ईद से पहले UP के इस बिजनेसमैन ने दिखाया बड़ा दिल, गरीबों को बांट दिया रेडीमेड गारमेंट्स व जूतों के शोरूम का पूरा स्टॉक

highlights

- शामली के व्यापारियों ने ईद से पहले गरीबों को बांटे जूते और कपड़े

- लॉकडाउन में ईद पर नए कपड़े और जूते पाकर लोग बहुत खुश नजर आए

- डीएम ने कहा- लॉकडाउन के दौरान व्यापारी ने बड़ा ही नेक कार्य किया

By: lokesh verma

Published: 24 May 2020, 10:50 AM IST

शामली. यूपी के शामली (Shamli) में जूते और रेडीमेड गार्मेंट्स शोरूम संचालक ने ईद (Eid) से पहले मुस्लिम भाइयों को ईदी की रूप में अपने शोरूम का पूरा स्टॉक बांटकर दरियादिली की मिसाल पेश की है। शोरूम संचालक इंतजार उर्फ शब्बू ने जिलाधिकारी जसजीत कौर के जरिये गरीबों का सामान का विरतरण कराया है। लॉकडाउन (Lockdown) में ईद पर नए कपड़े और जूते पाकर लोग बहुत खुश नजर आए। उन्होंने इसके लिए खुले दिल से शोरूम संचालक की तारीफ की।

यह भी पढ़ें- Lockdown 4.0: ईद को देखते हुए जरूरतमंदों को बांटी गई दूध और सेवइयां, हर कोई कर रहा तारीफ

बता दें कि शामली में तहसील के सामने गोल्डी प्लाजा नामक रेडिमेड गार्मेंट्स और जूतों का शोरूम है। शोरूम के मालिक इंतजार उर्फ शब्बू ने बताया कि कोरोना की वजह से देशभर में लागू लॉकडाउन के चलते लोगों का काम धंधा पूरी तरह चौपट हो गया है। इससे सबसे ज्यादा मजदूर वर्ग परेशान है। उनके सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है और दो जून की रोटी के लिए भी उनके पास पैसे नहीं हैं। ऐसे में ये लोग ईद कैसे मनाएंगे। इसी को लेकर उनके घर में चर्चा चल रही थी। इस पर इंतजार की मां रहीसा ने कहा कि बेटे अल्लाह ने हमें सब कुछ दिया है। लेकिन, ईद मनाने के लिए मजदूरों के पास तो नए कपड़े खरीदने तक के पैसे नहीं हैं। इसलिए वह इस बार ईद पर अपने शोरूम का पूरा सामान गरीब लोगों में दान कर दे, ताकि वे लोग ईद मना सकें।

मां की प्रेरणा से इंतजार ने जिलाधिकारी जसजीत कौर से बात की और उसके बाद डीएम के माध्यम से ही अपने शोरूम के पूरे सामान को एक-एक कर गरीब लोगों में बांट दिया। इस दौरान नए कपड़े और जूते पाकर लोगों के मायूस चेहरों की रौनक देखते ही बन रही थी। इसके लिए उन्होंने इंतजार की जमकर तारीफ करते हुए खूब आशीर्वाद भी दिया। इस मौके पर डीएम ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान इंतजार ने बड़ा ही नेक कार्य किया है। अब गरीब लोग भी ईद मना सकेंगे। बता दें कि इससे पहले इंतजार हजारों गरीब लोगों को राशन की किट भी बांट चुके हैं।

यह भी पढ़ें- चिकित्सक ने प्रसव कराने से किया इनकार तो दूसरे अस्पताल में जुड़वां बच्चों को दिया जन्म, नाम रखे क्वारेंटीन और सैनिटाइजर

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned