ठंड आते ही सजने लगा मीठी महक का बाजार...सेहत और स्वाद से भरपूर

स्वाद के शौकीनों के लिए सर्दी सौगात बनकर आई है। ठंड का बहाना लेकर लोग बाजार में कई व्यंजनों को लुत्फ उठा रहे है।

By: Gopal Bajpai

Published: 03 Nov 2017, 06:23 PM IST

शाजापुर. स्वाद के शौकीनों के लिए सर्दी सौगात बनकर आई है। ठंड का बहाना लेकर लोग बाजार में कई व्यंजनों को लुत्फ उठा रहे है। इनमें ठंड भगाने वाली गजक कुछ ज्यादा ही पसंद आ रही है। जैसे-जैसे मौसम ठंडा होता जा रहा है, वैसे-वैसे गजक का बाजार भी गर्म होता जा रहा है। शहर में मुरैना की गजक की खुशबू महक रही है।


यूं तो तिल्ली-गुड़ से बनी गजक का चलन वर्षों पुराना है, लेकिन बदलते जमाने के साथ गजक बनाने का तरीका और वैरायटी में भी अंतर आया है। पहले गजक के रूप में तिल्ली की रेवडिय़ां, गुड़ व शक्कर की गजक का चलन ज्यादा था। आधुनिकता के जमाने में अब मावा, मूंगफली, घी और काजू से बनी गजक लोगों की पहली पसंद बन गई है। ठंड भगाने के लिए गजक उपयोगी मानी जाती है। बताया जाता है कि गुड़ की गजक को दूध के साथ खाने से ठंड का प्रभाव कम हो जाता है। ठंड के मौसम में तिल्ली की गजक मावे का काम करती है।
स्पेशल कुटमा गजक की सबसे ज्यादा मांग
शहर में नई सड़क क्षेत्र में मुरैना से गजक बेचने आए राजेश कुशवाह बताते हैं कि वैसे तो लोगों को सभी वैराइटियों की गजक पसंद आती हंै, लेकिन सबसे ज्यादा स्पेशल कुटमा गजक की मांग रहती है। जिसके खस्ता होने से यह आम लोगों के साथ-साथ बुजुर्गों से भी आसानी से खिला जाती है। उन्होंने बताया कि हर दो दिन में नई गजक तैयार करते हैं और ताजी गजक बेचते हैं। वह दो सालों से शहर में गजक बैचने आ रहे हैं। इस बार ठंड के शुरुआती दौर में ही गजक की अच्छी खासी बिक्री होना शुरु हो गई थी। अधिकांश लोग ग्वालियर एवं मुरैना की प्रसिद्ध गजक ही पसंद करते है।
हर दुकान पर सजी गजक
पिछले कई वर्षों से शहरवासियों को बाहर की गजक कुछ अधिक ही भाने लगी है। वहीं इसके व्यापार को बढ़ता देख आम व्यापारी भी इसके व्यापार में रुचि लेने लग गए है। जिसके चलते अब शहर की किराना, जनरल स्टोर्स, होटल, मिल्क पार्लर सहित ठेलों पर कई तरह की गजक बिक रही है।
महकी नई सड़क
ठंड के मौसम में नईसड़क पर गत कई वर्षों से गजक की दुकान लग रही है। इस वर्ष भी यहां गजक की दुकान शुरू हो गई है। मुरैना के व्यापारी यहां प्रतिदिन ताजा गजक तैयार कर रहे है, जिसकी खुशबु से नईसड़क महक रही है।
दूध-जलेबी का भी लुत्फ
सर्दी की आहट से ही शहर की विभिन्न होटलों में दूध के कढ़ाव सजने लगे हैं। प्रतिदिन चौक बाजार बस स्टैंड पर लोग दूध जलेबी का लुत्फ उठाते देखे जा रहे हैं।

Gopal Bajpai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned