script150 vehicles are carrying illegal sand every day, yet the department c | 150 वाहन हर दिन ढो रहे अवैध रेत, फिर भी विभाग ने दो साल में पकड़े महज 110 | Patrika News

150 वाहन हर दिन ढो रहे अवैध रेत, फिर भी विभाग ने दो साल में पकड़े महज 110

- आदेश हैं अवैध परिवहन उत्खनन पर एक्शन हो, खनिज विभाग को नजर ही नहीं आते
- वैध खदान शून्य के बीच अवैध रेत परिवहन, रोज 100-150 टै्रक्टर-ट्रॉली गुजर रहे

श्योपुर

Published: June 01, 2022 05:51:10 pm

अनूप भार्गव/श्योपुर
जिले में 100 से 150 वाहन हर दिन अवैध रेत परिवहन कर रहे हैं। इसके बाद भी खजिन विभाग दो साल में महज 110 वाहन ही पकड़ पाया है। यह हालत तब है जब मुख्यमंत्री के स्पष्ट आदेश हैं कि अवैध परिवहन व उत्खनन पर एक्शन हो। वैध खदान न होने के बाद भी रेत का अवैध परिवहन सांठगांठ और सरकारी तंत्र के गठजोड़ से चल रहा है। स्पष्ट निर्देश के बाद भी जिम्मेदार माइनिंग अफसर को रात के अंधेरे और दिन में सड़कों पर दौड़ते ये ट्रैक्टर-ट्रॉली नजर ही नहीं आते।
वर्ष 2021 की बात करें तो खनिज विभाग सालभर में महज 95 वाहन ही पकड़ पाया। इनमें रेत और गिट्टी के अलावा अन्य कार्रवाई भी शामिल हैं। वर्ष 2022 में अब तक करीब 15 वाहन विभाग पकड़ पाया। कार्रवाई करने की बात तो छोडि़ए माइनिंग विभाग के अफसर की गई कार्रवाई की जानकारी देने में भी आनाकानी कर रहे हैं। हर दिन चंबल और पार्वती नदी से 100-150 ट्रैक्टर-ट्रॉली रेत अवैध तरीके से ढो रहे हैं। लेकिन खनिज विभाग महीने में एक दो कार्रवाई कर खानापूर्ति कर रहा है। यही वजह है कि चंबल और पार्वती नदी में जलीय जीवों का जीवन संकट में आ गया है।
150 वाहन हर दिन ढो रहे अवैध रेत, फिर भी विभाग ने दो साल में पकड़े महज 110
150 वाहन हर दिन ढो रहे अवैध रेत, फिर भी विभाग ने दो साल में पकड़े महज 110
पार्वती से हर रोज निकाली जा रही रेत
बड़ौदा क्षेत्र में पावती नदी से हर रोज ट्रैक्टर-ट्रॉली से रेेत निकाली जा रही है जबकि यहां रेत की कोई वैध खदान नहीं है। खनिज विभाग भी वैध खदान न होने की बात कहता है इसके बाद भी उसे अवैध रेत परिवहन और उत्खनन होने की जानकारी तक नहीं है।
हर रोज औसतन डेढ़ सौ ट्रैक्टर ट्रॉली रेत निकाली जा रही है
जिले की पार्वती और चंबल नदी से हर दिन 100 से 150 तक ट्रैक्टर-ट्रॉली रेत निकाली जा रही है। इससे रेत माफियाओं को हर ट्रैक्टर-ट्रॉली पर एक चक्कर में करीब 2000 की बचत होती है। अगर इनके 24 घंटे में तीन चक्कर भी लग गए तो यह कमाई 6 हजार के आसपास पहुंच जाती है।
परिवहन पर वाहन पकडऩे पर यह है प्रावधान
अवैध परिवहन पर जो वाहन पकड़े जाते हैं, उन पर दंडात्मक कार्रवाई की जाती है। जब भी राजस्व या माइनिंग अमला ट्रक व डंपर, ट्रॉली को पकड़ता है तो इनमें भरे रेत की मात्रा देखी जाती है। पटवारी की रिपोर्ट पर प्रकरण बनाया जाता है और सुनवाई के लिए जिला दंडाधिकारी को भेजते हैं। सुनवाई के बाद जुर्माना किया जाता है। इस बीच जब्त किया गया वाहन पुलिस थाने में ही खड़ा रहता है। जुर्माना राशि जमा करने की रसीद को पुलिस थाने में दिखाकर ट्रक या डंपर छूट जाता है।
फैक्ट फाइल
वर्ष 2021 में कार्रवाई: 95
वर्ष 2022 में अब तक कार्रवाई: 15

इनका कहना है
जिले में वैध खदान नहीं है। अवैध परिवहन और उत्खनन को लेकर हम समय-समय पर हम कार्रवाई करते हैं।
आर पी कमलेश
सहायक खजिन अधिकारी, श्योपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नुपूर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा- आपके बयान के चलते हुई उदयपुर जैसी घटना, पूरे देश से टीवी पर मांगे माफीउदयपुर घटना की जिम्मेदार, टीवी पर माफी, सस्ता प्रचार...10 बिंदुओं में जानें Nupur Sharma को Supreme Court ने क्या-क्या कहा?Maharashtra Politics: शिंदे गुट को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत, शिवसेना की अर्जी पर फ्लोर टेस्ट पर रोक लगाने से किया इनकारMumbai Rains: मुंबई में भारी बारिश के चलते जनजीवन पर असर, कई इलाकों में भरा पानी; IMD ने जारी किया ऑरेंज अलर्टहैदराबाद में आज से शुरू हो रही BJP की कार्यकारिणी बैठक, प्रधानमंत्री मोदी कल होगें शामिल, जानिए क्या है बैठक का मुख्य एजेंडाआज से प्रॉपर्टी टैक्स, होम लोन सहित कई अन्य नियमों में हुए बदलाव, जानिए आपके जेब में क्या पड़ेगा असरकेंद्रीय मंत्री आर के सिंह का बड़ा बयान, सिर काटने वाले आतंकियों के खिलाफ बनेगा UAPA की तरह सख्त कानून!LPG Price 1 July: एलपीजी सिलेंडर हुआ सस्ता, आज से 198 रुपए कम हो गए दाम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.