भ्रामक मैसेज फारवर्ड करने वालों की बढ़ेंगी मुसीबत

सोशल मीडिया पर भ्रामक मैसेज फैलाने वालों को एसपी ने जारी की चेतावनी, आपत्तिजनक पोस्ट की तो होगी कार्रवाई

By: Piyush bhawsar

Published: 03 Jan 2020, 12:55 PM IST

शाजापुर.

सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करना लोगों को भारी पड़ सकता है। क्योंकि पुलिस द्वारा सोशल मीडिया की निगरानी की जा रही है। वाट्सएप ग्रुप सहित फेसबुक पर भी पुलिस की लगातार चौकसी बनी हुई है। ऐसे में गत दिनों वायरल हुए एक मैसेज को लेकर पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया है। मामले में एसपी ने चेतावनी जारी करते हुए भ्रामक मैसेज फैलाने वालों पर कार्रवाई की बात कही है।

देश में सीएए लागू होने के बाद से ही विभिन्न प्रांतों में प्रदर्शन और हिंसा के मामले लगभग हर दिन सामने आए हैं। ऐसे में शहर में किसी प्रकार की स्थिति न बने इसके लिए जिला प्रशासन ने पूरे जिले में धारा 144 के तहत आदेश जारी किए हुए हैं। इसके अंतर्गत कोई भी व्यक्ति सार्वजनिक स्थान पर धरना प्रदर्शन या जुलूस जलसे का आयोजन नहीं कर सकता। इसके लिए संबंधित को जिला प्रशासन की अनुमति लेना होगी, लेकिन पिछले कुछ दिनों से वाट्सएप ग्रुप पर एक मैसेज वायरल हो रहा है। ये मैसेज किसने बनाया इसकी जानकारी तो किसी को नहीं है, लेकिन इस मैसेज को वायरल करने वालों की अब मुश्किलें बढ़ सकती है। क्योंकि इस मैसेज को लेकर एसपी पंकज श्रीवास्तव ने चेतावनी जारी की है।

ये मैसेज हो रहा वायरल
दरअसल पिछले कुछ दिनों से वाट्सएप ग्रुपों पर एक मैसेज वायरल हो रहा है। जिसमें बताया जा रहा है कि ‘खबर यह भी...जिला शाजापुर नागरिक मंच द्वारा जिला स्तर पर नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएए) के समर्थन में एक विशाल जनसभा एवं समर्थन रैली शाजापुर जिला मुख्यालय पर निकाली जाएगी। 8 जनवरी को हजारों लोग सीएए के समर्थन में उतरेंगे शाजापुर की सडक़ों पर जिलेभर से हाथों में तिरंगा लेकर जिला मुख्यालय पहुंचेंगे लोग’ उक्त मैसेज के वायरल होते ही पुलिस अलर्ट हो गई है। वर्तमान में पुलिस मैसेज को वायरल करने वालों की पड़ताल कर रही है। इसके साथ ही मैसेज तैयार करने वालों को भी तलाश रही है।

अनुमति हो तो प्रस्तुत करें, अन्यथा होगी कार्रवाई
एसपी श्रीवास्तव ने बताया कि 8 जनवरी को लेकर जो मैसेज वायरल किया जा रहा है। उस मैसेज को फारवर्ड करने वालों से पूछताछ की जाएगी। इसमें मैसेज फारवर्ड करने वालों से उक्त आयोजन की अनुमति के बारे में जानकारी ली जाएगी। यदि अनुमति हो तो वे उसे प्रस्तुत करें। क्योंकि जिले में धारा 144 लागू है। ऐसे में बगैर अनुमति के कोई आयोजन नहीं किया जा सकता। एसपी ने कहा कि यदि संबंधितों के पास अनुमति नहीं है तो भ्रामक मैसेज फारवर्ड करने के मामले में धारा 144 का उल्लंघन मानते हुए धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी। एसपी ने सभी से कहा कि किसी भी तरह के आपत्तिजनक पोस्ट को वायरल नहीं करें। अन्यथा कार्रवाई की जाएगी।

Show More
Piyush bhawsar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned