सीएम ने श्योपुर बाढ़ पीडि़तों के लिए मुंह खोला, खजाना नहीं: चौहान

कांग्रेस ने चार घंटे दिया धरना, प्रदर्शन कर सौंपा ज्ञापन

 

 

By: rishi jaiswal

Updated: 25 Sep 2021, 11:44 PM IST

श्योपुर. कांग्रेस जिलाध्यक्ष अतुल चौहान ने कहा कि श्योपुर में भाजपा की मिलीभगत से अपात्रों को राशि मिल गई है, लेकिन पात्र बाढ़ पीडि़त अब भी राहत के लिए भटक रहे हैं। यही नहीं श्योपुर आए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने केवल मुंह खोलकर तमाम घोषणाएं तो कर दी, लेकिन बाढ़ पीडि़तों के लिए खजाना नहीं खोला। चौहान ने ये आरोप शनिवार को गांधीपार्क पर हुए कांग्रेस के धरना प्रदर्शन में संबोधित करते हुए लगाए।

प्रदेश कांग्रेस के प्रदेशव्यापी आह्वान पर जिला कांग्रेेस कमेटी के बैनर तले शहर के गांधीपार्क पर धरना प्रदर्शन आयोजित किया गया। जिसमें चार घंटे तक धरना देने के बाद कोतवाली पर पहुंचकर राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन प्रशासन को दिया गया। इस दौरान गांधीपार्क पर धरना प्रदर्शन में संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष चौहान ने कहा कि श्योपुर बाढ़ में भाजपा नेता और सर्वे करने वाला प्रशासन का नीचे का तबका मालामाल हो गया, जबकि पात्र अब भी बेहाल है। यही नहीं बाढ़ से जनता व्यथित है, लेकिन केंद्रीय मंत्री स्वागत करा रहे हैं। वहीं जो लोग केंद्रीय मंत्री से मिलना चाह रहे थे, उन्हें धक्के दिए गए और मिलने भी नहीं यदिया गया। कांग्रेस इसकी लड़ाई लड़ती रहेगी। चौहान ने ज्ञापन के दौरान जिले के स्थानीय मुद्देे भी उठाए और डीएपी खाद की कमी, ब्रॉडगेज प्रोजेक्ट में जा रही जमीन की कीमत का चार गुना मुआवजा दिए जाने और बाढ़ से प्रभावित हुए धार्मिक स्थलों को संवारने की मांग उठाई।

धरने पर अन्य नेताओं ने भी संबोधित किया। धरना प्रदर्शन के बाद कांग्रेस ने गुलंबर पर रैली निकाली और जमकर नारेबाजी की। इसके साथ ही राष्ट्रपति के नाम 13 सूत्रीय ज्ञापन तहसीलदार श्योपुर को दिया। इस दौरान कांग्रेसी नेता योगेश जाट, रामलखन हिरनीखेड़ा, अंशु शुक्ला, चीनी कुर्रेशी, भोलानाथ चौहान, रितेश तोमर, संजीव कुशवाह, हंसराज मीणा, लक्ष्मी नारायण मीणा, रामभरत मीणा, कमल शर्मा, रामचरण मीणा जैनी आदि सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसी नेता मौैजूद रहे।


ज्ञापन में ये रही मुख्य मांगे
कोविड में जान गंवाने वाले मृतकों के परिवारों को मुआवजा दिया जाए।
कांग्रेस की न्याय योजना के तहत प्रति परिवार 7500 रुपए प्रति माह दिया जाए।
तीनों कृषि कानून वापिस लिए जाएं।
पेट्रो पदार्थों पर एक्साइज ड्यूटी कम कर जनता को राहत दी जाए।
श्योपुर में बाढ़ पीडि़त पात्र हितग्राहियों को मुआवजा दिया जाए।
जिले में डीएपी खाद की कमी को तत्काल दूर किया जाए।

Congress
rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned