भाकियू ने बैंक के गेट पर जड़ा ताला, शाखा प्रबंधक समेत 2 पर एफआईआर दर्ज

भाकियू ने बैंक के गेट पर जड़ा ताला, शाखा प्रबंधक समेत 2 पर एफआईआर दर्ज

Virendra Kumar Sharma | Publish: Aug, 14 2019 03:22:22 PM (IST) | Updated: Aug, 14 2019 03:23:09 PM (IST) Shamli, Shamli, Uttar Pradesh, India

खबर की खास बातें:—

1. भाकियू ने बैंक पर ताला लगाकर बैंककर्मियों को बनाया बंधक
2. कोतवाली पुलिस और सीओ सिटी पहुंचे मौके पर
3. बैंक अधिकारियों पर 12.49 लाख की धोखाधड़ी का आरोप

 

शामली. कैराना के बुच्चाखेड़ी गांव के बुजुर्ग किसान की जमीन पर फर्जी तरीके से साढ़े 12 लाख 49 हजार रुपये लोन के मामले में मंगलवार को भाकियू कार्यकर्ताओं ने बुढ़ाना रोड स्थित भारतीय स्टेट बैंक शाखा (SBI) पर धरना दिया। कार्यकर्ताओं ने बैंक में मौजूद उपभोक्ताओं को बहार निकाल दिया और ताला जड़ दिया। सूचना पर पहुंचे पुलिस के सीनियर अफसरों ने भाकियू नेताओं को समझा बुझाकर शांत कराया। पुलिस ने शाखा प्रबंधक व फील्ड अफसर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

जिलाध्यक्ष कपिल खाटियान के नेतृत्व में भारी संख्या में भाकियू कार्यकर्ता बुढ़ाना रोड स्थित एसबीआई पहुंचे और प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। हालांकि ग्राहकों को कार्यकर्ताओं ने बाहर निकाल दिया। उसके बाद कार्यकर्ताओं ने बैंक के गेट पर ताला जड़ दिया। उस दौरान बैंक के शाखा प्रबंधक व अन्य स्टाफ को अंदर ही बंद कर दिया। उसके बाद कार्यकर्ताओं ने बैंक के बाहर सड़क पर धरना देना शुरू कर दिया।

जिलाध्यक्ष कपिल खाटियान ने बताया कि 85 वर्षीय बुजुर्ग किसान रामसिंह ने 1 जुलाई अपनी कृषि भूमि की खतौनी निकलवाई तो उनकी जमीन पर 12 लाख 49 हजार रुपये का लोन होने की जानकारी मिली। उन्होंने बताया कि किसान ने बैंक से कोई लोन नहीं लिया था। भाकियू कार्यकर्ताओं ने स्टेट बैंक के शाखा प्रबंधक व फील्ड अफसर पर षडयंत्र के तहत कूटरचित दस्तावेज के आधार पर उसकी भूमि पर फर्जी लोन स्वीकृत करने का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया। भाकियू कार्यकर्ताओं ने मांग की है कि शाखा प्रबंधक और फील्ड ऑफिसर की गिरफ्तार कर लोन निरस्त किया जाए। कोतवाली पुलिस ने बैंक प्रबंधक और फील्ड ऑफिसर के खिलाफ मुकदमा कर लिया है। इस मौके पर कुलदीप पंवार, प्रदेश उपाध्यक्ष मैनपाल चौहान, रमेश प्रधान, राजेश, पप्पू मालैंडी, संजीव राठी सहित बडी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned