नाबालिग से बलात्कार करने वाले आरोपी को दोहरा आजीवन कारावास

-श्योपुर के द्वितीय अपर सत्र न्यायालय ने सुनाया फैसला,ढाई हजार रुपए का अर्थदंड भी लगाया

By: Laxmi Narayan

Published: 13 Aug 2019, 08:53 PM IST

श्योपुर,
नाबालिग लड़की का अपहरण करने के बाद उसके साथ बलात्कार करने संबंधी सनसनीखेज मामले में द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश श्योपुर की अदालत ने फैसला सुनाते हुए आरोपी को दोहरे आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। साथही ढाई हजार रुपए के अर्थदंड से भी दंडित किया है।
डीपीओ आरके बरैया ने बताया कि यह मामला अक्टूबर २०१७ में पनार गांव में तब घटित हुआ,जब अपने माता पिता के साथ मजदूरी करने आई १६ वर्षीय बालिका को उनके साथ मजदूरी करने वाला राममिलन अहिरवार निवासी छतरपुर प्रेम जाल में फंसा कर अगवा कर ले गया। आरोपी ने बालिका को अपने चंगुल में रखकर उसके साथ बलात्कार किया। आवदा थाना पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज किया और बालिका को राजस्थान के सवाईमाधोपुर स्टेशन से बरामद कर परिजनों के सुपुर्द किया। जबकि आरोपी राममिलन के खिलाफ अपहरण,बलात्कार और पॉस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज कर चालान न्यायालय में पेश किया। न्यायालय ने विचारण के बाद दोषी राममिलन अहिरवार को दोहरे सश्रम आजीवन कारावास की सजा सुनाते हुए २५०० रुपए के अर्थदंड से दंडित किया है।

इधर दलित की मारपीट करने वाले आरोपी को एक साल की जेल
श्योपुर,
विजयपुर थाना क्षेत्र के ग्राम मेवरा में दो साल पहले एक दलित की मारपीट करने संबंधी मामले में न्यायालय ने आरोपी को एक साल की जेल और ५ हजार रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई है। विशेष लोक अभियोजक राजेन्द्र जाधव ने बताया कि आरोपी बृजकिशोर उर्फ हल्के बैरागी ने फरियादी की पुरानी रंजिश पर जातीय अपमान करते हुए मारपीट कर दी। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर चालान न्यायालय में पेश किया। विचारण के दौरान आरोपी दोषी साबित हुआ। इसलिए न्यायालय ने आरोपी को एक साल के सश्रम कारावास और ५ हजार रुपए के अर्थदंड की सजा सुना दी।

 

Laxmi Narayan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned