महिला दरोगा से अभद्रता करना कोतवाल को पड़ा भारी, वीडियो हुआ वायरल तो लिया गया एक्शन

Highlights:

-महिला दरोगा ने तीन दिन पहले लगाए थे गंभीर आरोप

-सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने पर सुर्खियों में आया मामला

By: Rahul Chauhan

Published: 20 Nov 2020, 03:59 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

शामली। कैराना कोतवाली में तैनात एंटी रोमियो प्रभारी महिला दरोगा द्वारा कोतवाल पर शोषण करने के आरोप के मामले में एसपी ने दोनों को कैराना कोतवाली से हटा दिया। कैराना कोतवाल को पुलिस कार्यालय और महिला दरोगा को महिला थाने संबद्ध किया गया है। दरअसल, तीन दिन पहले मंगलवार को कैराना कोतवाली में तैनात एंटी रोमियो प्रभारी दरोगा अंजू ने कोतवाली प्रभारी निरीक्षक प्रेमवीर राणा पर अनावश्यक दबाव बनाकर शोषण करने का आरोप लगाते हुए डीआईजी सहारनपुर उपेंद्र कुमार अग्रवाल से शिकायत की थी।

यह भी पढ़ें: गजब! 10वीं की छात्रा ने संभाली थाना प्रभारी की कुर्सी, लोगों की समस्याओं का किया समाधान

महिला दरोगा का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने से पुलिस महकमे में खलबली मची है। महिला दरोगा के समर्थन में कई संगठन सामने आने से मामला गरमाता जा रहा है। एसपी नित्यानंद राय ने बताया कि इस प्रकरण की जांच पूरी होने तक कोतवाली प्रभारी प्रेमवीर राणा को पुलिस कार्यालय संबद्ध किया गया है, जबकि महिला दरोगा अंजू को महिला थाना संबद्ध किया गया है। इस दौरान कैराना कोतवाली का कार्यभार वहां तैनात इंस्पेक्टर अपराध रूप किशोर को सौंपा गया है।

यह भी पढ़ें: हाईकोर्ट में सपा सांसद आजम खान के खिलाफ दो मामलों में सुनवाई पूरी, जल्द आ सकता है फैसला

वहीं डीएम जसजीत कौर और एसपी नित्यानंद राय ने बृहस्पतिवार को महिला दरोगा अंजू को बुलाकर कैराना कोतवाल प्रेमवीर राणा के खिलाफ लगाए गए आरोपों के संबंध में विस्तृत रूप से उनकी समस्याओं को सुना। महिला दरोगा का पक्ष सुनने के बाद इस प्रकरण की जांच के लिए दोनों एएसपी राजेश कुमार श्रीवास्तव को नामित किया है। इस मामले में डीएम ने बताया कि इस प्रकरण की जांच एएसपी को सौंपी गई है। जांच रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। उधर, इस प्रकरण में महिला दरोगा द्वारा एसपी को दिए गए शिकायती पत्र की जांच सीओ कैराना जितेंद्र कुमार द्वारा पहले से की जा रही है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned