scriptWaiting for air facility in Shajapur, the airstrip was not built even | हवाई सुविधा का दावा हुआ 'हवा' , जमीन मिलने के बाद भी नहीं बनी हवाई पट्टी | Patrika News

हवाई सुविधा का दावा हुआ 'हवा' , जमीन मिलने के बाद भी नहीं बनी हवाई पट्टी

शाजापुर में एयर स्ट्रीप विस्तार पर अब तक नहीं दिया जा रहा ध्यान

शाजापुर

Published: December 24, 2021 08:37:15 pm

शाजापुर. पूरे देश में जहां तेजी से हवाई मार्गों को जोड़ा जा रहा है। वहीं मध्यप्रदेश के केंद्रीय कैबिनेट मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्यप्रदेश में भी जगह-जगह आधुनिक सुविधाएं बढ़ाकर एयरपोर्ट एवं हवाई पट्टी विकसित कर रहे हैं, लेकिन शाजापुर जिले में हवाई जहाज कब उतरेगा, यह किसी को पता नहीं है। करीब 8 साल पहले तत्कालीन कलेक्टर ने राज्य सरकार के आदेश पर जिले में हवाई पट्टी बनाने के लिए जगह का चयन किया था। प्रस्तावित भूमि पर हवाई पट्टी बनाने के लिए फाइल भी चलाई गई, लेकिन बाद में ये फाइल कहां अटक गई इसकी जानकारी भी किसी को नहीं है।

सिंधिया के विमान मंत्री बनने के बाद शाजापुर जिले को ये सौगात मिलने की आस फिर बंधी है। उल्लेखनीय है कि करीब 8 साल पहले राज्य सरकार ने प्रदेश के लगभग सभी जिलों में हवाई पट्टी बनाने के लिए भूमि का चयन करने के आदेश जारी किए थे। इस आदेश के बाद तत्कालीन कलेक्टर प्रमोद गुप्ता ने जिले भर में भूमि की जानकारी जुटाई और कई जमीनों को देखा भी था। कई स्थानों को देखने के बाद हवाई पट्टी के लिए जिला मुख्यालय से करीब 5 किमी दूर ग्राम कांजा में भूमि का चयन किया गया था। इस चयनित भूमि का पूरा प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को भेजा, लेकिन इसके बाद आगे क्या कार्रवाई हुई इसकी जानकारी शासन प्रशासन के पास नहीं है।

patrika_mp_2.png

बड़े शहरों में शुमार हो सकता शाजापुर
जिस समय राज्य शासन ने हवाई पट्टी के लिए भूमि चयन करने के आदेश दिए थे उसके बाद जगह का भी चयन हो गया, लेकिन वर्तमान में इसकी फाइल का ही किसी को अता-पता नहीं है। यदि शाजापुर को हवाई पट्टी की सौगात मिल जाती तो शाजापुर जिले का नाम भी बड़े शहरों में शुमार हो सकता था। यहां पर व्यापार-व्यावसाय की भी संभावना बढ़ जाती। बड़े शहरों में हवाई मार्ग से अधिकांशत: सामग्री का आदान-प्रदान होता है। ऐसे में हवाई पट्टी वाले शहर में भी विकास की संभावनाएं बढ़ जाती।

प्रशासन ने नहीं दिया ध्यान
तत्कालीन कलेक्टर प्रमोद गुप्ता ने हवाई पट्टी के लिए प्रस्ताव को आगे बढ़ाया था, लेकिन इनके तबादले के बाद यह मामला ठंडे बस्ते में चला गया। करीब आधा दर्जन कलेक्टर आने के बाद भी किसी ने भी इस सौगात पर ध्यान नहीं दिया। न ही किसी अधिकारी द्वारा इस संबंध में कोई सार्थक प्रयास किए गए। मजेदार बात ये है कि कई पूर्व कलेक्टरों को तो इस मामले की जानकारी भी नहीं है।

कलेक्टर-शाजापुर दिनेश जैन ने कहा कि हवाई पट्टी के प्रस्ताव का यह मामला आपके द्वारा संज्ञान में लाया गया है। यदि प्रदेश सरकार से ऐसा कोई प्लान आया था और उस पर कार्य किया गया है, तो यह फाइल कहां अटक गई, मैं अधिकारियों से मामले की जानकारी जुटाता हूं। हमारे जिले को मिलने वाली सौगात पर सार्थक प्रयास किए जाएंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकाCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतSchool Holidays in January 2022: साल के पहले महीने में इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालVideo: राजस्थान में 28 जनवरी तक शीतलहर का पहरा, तीखे होंगे सर्दी के तेवर, गिरेगा तापमानJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 24 January 2022: कुंभ राशि वालों की व्यापारिक उन्नति होगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.