उद्यानिकी फसलों के प्रति बढ़ा किसानों का रुझान, हर साल बढ़ रहा रकबा

परंपरागत खेती के साथ ही अब जिले में फल, सब्जी, मसाला और औषधीय खेती ओर कदम बढ़ा रहे जिले के किसान, बीते दो सालों 9 फीसदी बढ़ा उद्यानिकी फसलों का रकबा, अब इस वर्ष 5 फीसदी बढ़ोत्तरी का लक्ष्य

By: jay singh gurjar

Published: 28 May 2020, 08:20 PM IST

श्योपुर
परंपरागत खेती के साथ ही अब जिले में किसानों का रुझान उद्यानिकी फसलों की ओर भी लगातार बढ़ा है। यही वजह है कि जिले में उद्यानिकी फसलों का रकबा भी साल दर साल बढ़ रहा है। बीते दो साल में उद्यानिकी फसलों का रकबा जहां 9 फीसदी तक बढ़ा है, वहीं बीते एक दशक में तो ये बढ़ोत्तरी दो गुना तक हो गया है। यही वजह है कि इस वर्ष भी उद्यानिकी विभाग ने पांच फीसदी बढ़ोत्तरी का लक्ष्य रखा है।


जिले में यूं तो रबी और खरीफ सीजन में किसान परपंरागत फसलों का ही चयन करते हैं। लेकिन अब धीरे-धीरे किसान फल, सब्जी, मसाला, औषधीय और फूल की खेती की ओर कदम बढ़ा रहे हैं। यही वजह है कि एक दशक पहले तक जिले में इस तरह की खेती का रकबा 13 हजार हेक्टेयर के आसपास था, जो अब बढ़कर 26 हजार से अधिक हो गया है। उद्यानिकी विभाग के आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2018-19 में 24 हजार 5 हेक्टेयर में उद्यानिकी फसलें बोई गई थी, जो 2019-20 के वर्ष में 26 हजार 44 हेक्टेयर हो गई। पिछले साल के मुकाबले ये वृद्धि 8.49 फीसदी रही। अब वर्ष 2020-21 में उद्यानिकी विभाग ने 1302 हेक्टेयर की बढ़ोत्तरी प्रस्तावित करते हुए 27 हजार 346 हेक्टेयर रकबा प्रस्तावित किया गया है।


मसाल, सब्जी और फल का रकबा ज्यादा
जिले में यूं तो उद्यानिकी की सभी फसलों का रकबा बढ़ रहा है। लेकिन अभी किसानों का ज्यादा रुझान मसाला(धनिया, मैथी आदि), सब्जी और फल की खेती पर ज्यादा है। यही वजह है कि अब शासन-प्रशासन फूलों और औषधीय खेती को भी बढ़ावा देने की तैयारी में है।


अमरूद को भी बढ़ावा देने पर फोकस
उद्यानिकी ख्ेाती में जिले में फलोत्पादन में अमरूदों की ज्यादा संभावना के चलते जिले में अमरूदों के बगीचे लगाने पर भी ज्यादा फोकस किया जा रहा है। यही वजह है कि प्रशासन ने इस बार उद्यानिकी विभाग और एनआरएलएम के माध्यम से अमरूदों का रकबा और उत्पादन बढ़ाने का लक्ष्य दिया है।

jay singh gurjar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned