एक शव, जो दफन होने के बाद छोड़ गया खौफ

Gopal Bajpai

Publish: Sep, 17 2017 08:44:30 (IST)

Shajapur, Madhya Pradesh, India
एक शव, जो दफन होने के बाद छोड़ गया खौफ

शव दफनाने को लेकर उपद्रव का मामला... 2 दिन, 7 एफआईआर, 155 आरोपी, 8 गिरफ्तार  एडीजी ने किया  दौरा

 शाजापुर. शहर में शनिवार को शव को दफनाने की बात को लेकर उपजे विवाद के बाद दूसरे दिन रविवार को शहर के हालात सामान्य हो गए। बाजार खुले रहे, लोग अपने काम में लगे रहे। हालांकि सभी की जुबां पर शनिवार को हुए उपद्रव की चर्चा और आंखों में डर दिखाई दिया। इधर घटना के बाद रविवार को एडीजी वी. मधुकुमार शहर पहुंचे और प्रशासनिक अमले के साथ चर्चा कर मामले की संपूर्ण जानकारी जुटाई। विवादित स्थल और शहर का दौरा करने के बाद फिर से बैठक शुरू हो गई। इस मामले में शनिवार और रविवार को मिलाकर कुल 7 एफआईआर कोतवाली पुलिस ने दर्ज की। इसमें 28 नामजद लोगों सहित कुल 155 को आरोपी बनाया गया है। इसमें से 8 की गिरफ्तारी हो गई है। एहतियात के तौर पर शहर में अलग-अलग चौराहों पर भारी पुलिस बल की तैनाती के साथ दिनभर पुलिस की गश्त भी चलती रही।
गौरतलब है कि शुक्रवार को महुपुरा क्षेत्र में रहने वाले इकबाल पिता सुल्तान पठान की मौत के बाद उसके शव को दफनाने के लिए शनिवार को मंगलनाथ महादेव मंदिर के पीछे कब्र खोदी गई। कब्रिस्तान से दूर निजी भूमि पर खोदी गई कब्र का विरोध जताने के बाद दूसरे पक्ष के लोग यहां पहुंचे और विवाद शुरू हो गया। देखते ही देखते नारेबाजी और पथराव भी होने लगा। पुलिस ने मौर्चा संभाला और स्थिति पर नियंत्रण किया। फिर कलेक्टर-एसपी ने मौके पर पहुंचकर राजस्व अमले को बुलवाकर जमीन की नपती कराई और विवाद को शांत कराया। इसके बाद दूसरे स्थान पर कब्र खोदकर शव को दफनाया गया। शव को दफनाने के बाद फिर से नारेबाजी और पथराव होने लगा।

काछीवाड़ा क्षेत्र में हुई थी फायरिंग
हाईवे पर स्थित धार्मिक स्थल के बाहर से हुए पथराव के बाद पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर आंसू गैस के गोले छोड़े। यहां से उपद्रवियों को खदेडऩे के बाद शहर के मगरिया और काछीवाड़ा क्षेत्र में पथराव होने लगा। यहां पर फायरिंग भी हुई। इसके बाद पुलिस ने यहां पर भी पहुंचकर भीड़ को तितर-बितर कर मामले को शांत कराया। शहरभर में धारा 144 लागू कर लोगों से अपने प्रतिष्ठान बंद करके घर में रहने का अनाउंसमेंट कराया। देर रात तक मामले में कुल 6 एफआईआर दर्ज की जाकर 8 लोगों को गिरफ्तार किया गया। रविवार को इसी मामले में एक अन्य एफआईआर भी दर्ज की गई। कोतवाली पुलिस ने कुल 7 एफआईआर दर्ज कर 28 लोगों पर नामजद सहित 155 लोगों के खिलाफ बलवा, पथराव, उपद्रव, मारपीट, तोडफ़ोड़, शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने आदि धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है। इनमें से 3 एफआईार पुलिस की ओर से वहीं दो-दो एफआईआर दोनों पक्षों की ओर से दर्ज कराई गई।

फायरिंग पर दर्ज की 307
शहर के काछीवाड़ा क्षेत्र में पथराव के दौरान फायरिंग की बात भी सामने आ रही थी। इस मामले में पुलिस ने धारा 307 के तहत प्रकरण दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार आरोपियों को पकडऩे के लिए अभी आरोपियों के नाम उजागर नहीं किए जा रहे हैं।

 

पुलिस ने नहीं की फायरिंग, एयरगन से चले छर्रे

शाजापुर में पुलिस की ओर से फायरिंग नहीं की गई। भीड़ के बीच में से एक व्यक्ति ने एयरगन से फायरिंग की जिसके छर्रे लोगों को लगे। एयरगन चलाने वाले की पहचान महेन्द्र सिंह कुशवाह के रूप में हुई है । उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है। यह जानकारी आईजी लॉ एंड आर्डर मकरंद देउस्कर ने रविवार शाम शाजापुर तनाव के मामले में पुलिस की ओर से स्थिति स्पष्ट करते हुए दी। आईजी देउस्कर ने बताया कि एयरगन चलाने वाले आरोपी को गिरफ्तार करने और एयरगन जब्त करने की कोशिश की जा रही है।

एसएएफ की तीन कम्पनियां भेजीं
शाजापुर में हालात नियंत्रण में है, वहां व्यवस्थाएं बनाए रखने के लिए एसएएफ (विशेष सशस्त्र बल ) की तीन कम्पनियां रवाना की गई हैं जो वहां पर लगातार पेट्रोलिंग कर रही हैं।

 विवादित स्थल पहुंचे एडीजी
शहर में रविवार दोपहर करीब डेढ़ बजे एडीजी शाजापुर पहुंचे। सबसे पहले एडीजी एसपी कार्यालय में पहुंचे। यहां पर एसपी के साथ उन्होंने शनिवार को हुए उपद्रव के संबंध में चर्चा की। इसके बाद एएसपी, आरआई सहित अन्य पुलिसकर्मियों को भी बुलाकर सभी से चर्चा कर आवश्यक निर्देश दिए। एसपी ऑफिस में करीब एक घंटे से ज्यादा रुकने के बाद एडीजी मधुकुमार विवादित स्थल पर पहुंचे और निरीक्षण किया। यहां से एडीजी ने शहर में काछीवाड़ा-मगरिया क्षेत्र का भी दौरा किया। इसके बाद रेस्ट हाउस पहुंचकर अधिकारियों के साथ बैठक भी ली।

तीन दर्जन स्थानों पर दबिश
शहर में मचे बवाल के बाद पुलिस ने उपद्रवियों को पकडऩे के लिए दबिश देना शुरू कर दिया। शनिवार देर रात और रविवार को दिनभर मिलाकर पुलिस ने शहरभर में करीब 3 दर्जन स्थानों पर दबिश दी। वहीं करीब 2 दर्जन संदिग्धों को भी पकड़ा है।पुलिस अभी और भी दबिश देकर कार्रवाई कर रही है।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned