स्कूल से जाने लगे टीचर तो फूट-फूटकर रोए बच्चे, गांव से आए लोग भी आंसूओं पर नहीं रख पाए काबू

स्कूल से जाने लगे टीचर तो फूट-फूटकर रोए बच्चे, गांव से आए लोग भी आंसूओं पर नहीं रख पाए काबू

Muneshwar Kumar | Updated: 23 Aug 2019, 05:11:48 PM (IST) Shajapur, Shajapur, Madhya Pradesh, India

मध्यप्रदेश में फिर एक बार शिक्षक के तबादले पर बच्चों के साथ गांव के लोग भी फूट-फूटकर रोने लगे

शाजापुर. जब कोई अपना दूर होता है तो आंखों से आंसू झलक जाते हैं, ऐसा ही लगाव एक शिक्षक से बच्चों को हो गया है, जो शिक्षक के जाने की खबर से आंसू नहीं रोक पाए। शाजापुर जिले के एक हाई स्कूल में माहौल उस समय बेहद भावुक हो गया जब एक कार्यक्रम में बच्चों को पता चला कि उनके टीचर का विदाई समारोह है, उनका तबादला हो गया।

 

अपने पसंदीदा टीचर के तबादले से बच्चे भावुक हो गए और बिलख-बिलखकर रोने लगे। इस दौरान बच्चों को दिलासा देने वाले शिक्षक और स्टॉफ भी रोने लगा। मौजूद ग्रामीणों ने भी शिक्षक को भावुक होकर विदाई दी। दरअसल, शाजापुर जिले की मोहन बड़ोदिया तहसील स्थित गोदना गांव के हाई स्कूल में अंग्रेजी के अध्यापक दिनेश गौतम का चंबल संभाग के श्योपुरकलां के स्कूल में ट्रांसफर हो गया।

 

विदाई समारोह का आयोजन
स्कूल में गुरुवार को उनका विदाई समारोह का आयोजन रखा गया। इस दौरान वहां छात्र-छात्राओं से मिले तो सभी फफक पड़े। अपने पसंदीदा शिक्षक के तबादला होने पर बच्चों को यूं लगा कि उनका सबसे प्यारा अभिभावक अब उनसे हमेशा के लिए दूर जा रहा है। इसके बाद तो सभी मासूम अपने अध्यापक से लिपट गए और फूट-फूटकर रोने लगे।

05.png

 

संबोधन में शिक्षक भी रो दिए
वहीं, मंच पर बैठ छात्रों को संबोधित कर रहे शिक्षक के बगल में बैठे उनके साथी भी फफक कर रो रहे थे। दिनेश गौतम भी सभी को रोते देख अपने आंसूओं पर काबू नहीं रख पाए। यही नहीं बच्चों को रोते देख पूरा स्टॉफ ही शिक्षक की विदाई में रोने लगा। शिक्षक से लिपटकर विद्यार्थी कहने लगे कि सर आप हमें छोड़कर मत जाओ।

06.png

 

बहुत अच्छा पढ़ाते थे सर
स्कूल के बच्चों ने कहा कि गौतम सर हमें बहुत अच्छा पढ़ाते थे, पढ़ाई के साथ-साथ वह खेलकूद गतिविधियों में भी हमारा साथ देते थे। साथ ही हमें अपने विषय के अलावा अन्य विषयों की जानकारी भी देते थे। वहीं, ग्रामीणों का कहना है कि गौतम सर स्कूल के छात्र-छात्राओं को बेहतर तरीके से पढ़ाई करा रहे थे। उन्होंने गांव में रहने वाले कई बच्चों को इस योग्य बना दिया था। शिक्षक दिनेश गौतम ने छह सालों तक यहां बच्चों को पढ़ाया।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned