आखिर बंद के दौरान क्यों दिखी कांग्रेस में गुटबाजी

आखिर बंद के दौरान क्यों दिखी कांग्रेस में गुटबाजी

Lalit Saxena | Publish: Sep, 11 2018 08:00:00 AM (IST) Shajapur, Madhya Pradesh, India

पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों के विरोध में सोमवार को कांग्रेस ने भारत बंद का आह्वान किया था। शहर में ये बंद असरदार दिखाई दिया।

शाजापुर. पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों के विरोध में सोमवार को कांग्रेस ने भारत बंद का आह्वान किया था। शहर में ये बंद असरदार दिखाई दिया। दोपहर तक प्रतिष्ठान बंद रहे। हालांकि सुबह कुछ दुकानें खुली थी, जिन्हें मौके पर पहुंचकर कांग्रेसियों ने बंद करवा दिया। दोपहर तक सफल बंद के बाद शहर के प्रतिष्ठान खुल गए। कांग्रेसियों के इस बंद का शहरवासियों ने भी समर्थन किया।
अभा कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर भारत बंद को लेकर शाजापुर जिलाध्यक्ष रामवीरसिंह सिकरवार के नेतृत्व में बढ़ती महंगाई, पेट्रोल-डीजल में लगी हुई आग के विरोध, राफेल खरीदी में हुए हजारों करोड़ के घोटाले, खराब कानून व्यवस्था, महिलाओं पर बढ़ते दुराचार और भाजपा सरकार की नाकामियों को लेकर बंद का आह्वान किया गया था। सोमवार को बंद को शहरवासियों ने भी समर्थन देते हुए स्वेच्छा से प्रतिष्ठान बंद रखे। कांग्रेसी सुबह से ही दोपहिया वाहनों पर सवार होकर शहर में घूमने लगे। शहर में जगह-जगह पर कांग्रेसियों ने प्रदर्शन व जमकर नारेबाजी की। सुबह कुछ दुकानें खुली थी, जिन्हें कांग्रेसियों ने बंद करवा दिया। जगह-जगह पुलिस के पाइंट लगे रहे। साथ ही पुलिस मोबाइल वाहन सहित वज्र वाहन व अन्य अधिकारी भी शहर में लगातार भ्रमण करते रहे। दोपहर करीब 1 बजे के बाद बाजार पूरी तरह से खुल गया।
कॉन्वेंट स्कूल रहा बंद
बंद के चलते वैसे तो शहर के प्राइवेट और सरकारी स्कूलों पर प्रभाव दिखाई नहीं दिया। हाइवे स्थित एमजी कॉन्वेंट स्कूल प्रबंधन ने एक दिन पहले ही सभी विद्यार्थियों को स्कूल नहीं आने के संबंध में सूचना दे दी थी। स्कूल में विद्यार्थीतो नहीं थे, लेकिन स्कूल खुला रहने के चलते कांग्रेसी यहां पहुंचे और संस्था को बंद करने का आग्रह किया। इस पर संस्था प्रभारी ने स्कूल को बंद कर दिया। मंडी में भी आवक नहीं हुई।
कुछ बसों का संचालन नहीं हुआ
शहर के कुछ बस संचालकों ने बसों का संचालन नहीं किया। सेंगर ट्रेवल्स के संचालक महेंद्र सेंगर ने सोशल मीडिया पर मैसेज डालकर बंद के समर्थन में बसों का संचालन नहीं करने की बात कही थी। सोमवार को अलग-अलग रूटों की कई बसें भी बंद रहीं। दोपहर बाद स्थिति सामान्य हो गई।
कांग्रेस की गुटबाजी की रही जमकर चर्चा
बंद के आह्वान के बाद एक ओर तो जिलाध्यक्ष सिकरवार अन्य कांग्रेसियों के साथ मिलकर प्रदर्शन करते रहे, वहीं दूसरी ओर कांग्रेस का दूसरा गुट शहर अध्यक्ष बाबूखान खरखरे के नेतृत्व में कुछ कांगे्रसी शहर में दुकानें बंद कराते रहे। बंद को लेकर कांग्रेस की गुटबाजी की शहर में जमकर चर्चा रही। कांग्रेस के एक गुट के समर्थक शहर में वाहन से घूमने के बाद बस स्टैंड पर पहुंचे और फोटो खिंचवाने में लग गए।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned