग्रहण वाहन कचरा फेंकते हैं। हर दिन की तरह यहां पर कचरा एकत्रित करके वाहन पहुंचे, लेकिन यहां के रहवासियों ने वाहन से कचरा ग्राउंड पर फैंकने का विरोध जताते हुए सभी वाहनों को रोक दिया। सूचना मिलने पर अधिकारी मौके पर पहुंचे और पूरे मामले की जानकारी ली। मुख्य मार्ग के समीप कचरा फैंक रहे कचरा संग्रहण वाहन चालकों को हिदायत दी। साथ ही रहवासियों को शीघ्र ही समस्या के निराकरण की बात कही। इसके बाद ट्रेंचिंग ग्राउंड के पीछे की ओर से रास्ता तैयार कर कचरा फेंकना शुरू किया गया।
कचरा संग्रहण वाहनों के माध्यम से शहर के कचरे को एकत्रित करके शहर के लालबाई-फुलबाई माता मंदिर रोड के समीप स्थित ट्रेंचिंग ग्राउंड पर फेंका जाता है। ट्रेंचिंग ग्राउंड पर लगातार कचरा बढऩे के कारण कचरा संग्रहण के कुछ वाहन चालकों ने कचरे को माता मंदिर मार्ग के पास में ही फेंकने लगे। इससे यहां से निकलने में भी लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। वहीं बारिश के कारण यहां पर सड़क पर ही गंदगी का अंबार लग गया। रहवासियों ने गुरुवार सुबह आक्रोशित होकर कचरा संग्रहण वाहनों को रोक दिया। लोगों ने सभी वाहनों को यहां पर कचरा फेंकने से मना कर दिया। ऐसे में काफी देर तक यहां मशक्कत चलती रही। सूचना मिलने पर सीएमओ सहित नपा के अन्य अधिकारी और कर्मचारी मौके पर पहुंचे। सूचना मिलने के बाद पुलिस भी यहां पहुंच गई। रहवासियों ने बताया कि सड़क के किनारे कचरा फैंका जा रहा है। जो बारिश के साथ बहकर सड़क पर आ जाता है। इससे गंदगी ओर बदबू के कारण यहां पर रहना भी दुभर हो गया है।
लोग करते रहे कचरा वाहनों का इंतजार
शहर में कुल 9 कचरा संग्रहण वाहन चलाए जाते है। ये 9 वाहन शहर के अलग-अलग क्षेत्रों से कचरा एकत्रित करके ट्रेंचिंग ग्राउंड पर फेंकते है। शहर के 29 वार्डों में से कचरा एकत्रित करने के लिए इन वाहनों को कईराउंड लगाना पड़ते है। सभी क्षेत्रों में जाने के लिए कचरा वाहनों का समय भी तय है, लेकिन गुरुवार को जब ट्रेंचिंग ग्राउंड पर हुए विरोध के कारण सभी कचरा वाहन रुक गए। 9 कचरा संग्रहण वाहनों के अतिरिक्त शहर में अलग-अलग स्थानों से कचरा एकत्रित करने के लिए नपा ने 3 ट्रैक्टर, एक डंपर और कचरा पेटी उठाने वाले एक ट्रक को भी लगाया हुआ है। ट्रेंचिंग ग्राउंड पर विरोध के कारण ये सभी वाहन करीब 3-4 घंटे तक रुके रहे।
3-4 माह में सुधर जाएंगे हालात
सीएमओ दीक्षित ने बताया कि शहर के बाहर ग्राम भीलवाडिय़ा के समीप ट्रेंचिंग ग्राउंड के लिए जो भूमि चयनित है उसके लिए शासन स्तर से दो बार टेंडर लगाए जा चुके है।ं हालांकि कुछ शर्तों को लेकर टेंडर डालने वाले ठेकेदारों ने आपत्ति जताई थी। जिसे शासन स्तर से हल कर दिया गया है। तीसरी बार भी टेंडर लगाए जा चुके है। टेंडर निकलने के बाद भीलवाडिय़ा के समीप ट्रेंचिंग ग्राउंड का कार्य शुरू करवा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि कल भीलवाडिय़ा जाकर वहां की स्थिति का आकलन किया जाएगा। ताकि जब तक टेंडर लगकर आगे की प्रोसेस शुरू होगी तब तक वहां कचरा तो फेंका जाने लगे। हालांकि 3-4 माह में यहां की समस्या पूरी तरह से हल हो जाएगी। इसके बाद यहां पर नया कचरा नहीं फेंका जाएगा। वहीं एक माह में शहर के अंदर स्थित टें्रचिंग ग्राउंड पर कोई न कोई कंपनी खाद बनाने के लिए यूनिट लगाएगी। इसके लिए टेंडर जारी हो गए है। खाद की यूनिट लगने से राहत मिलना शुरू हो जाएगी।
सीएमओ ने कर्मचारियों को लगाई फटकार
मौके पर पहुंचे सीएमओ भूपेंद्रकुमार दीक्षित को रहवासियों ने सड़क के किनारे फेंके जा रहे कचरे को दिखाया। इस पर सीएमओ ने नाराजगी जाहिर करते हुए कचरा संग्रहण वाहन के चालकों और दरोगा को फटकार लगाई। रहवासियों को सीएमओ ने कहा कि यहां की परेशानी को शीघ्र ही दूर करने के प्रयास शुरू किया जाएगा। उन्होंने सभी कर्मचारियों को कहा कि किसी भी हालत में सड़क के किनारे कचरा नहीं फैंके। सीएमओ ने मौके पर ही 3-4 डंपर गिट्टी मंगवाई और ट्रेंचिंग ग्राउंड के पीछे की ओर रास्ता बनवाकर कचरे को पीछे फिकवाना शुरू कराया। इसके बाद रहवासी माने और प्रदर्शन बंद कर दिया।

Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned