तालाब खुदाई का काम करने से मना किया तो भडक़े मजदूर, शिकायत करने पहुंचे तहसील

- तहसीलदार ने मौके पर जाकर कराया समस्या का समाधान
- तहसीलदार ने सचिव से कहा व्यवहारिक बनो, न काम रूकेन मजदूर वापस जाएं

By: Anoop Bhargava

Published: 24 May 2020, 09:01 AM IST

श्योपुर/बड़ोदा
ग्राम पंचायत गलमाना में तालाब खुदाई में लगे मजदूर उस समय भडक़ गए जब उसने सरपंच और सचिव ने काम करने की मना कर दी। गुस्साए मजदूर तहसीलदार से मिलने पैदल ही गांव से तहसील के लिए चल दिए। करी 60 से 70 मजदूर बड़ौदा पहुंचे और तहसील कार्यालय पर बैठ गए। तहसीलदार भरत कुमार नायक जैसे ही तहसील पहुंचे मजदूरों ने उन्हें घेर लिया और अपनी समस्या सुनाने लगे। तहसीलदार नायक सभी मजदूरों को लेकर तालाब पहुंचे और सरपंच व सचिव के साथ चर्चा कर समस्या का समाधान कराया।
दरअसल मजदूरों का कहना था कि पंचायत द्वारा तालाब की खुदाई में 20 वाई 10 का गड्ढा खुदवाया जा रहा है साथ ही मिट्टी 300 मीटर दूर फिंकवाई जा रही है। मजदूरी भी महज 190 के हिसाब से देने को कहा गया है। मजदूरों ने तहसीलदार नायक को बताया कि कई लोग 9 मई से लगातार काम कर रहे हैं लेकिन मजदूरी अभी तक नहीं मिली है। ऐसे में बच्चों का पालन कैसे करें। तहसीलदार नायक ने मौके पर मौजूद इंजीनियर से जानकारी ली, तो वह मजदूरों को ही गलत बताने लगे। इस पर तहसीलदार ने सब इंजीनियर से कहा गाइड लाइन क्या है। जवाब में सब इंजीनियर ने कहा 10 फीट लंबाई 10 फीट चौड़ाई व 10 इंच गहरा गड्ढा होना चाहिए। सभी की बात सुनने के बाद तहसीलदार नायक ने कहा कि गर्मी ज्यादा पड़ रही है। मिट्टी फेंकने की जगह भी दूर है इसलिए थोड़ा व्यवहारिक बनो। तहसीलदार नायक ने सचिव न कहा व्यवहारिक बनो। न तो काम रुकना चाहिए न ही मजदूर वापस जाना चाहिए। तहसीलदार ने निर्देश दिए कि ट्रैक्टर रखा जाए, जिससे मजदूर मिट्टी उस में डाल सकें।

Anoop Bhargava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned