कोरोना से माैत के बाद परिजनाें ने किया अंतिम संस्कार, जिलाधिकारी ने बैठाई जांच

शामली में covid-19 काे लेकर बड़ी लापरवाही सामने आई है। Corona virus से माैत हाेने के बाद अस्पताल प्रशासन ने शव परिजनों काे साैंप दिया और परिजनों ने भी अंतिम संस्कार के दाैरान काेई सावधानी नहीं बरती।

By: shivmani tyagi

Updated: 01 Jul 2020, 01:32 PM IST

शामली (Shamli news ) मेरठ मेडिकल कॉलेज के काेविड वार्ड में भर्ती शामली के दो युवकों की उपचार के दौरान मौत हो गई थी। अस्पताल से शव परिजनाें काे दे दिया गया और परिजनाें ने भी काेविड के मानकों काे ताक पर रखकर शव का अंतिम संस्कारकर दिया। जब इस लापरवाही का पता चला ताे हड़कंप मच गया। शामली जिलाधिकारी ने अब पूरे मामले में जांच बैठा दी है।

यह भी पढ़ें: UP के सबसे Hitech शहर को हरा-भरा बनाने का काम शुरू, पार्कों को बनाया जाएगा और भी सुंदर

मरने वाले दाेनाेंं ही युवक शामली के ही रहने वाले थे। 28 जून को मेरठ मेडिकल कॉलेज लाए जाने से पहले कई दिनों तक दिल्ली में एक अस्पताल में भर्ती रहे थे। जब प्रशासन को जानकारी मिली है कि, एक शव का अंतिम संस्कार काेविड-प्रोटोकॉल का पालन किए बगैर ही कर दिया गया।

यह भी पढ़ें: COVID-19 virus जनपहल में भाग लीजिए और 10 हजार का पुरस्कार जीतिए

इस पर डीएम जसजीत कौर ने बताया कि उनके संज्ञान में ये मामला आया है मामला गंभी है। इसलिए एसडीएम सदर को मामले की जांच दी गई है। उनसे कहा गया है कि अंतिम संस्कार के संबंध में पूरी जानकारी जुटाई जाए। अंतिम संस्कार में कौन-कौन लोग शामिल हुए हैं उनका भी पता लगाए जाया। अब इस युवक के अंतिम संस्कार में शामिल हुए सभी लाेगाें के नमूने लिए जाएंगे।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned