कूनो नेशनल पार्क टीम पर हमला..पांच नामजद समेत 90 अन्य पर एफआइआर

- आदिवासी सरपंच बोले...गलतफहती में हुआ हमला, हर साल आदिवासियों के खेतों को छुड़ा कर कूनो में शामिल कर रहे अफसर इसलिए भी आक्रोशित हुए ग्रामीण

By: Anoop Bhargava

Published: 03 Jul 2021, 09:42 PM IST

कराहल
शुक्रवार की रात कूनो नेशनल पार्क के टिकटोली गेट की टीम पर हमला करने के मामले में पांच नामज़द समेत 90 अन्य ग्रामीणों पर सेसईपुरा थाने में एफआइआर दर्ज कर ली गई है। टिकटोली गेट पर तैनात वन सुरक्षा टीम को सूचना मिली थी कि टिकटोली गांव के कुछ लोग शिकार करने कूनो नेशनल पार्क में गए हैं। ऐसे में टीम एक बाइक, सहित बेलोरो गाड़ी से हथेड़ी गांव के जंगल मे सर्चिंग करने गई थी। शुक्रवार की रात करीब 9 बजे टीम वापस लौट रही थी तभी टिकटोली गांव के आदिवासी ग्रामीणों ने समझा कि शिकार पर गए लोगों को वन टीम पकड़ लाई। ऐसे में सड़क पर फत्थर की दीवार लगाकर टीम को रोक लिया और डंडे व पत्थरों से हमला कर दिया। डिप्टी रेंजर श्याम सिंह तोमर व वनकर्मियों ने जैसे-तैसे भागकर जान बचाई। सुरक्षित स्थान पर पहुंचने के बाद पुलिस को सूचना दी गई। सूचना मिलने पर कराहल व सेसईपुरा पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को इलाज के लिए अस्पताल भिजवाया।
ग्रामीणों के हमले में कूनो नेशलन पार्क के डिप्टी रेंजर, वनकर्मी, सुरक्षा कर्मी घायल हुए थे। वहीं हमले में बाइक व बेलोरो गाड़ी की तोडफ़ोड़ कर दी गई। हमला करने वालों में टिकटोली के ग्रामीणों के साथ महिला व बच्चे भी शामिल थे। टिकटोली के आदिवासियों ने कूनो नेशनल पार्क की टिकटोली गेट की टीम को रोकने के लिए चार फीट ऊंची दीवार बना दी थी। पुलिस एक घण्टे से अधिक देरी से पहुची तब तक ग्रामीणों ने बनाई दीवार को हटा दिया था।
गलत जानकारी से आदिवासी हुए हमलावर
टिकटोली के ग्रामीणों ने गलत जानकारी के चलते कूनो नेशनल पार्क की टीम पर हमला कर दिया। बताते हैं कि कुछ आदिवासी सुबह से हथेड़ी गांव के कूनो नदी की तरफ़ गए हुए थे, जो देर शाम तक लौटकर नही आए। जब टिकटोली गांव से टीम को जाते देखा तो ग्रामीणों ने सोचा कि टीम आदिवासियों पकड़ लाई है। ऐसे में ग्रामीण एकत्रित हो गए और जैसे ही टीम लौटी भीड़ ने हमला कर दिया। सरपंच प्रहलाद आदिवासी का कहना है कि मैं खुद मौके पर नहीं था मेरे नाम से एफआईआर दर्ज करा दी है कुछ लोग ऐसे है जो लंगड़े लूले है उन पर भी पुलिस कार्रवाई हुई है ।
पुलिस अधीक्षक को देंगे ज्ञापन
जिन ग्रामीणों ने हमला किया है उन पर पुलिस वन टीम कार्रवाई करे। पुलिस पूरे गांव पर कार्रवाई कर रही है। उन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया जो मौके पर नहीं थे सिर्फ टीम उनके नाम जानती है। मैं खुद मौके पर नहीं था। मेरा नाम भी लिखवा दिया। हम लोग इसका विरोध करेगें एसपी को ज्ञापन देगे। मामले की जांच की जाए। प्रहलाद आदिबासी
सरपंच (मोरावन )टिकटोली निवासी

Anoop Bhargava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned