मां को देख बिलख उठे दोनों मासूम

नगर स्थित फ्रीगंज क्षेत्र के दो छोटे बच्चे घर से निकल कर शहर के दूसरे हिस्से में पहुंच गए। जो पुलिस के प्रयासों से माता-पिता तक पहुंच गए।

By: Lalit Saxena

Published: 07 Jun 2018, 09:00 AM IST

शुजालपुर. नगर स्थित फ्रीगंज क्षेत्र के दो छोटे बच्चे घर से निकल कर शहर के दूसरे हिस्से में पहुंच गए। जो पुलिस के प्रयासों से माता-पिता तक पहुंच गए।
मंगलवार दोपहर को तीन वर्षीय व पांच वर्षीय बालक लावारिस रो रहे थे। सूचना लोगों ने पुलिस तक पहुंचाई। दोनों बच्चे अपना व माता-पिता का नाम नहीं बता पा रहे थे। टीआई शुजालपुर दिनेश प्रजापति ने आरक्षक विपिन, भूपेंद्र व महिला आरक्षक भूरी को बच्चों के परिजन तक पहुंचने के निर्देश दिए। इस पर इन तीनों से बच्चों को वाहन में बैठाकर शहर में मुनादी की। साथ ही सोशल मीडिया पर भी फोटो वायरल की। उधर बच्चों की मां लक्ष्मीबाई पति राजू मीणा निवासी फ्रीगंज शुजालपुर सुबह 10 बजे से ही इन बच्चों को खोज रही थी। इसे लोगों ने पुलिस द्वारा की जा रही मुनादी की जानकारी दी तो लक्ष्मी इस वाहन को खोजते हुए पुलिस तक पहुंची। मां को देख दोनों बच्चे बिलख उठे और मां भी आंसू नहीं रोक सकी। लोगों ने पुलिसकर्मियों के प्रयासों की सरहाना की।
टीम पहुंची मंडी, दस्तावेज जांचे
शुजालपुर. भावांतर योजना तहत प्याज व लहसुन की फर्जी खरीदी-बिक्री करने के जिस मामले का खुलासा सबसे पहले पत्रिका ने किया था। मामले की गूंज अब प्रदेश मुख्यालय तक पहुंच चुकी है। हालांकि मामले में स्थानीय प्रशासन काफी देर से चेता। कलेक्टर शाजापुर के निर्देशानुसार इस फर्जीवाड़े की जांच के लिए गठित टीम के सदस्य बुधवार को मंडी कार्यालय पहुंचे और मामले में अब तक हुई कार्रवाई जानकारी एकत्रित करते हुए मंडी प्रशासन द्वारा की गई जांच का प्रतिवेदन भी प्राप्त किया। दल में खाद्य विभाग, उद्यानिकी व राजस्व विभाग के अधिकारी शामिल थे। भावांतर योजना की राशि गलत ढंग से लेने के उद्देश्य से बड़ी मात्रा में मंडियों में पंजीकृत किसानों के नाम से उपज बेचने के दस्तावेज तैयार हुए हैं। पत्रिका ने मामले का खुलासा एक ही दिन में बताई गई खरीदी की मात्रा पर पड़ताल के बाद किया था। साथ ही मंडी अध्यक्ष कैलाश सोनी ने दस्तावेज भी जब्त कर लिए थे।
मंडी ने भेजा प्रतिवेदन-मंडी समिति शुजालपुर ने 1 जून को ही मामले में जांच टीम का गठन कर दिया था। प्रारंभिक जांच पूरी कर ली है। जांच में सब्जी मंडी प्रभारी सहित चार स्थायी कर्मचारी और 6 अस्थायी कर्मचारियों की संलिप्ता सामने आई है। साथ ही एक ही दिन में काफी मात्रा में खरीदी करने वाले व्यापारियों के बैंक स्टेटमेंट भी मंगाए जा रहे है।
मंडी ने अब तक हुई कार्रवाई से संबंधित प्रतिवेदन मंडी बोर्ड एमडी, संयुक्त संचालक मंडी, कलेक्टर शाजापुर को भेज दिया। सूत्रों के अनुसार करोड़ों रुपए के इस फर्जीवाड़े की खबर लगने के बाद मंडी बोर्ड एमजी फैजअहमद किदवाई ने प्रदेश स्तर से जांच दल का गठन कर दिया है। जो संभवता गुरुवार को शुजालपुर पहुंचकर जांच करेगा।
&मंडी की टीम द्वारा जो जांच की गई है उससे संबंधित प्रतिवेदन प्राप्त किया है। अन्य दस्तावेज भी खंगाले जा रहे हैं। गड़बड़ी करने वाले कर्मचारियों को चिह्नित कर लिया है। जांच रिपोर्ट उपरांत वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में कार्रवाई होगी।
अवनीश मिश्रा तहसीलदार शुजालपुर

Show More
Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned