scriptuptet paper leak case main accused nirdosh surrendered in shamli court | UPTET Paper Leak Case : मुख्य आरोपी ने एसटीएफ को चकमा देकर कोर्ट में किया सरेंडर | Patrika News

UPTET Paper Leak Case : मुख्य आरोपी ने एसटीएफ को चकमा देकर कोर्ट में किया सरेंडर

UPTET Paper Leak Case में मुख्य आरोपी निर्दोष चौधरी ने एसटीएफ को चकमा देकर शामली जिले के कैराना कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। बता दें कि यूपीटीईटी का पेपर लीक होते ही मेरठ एसटीएफ के साथ ही शामली पुलिस निर्दोष चौधरी की तलाश में लगी हुई थी। लेकिन, मुख्य आरोपी निर्दोष चौधरी एसटीएफ और यूपी पुलिस से भी शातिर निकला।

शामली

Published: December 14, 2021 10:59:01 am

शामली. यूपीटीईटी पेपर लीक प्रकरण (UPTET Paper Leak Case) में मुख्य आरोपी निर्दोष चौधरी ने एसटीएफ को चकमा देकर शामली जिले के कैराना कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। बता दें कि यूपीटीईटी का पेपर लीक होते ही मेरठ एसटीएफ के साथ ही शामली पुलिस निर्दोष चौधरी की तलाश में लगी हुई थी। लेकिन, मुख्य आरोपी निर्दोष चौधरी एसटीएफ और यूपी पुलिस से भी शातिर निकला। उसने एसटीएफ और पुलिस को चकमा देते हुए कैराना कोर्ट में पेश होकर सरेंडर कर दिया। बता दें कि मुख्य आरोपी निर्दोष चौधरी ने ही पांच लाख रुपए में कांधला निवासी विकास को टीईटी का पेपर दिया था, जिसके बाद से वह मेरठ एसटीएफ के साथ ही शामली पुलिस के रडार पर आया था। फिलहाल पुलिस विकास की तलाश में जुटी है।
638484-up-police.jpg
उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश में 28 नवंबर को यूपी टीईटी का पेपर लीक होने पर पेपर को रद्द कर दिया गया था। मेरठ एसटीएफ की टीम ने शामली कोतवाली क्षेत्र में दबिश देकर रवि पवार निवासी गांव नाला, मोनू निवासी झाल, धर्मेंद्र निवासी बुराड़ी को गिरफ्तार किया था। एसटीएफ ने इनके कब्जे से यूपीटीईटी के मूल प्रश्न पत्र समेत कई फोटो कॉपी और 17 हजार रुपए की नकदी के साथ ही कार बरामद करने का दावा किया था। जबकि उनका चौथा साथी अजय उर्फ बबलू निवासी गांव नाला फरार हो गया था, जो अभी तक पुलिस के हाथ नहीं आया है। इस मामले में मेरठ एसटीएफ इंस्पेक्टर की ओर से शहर कोतवाली में केस दर्ज कराया गया था। इसके साथ ही पुलिस फरार आरोपियों की तलाश में जुट गई थी, जिसके बाद मेरठ एसटीएफ की टीम ने एक अन्य आरोपी को अलीगढ़ से भी गिरफ्तार कर लिया था।
यह भी पढ़ें- जांच में खुलासा, तिकुनिया कांड हत्या एक सोची समझी साजिश, एसआईटी ने बढ़ाई आशीष मिश्रा के खिलाफ संगीन धाराएं

कई बड़े नाम भी उजागर हुए

एसटीएफ द्वारा टीईटी पेपर लीक करने के मामले में गिरफ्तार किए गए तीनों आरोपियों को 5 दिन के पुलिस कस्टडी रिमांड पर मेरठ एसटीएफ की टीम ने लिया था, जिसके बाद मेरठ एसटीएफ की टीम इन्हें दिल्ली, मेरठ, मथुरा, आगरा के साथ कई इलाकों में लेकर के अपने साथ गई थी। जहां पर पुलिस ने दबिश दी थी और इन तीनों आरोपियों ने कई बड़े नाम उजागर किए थे। जिनमें से निर्दोष चौधरी का नाम भी सामने आया था। निर्दोष इस पूरे प्रकरण का मुख्य आरोपी बताया जा रहा है, क्योंकि निर्दोष ने ही कांधला निवासी विकास को टीईटी का पेपर पांच लाख रुपये में बेचा था, जिसके बाद वह पेपर 50-50 हजार रुपये में अन्य अभ्यर्थियों को दिया जाना था।
23 दिसंबर को होगी मामले की सुनवाई

यूपीटीईटी पेपर लीक मामले में मुख्य आरोपी ने मेरठ एसटीएफ के साथ ही शामली की स्थानीय पुलिस को चकमा देकर सोमवार को कैराना न्यायिक मजिस्ट्रेट अलका यादव की कोर्ट में सरेंडर करने पहुंच गया। जहां से उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। अब इस प्रकरण में 23 दिसंबर को अगली सुनवाई होगी। बताया गया कि निर्दोष अलीगढ़ के गोंडा का निवासी है। उसने अपने अधिवक्ता अनिल निर्वाल के माध्यम से कैराना स्थित मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट कार्यालय में सरेंडर किया है। निर्दोष के सरेंडर से मेरठ एसटीएफ के साथ ही स्थानीय पुलिस पर सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं, क्योंकि जिस मुख्य आरोपी की तलाश में मेरठ एसटीएफ के साथ स्थानीय पुलिस की कई टीमें लगी हुई थी, वह इन सभी को चकमा देकर कोर्ट में पेश हो गया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीश्योक नदी में गिरा सेना का वाहन, 26 सैनिकों में से 7 की मौतआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानतRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चआजम खान को सुप्रीम कोर्ट से फिर बड़ी राहत, जौहर यूनिवर्सिटी पर नहीं चलेगा बुलडोजरMumbai Drugs Case: क्रूज ड्रग्स केस में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को NCB से क्लीन चिट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.