सरल पेपर देखते ही टेंशन हुआ फुर्र

हिंदी विशिष्ट से शुरू हुई १२वीं की परीक्षा, ५३ केंद्रों पर ८७२४ परीक्षार्थियों ने हल किया पर्चा

By: Lalit Saxena

Published: 03 Mar 2019, 09:15 AM IST

शाजापुर. माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित बोर्ड परीक्षा में १२वीं बोर्ड परीक्षा का शनिवार से शुरू हुई। १२वीं परीक्षा के लिए ८९३४ विद्यार्थी दर्ज थे। इनमें से २१० विद्यार्थी अनुपस्थित रहे। पहले दिन जिलेभर के ५३ परीक्षा केंद्रों पर ८७२४ नियमित परीक्षार्थियों ने हिंदी विशिष्ट का प्रश्न-पत्र हल किया। हालांकि अधिकांश परीक्षार्थियों का यही कहना था कि पेपर तो ईजी था। इसलिए परीक्षा के बाद सभी विद्यार्थियों के चेहरों पर मुस्कुराहट नजर आई।
देर रात तक परीक्षा की तैयारियों में जुटे विद्यार्थी कुछ घंटों की नींद के बाद अलसुबह उठकर फिर किताबों में खो गए। सभी की सिर्फ एक ही इच्छा थी कि परीक्षा की शुरुआत निराशाजनक न हो। इसी तमन्ना को मन में लिए हजारों परीक्षार्थी अपने माता-पिता और प्रभू का आशीष लेकर सुबह ८ बजे बाद से ही परीक्षा केंद्र पहुंचने लगे। यहां उनके चेहरों पर खुशी तो थी, लेकिन मन में बेचैनी भी, जो उनकी घबराहट को साफ बयां कर रही थी। शनिवार को सुबह ९ बजे परीक्षा शुरू हुई जो दोपहर १२ बजे तक चलती रही। परीक्षा देने पहुंचे परीक्षार्थियों को तलाशी लेने के बाद प्रवेश दिया गया।
परीक्षार्थियों ने ली राहत की सांस
हिंदी विषय का पेपर हाथ में आते ही जब परीक्षार्थियों ने उसे देखा, तो उनकी सारी घबराहट काफूर हो गई और उन्होंने राहत की सांस ली। परीक्षार्थियों ने कॉपी में आवश्यक जानकारियां भरने के बाद कॉपी में उम्मीदों की कलम चलाई। हालांकि प्रश्न-पत्र थोड़ा बड़ा था, कुछ परीक्षार्थियों को समय कम पड़ गया।
केंद्रों की गतिविधियों का लिया जायजा
१२वीं बोर्ड वार्षिक परीक्षा जिले के ५३ परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की गई। नकल रोकने के लिए जिला और विकासखंड स्तरीय गठित दल सतत् निरीक्षण करते रहे। इनमें शामिल आला अधिकारी परीक्षा केंद्रों का सतत निरीक्षण कर गतिविधियों का जायजा लेते रहे। कलेक्टर के मार्गदर्शन में प्रशासनिक अधिकारियों ने भी परीक्षा केंद्रों का भ्रमण कर बारिकी से व्यवस्थाओं का जायजा लिया। परीक्षा में ८७२४ नियमित व १६३३ स्वाध्यायी परीक्षार्थियों ने पहला पेपर हल किया।
नहीं बना कोई प्रकरण
बोर्ड परीक्षा के दूसरे दिन १२वीं की परीक्षा की शुरुआत हुई। बोर्ड परीक्षा का दूसरा दिन भी शांतिपूर्ण रहा और बच्चों ने इत्मिनान से परीक्षा दी। इस दौरान कहीं भी कोई अप्रिय स्थिति नहीं बनी और न ही कोई नकल प्रकरण बनाया गया। परीक्षा के दौरान पर्यवेक्षक लगातार छात्रों पर निगाह रखे हुए थे। परीक्षा प्रभारी प्रवीण मंडलोई ने बताया कि १२वीं की परीक्षा में बैठक व्यवस्थाएं बेहतर रही। उडऩदस्ता टीम का आकस्मिक निरीक्षण भी चलता रहा। कहीं भी नकल प्रकरण नहीं बनाया गया।
जिले में १२वीं का पहला पेपर शांतिपूर्ण तरीके से ५३ परीक्षा केंद्रों पर संपन्न कराया गया।किसी भी केंद्र पर नकल प्रकरण नहीं बना है। परीक्षा के दौरान सभी अधिकारियों ने परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण कर जायजा लिया।
प्रवीण मंडलोई, परीक्षा प्रभारी

Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned