बदनामी के डर से छात्रा ने खुद लगाई आग, पुलिस ने दरवाजा तोड़कर कमरे से निकाला, हालत नाजुक

Highlights
- शामली जिले के थाना आदर्श मंडी क्षेत्र की रेलपार कालोनी का मामला
- परिजनों को आरोप, चाचा-चाची और बुआ ने गंदे पोस्टर लगाकर बदनाम करने की दी थी धमकी
- छात्रा नाजुक हालत में शामली जिला अस्पताल में भर्ती

शामली. जिले में एक छात्रा को बदनामी के डर से खुद को आग लगाकर आत्मदाह का प्रयास किया है। परिजनों ने पुलिस की मदद से युवती को गंभीर अवस्था में शामली सीएचसी में भर्ती कराया। जहां चिकित्सकों ने छात्रा की हालत को नाजुक बताते हुए हायर सेंटर में रेफर कर दिया है। छात्रा के परिजनों को आरोप है कि चाचा-चाची और बुआ ने उसके गंदे पोस्टर लगाकर उसे बदनाम करने की धमकी दी थी। परिजनों की तहरीर पर पुलिस केस दर्ज करते हुए कार्रवाई में जुटी है।

यह भी पढ़ें- प्रेम संबंधों में बाधक बन रही थी पत्नी, पति ने कोल्ड ड्रिंक में मिलाकर पिला दिया तेजाब

दरअसल, मामला थाना आदर्श मंडी क्षेत्र की रेल पार कालोनी का है। जहां कक्षा 11 में पढ़ने वाली एक छात्रा ने खुद पर केरोसिन का तेल डालकर खुद को आग लगा ली। बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले छात्रा के परिवार में संपत्ति को लेकर विवाद हुआ था। उस दौरान छात्रा का चाचा-चाची ओर बुआ के साथ झगड़ा हुआ था। छात्रा के पिता ने थाना आदर्श मंडी पुलिस को भी शिकायत की थी, लेकिन पुलिस ने उल्टा छात्रा के पिता को डरा-धमका कर उनका 151 में चालान कर दिया था। इसके बाद भी छात्रा के चाचा-चाची और बुआ परिवार में लगातार विवाद पैदा कर रहे थे।

आरोप है कि छात्रा को उसके चाचा व चाची बदनाम कर रहे थे। वहीं रविवार को जब छात्रा ट्यूशन पढ़ने कोचिंग सेंटर पर गई तो वहां उसके चाचा-चाची भी पहुंच गए और छात्रा को उसके गंदे पोस्टर लगाकर बदनाम करने की धमकी देने लगे। इससे परेशान छात्रा ने घर जाकर खुद को आग लगा ली। घटना की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने आग में झुलसी छात्रा को शामली सीएचसी में भर्ती कराया। जहां चिकित्सकों ने छात्रा की हालत को गंभीर बताते हुए हायर सेंटर रेफर कर दिया। जहां उसका इलाज चल रहा है।

इस मामले में मामले में पुलिस अधीक्षक विनीत जायसवाल का कहना है कि थाना आदर्श मंडी क्षेत्र में पुलिस को एक छात्रा द्वारा आग लगाने की सूचना मिली थी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर देखा की छात्रा कमरे में खुद को आग लगा रही थी। पुलिस ने दरवाजा तोड़कर उसे बाहर निकाला। जब तक छात्रा कुछ हद तक झुलस चुकी थी। इसके बाद पुलिस ने छात्रा को जिला हॉस्पिटल में भर्ती कराया है। इस घटना के पीछे पारिवारिक विवाद है। छात्रा के चाचा-चाची और बुआ बदनाम करने की कोशिश कर रहे थे। इससे छात्रा आहत थी। इस पूरे मामले में परिजनों की तहरीर के आधार पर आगे की वैधानिक कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें- पत्नी ने पति से कहा- दोनों बच्चों को संभाल लेना और हमेशा के लिए छोड़ गई

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned