प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने लगेंगे रोजगार मेले

जिले में 12 हजार 788 प्रवासी मजदूर पोर्टल पर पंजीकृत, अब रोजगार मेला लगाने प्रशासन कर रहा तैयारी

श्योपुर. लॉकडाउन के भंवर में फंसकर अन्य राज्यों से बेरोजगार होकर लौटे प्रवासी मजदूरों को अब अपने ही जिले में रोजगार दिलाने की कवायद की जा रही है। यही वजह है कि अब प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने रोजगार मेले भी लगाए जाएंगे। जिसके तहत श्योपुर जिले में भी प्रशासन ने प्रवासी मजदूरों के लिए रोजगार मेले लगाने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए जिले में न केवल कलेक्टर की अध्यक्षता में जिला स्तरीय रोजगार मेला समिति का गठन कर लिया है, बल्कि समिति की पहली बैठक भी 15 जून को आयोजित की जाएगी।


जिले से बड़ी संख्या में लोग राजस्थान, गुजरात, दिल्ली, केरल सहित अन्य राज्यों में काम करने जाते हैं, लेकिन इस बार मार्च में लगे लॉकडाउन के बाद अन्य राज्यों में भी काम-धंधे बंद हो गए, लिहाजा जिले के ये प्रवासी मजदूर जिले में वापस लौट आए हैं। यही वजह है कि पिछले दिनों में प्रवासी मजदूरों का शासन ने जनपद और नगरीय निकायों के माध्यम से पोर्टल पर पंजीयन करवाया है, जिसमें जिले में 12 हजार 788 मजदूर पंजीकृत किए गए हैं। प्रवासी मजदूरों के ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीयन के बाद शासन ने सभी जिलों को रोजगार मेलों के आयोजन के निर्देश दिए हैं, जिसके बाद जिले में अब विभिन्न कार्यों के ठेकेदारों, उद्योग संचालकों सहित अन्य नियोजकों के भी पंजीयन किए जा रहे हैं। वहीं रोजगार मेले के आयोजन की भी तैयारी शुरू हो गई है। बताया गया है कि इन रोजगार मेलों में विभिन्न क्षेत्रों के नियोजकों को बुलाया जाएगा, वहीं प्रवासी मजदूरों को भी आमंत्रित किया जाएगा और जरूरत के हिसाब से उन्हें काम दिया जाएगा। बताया गया है कि कई प्रवासी मजदूर पहले से ही जिले की पंचायतों में मनरेगा के काम में भी लगे हुए हैं। उद्योग विभाग के महाप्रबंधक एसआर चौबे ने बताया कि जिला स्तर पर कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित जिला स्तरीय रोजगार मेला समिति की बैठक 15 जून को सुबह 11.30 बजे से कलेक्टे्रट सभागार में आयोजित की जाएगी।


संभाग में 88 हजार प्रवासी मजदूर

श्योपुर जिले में जहां 12 हजार 788 प्रवासी मजदूर पोर्टल पर पंजीकृत हुए हैं, वहीं चंबल संभाग में ये संख्या 88 हजार से भी ज्यादा है। पिछले दिनों चंबल कमिश्नर की समीक्षा बैठक में संभाग में 88 हजार 608 श्रमिकों का पंजीयन हुआ है, जिसमें सबसे ज्यादा मुरैना जिले में 47 हजार 747 मजदूर पंजीकृत हुए हैं, जबकि भिण्ड में 28 हजार 73 और श्योपुर में 12 हजार 788 मजदूरों का पंजीयन हुआ है। श्रम निरीक्षक श्योपुर पीएल कोरी ने बताया कि श्रमिकों के पंजीयन के बाद अब नियोजकों, ठेकेदारों, उद्योग संचालकों आदि के भी पंजीयन किए जा रहे हैं।


प्रवासी मजदूरों के पंजीयन करा लिए गए हैं, साथ ही नियोजकों, ठेकेदारों आदि के भी पंजीयन कराए गए हैं। अब रोजगार मेले लगाकर प्रवासी मजदूरों को काम उपलब्ध कराया जाएगा।
हर्ष सिंह, सीइओ, जिला पंचायत श्योपुर

Show More
महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned