दस हजार लेकर मरीज काे लगा दिया ऑक्सीजन का खाली सिलेंडर हो गई माैत

शामली की इस घटना ने कोविड अस्पताल covid hospital में इंतजामों की पोल खोल दी है। ऑक्सीजन oxygen cylinder खत्म होने पर स्टाफ ने परिजनों से दस हजार रुपये ले लिए और खाली ऑक्सीजन oxygen सिलेंडर मरीज को लगा दिया जिससे मरीज की मौत हो गई।

By: shivmani tyagi

Updated: 07 May 2021, 02:33 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

शामली. कोविड के एल-2 हॉस्पिटल covid hospita में दस हजार रुपये लेकर मरीज को खाली ऑक्सीजन सिलेंडर लगा दिए जाने और स्वास्थ्यकर्मी की इस लापरवाही से मरीज की मौत हो जाने की घटना सामने आई है। इस घटना से गुस्साये मृतक के परिजनों ने हॉस्पिटल में हंगामा कर दिया। बाद में मामला खुलने पर पुलिस shamli police ने आरोपी स्वास्थ्यकर्मी को रिश्वत लेने और लापरवाही बरतने के आरोपों में गिरफ्तार तो कर लिया लेकिन गिरफ्तार स्वास्थ्यकर्मी की पहचान काे सार्वजनिक नहीं किया।

यह भी पढ़ें: यूपी में पिछड़ों के नेताओं पर ओम प्रकाश राजभर का निशाना, सिर्फ वोट दिलाने के लिए बने हैं नेता

थानाभवन क्षेत्र के गांव हरड़ फतेहपुर के रहने वाले सत्यवान को उसके परिजनों ने जिला अस्पताल स्थित कोविड एल-2 हॉस्पिटल में भर्ती कराया था। अस्पताल में उसे भर्ती करके ऑक्सीजन लगा दी गई। परिजनों के अनुसार बीती रात उसका ऑक्सीजन सिलेंडर खत्म होने को हुआ तो तीमारदारों ने हॉस्पिटल स्टाफ कर्मी को सिलेंडर बदलने के लिए कहा लेकिन स्टाफ ने सिलेंडर न होने की बात कहते हुए बाहर से सिलेंडर का इंतजाम करके लाने की बात कही। तीमारदारों ने हॉस्पिटल से ही सिलेंडर के लिए कहा तो स्टाफ कर्मी ने उनसे पचास हजार रुपये की मांगे। उन्होंने इतनी मोटी रकम देने में असमर्थता जताते हुए केवल दस हजार रुपये ही दे पाने की बात कही। इस तरह स्टाफ कर्मी ने उनसे दस हजार रुपये ले लिए और दूसरा खाली सिलेंडर मरीज को लगा दिया। इस लापरवाही से थोड़ी ही देर बाद कोरोना मरीज की मौत हो गई।

यह भी पढ़ें: IPL खिलाड़ी ये खिलाड़ी अभी भी होटल में क्वारंटीन, परिजन देख रहे राह

जब परिजनों के पता चला कि उन्हे दस हजार रुपये में खाली सिलेंडर दिया गया था और ऑक्सीजन की कमी से उनके मरीज की मौत हुई है तो परिजनों का गुस्सा फूट पड़ा। गुस्साए परिजनों ने हंगामा कर दिया। दरअसल डॉक्टर ने परिजनों ने को बताया कि ऑक्सीजन की कमी से उनके मरीज की मौत हुई है। इस पर परिजनों ने जब सिलेंडर चेक कराया तो पता चला कि वह खाली है। इस लापरवाही पर मरीज के परिजन आपा खो बौठे और उन्होंने आरोपी स्वास्थ्यकर्मी को दौड़ा लिया। उस सममय तो वह भाग निकला लेकिन कुछ समय बाद एक बार फिर यह यही स्वास्थ्यकर्मी परिजनों को अस्पताल के बाहर शराब पीता हुआ मिल गया।

यह भी पढ़ें: पंचायत चुनाव के बाद हिंसा पर मायावती चिंतित कहा, सख्त कार्रवाई करे योगी सरकार

इस पर परिजनों ने उसे दौड़ा लिया। सूचना मिलने पर थाना आदर्श मंडी पुलिस मौके पर पहुंची और मृतक के आक्रोशित परिजनों को शांत किया। उधर पुलिस अधीक्षक सुकीर्ति माधव ने बताया कि कोरोना संक्रमित सत्यवान को कोविड एल-2 हास्पिटल में उपचार के लिए भर्ती किया गया था। प्राखमिक पूछताछ में यह बात सामने आई है कि हास्पिटल कर्मी संजय कुमार ने अवैध तरीके से दस हजार रुपये लिये और सत्यवान को ऑक्सीजन सिलेंडर दे दिया जिसके कुछ समय बाद मरीज की मृत्यु हो गई। इस सम्बन्ध में मृतक की पत्नी ममतेश निवासी हरड़ फतेहपुर द्वारा हास्पिटल के खिलाफ कार्यवाही किए जाने की तहरीर दी गई है। माला दर्ज कर आरोपी पुलिसकर्मी काे गिरगफ्तार कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें: बीएचयू अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक ने दिया इस्तीफा, कोरोना मरीजों की शिकायतें बनी बड़ा कारण

यह भी पढ़ें: अब पल-पल की मिलेगी लोकेशन सभी ऑक्सीजन टैंकर होंगे जीपीएस से लैस, कालाबाजारी पर भी लगेगी लगाम

यह भी पढ़ें: सुरेश रैना ने समय पर ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए साेनू सूद समेत सभी लोगों को बोला- थैंक्यू

COVID-19 virus Corona virus
Show More
shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned