बिजली गुल होने पर मोबाइल टॉर्च की रोशनी में करना पड़ रहीं डिलीवरी

- सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कराहल का मामला
- जनरेटर खराब होने से बिगड़ रही व्यवस्था

By: Anoop Bhargava

Published: 06 Jul 2020, 10:57 AM IST

कराहल
कस्बे के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर बिजली गुल होने की समस्या के बीच स्टाफ को मोबाइल टॉर्च की रोशनी में डिलीवरी करना पड रही हैं। बीती रात अचानक बिजली चले जाने पर जहां अस्पताल परिसर में अंधेरा छा गया, वहीं मोबाइल टॉर्च की रोशनी में डिलीवरी करना पड़ी। जनरेटर खराब होने के कारण इस तरह की अव्यवस्था से हर दिन न केवल प्रसूताओं बल्कि अस्पताल के स्टाफ को भी जूझना पड़ता है।

बिजली गुल होने पर इनवर्टर भी जवाब दे रहा है। हालांकि इनवर्टर ऑफिस में लगा है, लेकिन उससे सिर्फ पंखे ही चल पाते हैं। लेकिन कम वोल्टेज के चलते इनवर्टर भी चार्ज नहीं हो पाता। जिससे बिजली गुल होने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर प्रसूता वार्ड से लेकर प्रसव कक्ष तक अंधेरा छा जाता है। स्वास्थ्य केन्द्र के बीएमओ भी कम वोल्टेज आने से इनवर्टर चार्ज न होने की बात कह रहे हैं।

उमस भरी गर्मी में होती है परेशानी
बिजली गुल होने पर उमस भरी गर्मी में प्रसूताओं के साथ बच्चों को बेहाल होना पड़ता है। इसके बाद भी जिम्मेदारों का इस ओर कोई ध्यान नहीं है। अक्सर मौसम खराब होने पर बिजली गुल होने की समस्या होती है। ऐसे में उमस से स्वास्थ्य केन्द्र में मरीजों को परेशानी झेलनी पड़ती है। स्वास्थ्य केंद्र का जनरेटर लंबे समय से खराब है इसे दुरस्त करने के प्रयास नहीं किए गए। बिजली गुल होने पर इनर्वटर भी जवाब दे जाता है।
वर्जन
इनवर्टर में में बैट्री बड़ी लगी हुई है उसका पावर भी अच्छा है। इससे ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों के कक्ष में पंखा चलते रहते हैं। लेकिन कुछ दिनों से कम वोल्टेज के चलते इनवर्टर चार्ज नहीं पा रहा है। वहीं जनरेटर में तीन दिन पहले गड़बड़ी आ गई है। उसे दुरस्त कराने के लिए मैकेनिक को बुलाया था समान नहीं होने की वजह से वह ठीक नहीं हो सका।
बृजेंद्र सिंह रावत
बीएमओ, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, कराहल

Anoop Bhargava Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned