लॉकडाउन में वन विभाग का सूचना तंत्र फेल,माफिया काट रहे जंगल

-जंगल कटाई के मामले सामने आने के बाद भी वन विभाग के अफसर नही दिखा रहे गंभीरता

By: Laxmi Narayan

Published: 30 May 2020, 07:05 AM IST

श्योपुर,
जहां एक तरफ पूरा देश कोरोना एवं लॉकडाउन से परेशान हो रहा है। वहीं दूसरी तरफ जंगल माफिया इसका फायदा उठाकर हरे-भरे पेड़ो को काटकर जंगल का सफाया कर रहे है। जिसकी जानकारी वन विभाग के अफसरों को नहीं मिल पा रही है।ऐसे में वन विभाग का सूचना तंत्र फैल नजर आ रहा है।
खास बात यह है कि जिले में जंगल की सुरक्षा के लिए सामान्य वन मंडल और कूनो वन मंडल के रूप में दो-दो विभागो के अफसर और उनका मैदानी अमला मौजूद है। मगर दोनो ही विभागों का सूचना तंत्र लॉकडाउन में फैल साबित हो रहा है। वहीं उनका अमला भी जंगल की सुरक्षा नहीं कर पा रहा है।यही कारण है कि जंगल माफिया कभी सामान्य वन मंडल के जंगल से पेड़ो की कटाईकर रहे है तो कभी कूनो वन मंडल क्षेत्र के जंगल का सफाया कर रहे है। वन क्षेत्रमें रहने ेवाले लोगों की माने तो ज्यादातर माफिया वन भूमि को कब्जाने पेड़ों की कटाईकर रहे है। ताकि कब्जाने वाली वन भूमि पर खेती की जा सके। कराहल और विजयपुर क्षेत्रके जंगल में ऐसे मामले सामने आने के बाद भी वन विभाग के जिम्मेदार अफसर कोई गंभीरता नहीं दिखा रहे है।

वर्जन
छोटी-मोटी कटाईकी सूचना तो आईहै। मगर बड़ी अवैध कटाईकी सूचना तो कहीं से नहीं मिली। पिपरवास और बगवानी के जंगल में अवैध कटाई हुई तो इसको दिखवाते हुए कार्रवाई करेगे।
सुधांशु यादव
डीएफओ,सामान्य वन मंडल,श्योपुर

वर्जन
जहां से भी जंगल कटाई की खबरे आती है। वहां गंभीरता दिखाते हुए टीम भेजकर कार्रवाई करते है। बांसरैया के पास जंगल में जो अवैध कटाई हुई है,वह राजस्व विभाग की भूमि है। राजस्व विभाग को बता दिया है।
पीके वर्मा
डीएफओ,कूनो वन मंडल,श्योपुर

केस-1
उमरेह के जंगल में कट गए 500 पेड़
बांसरैया क्षेत्र में उमरेह के जंगल में माफिया ने 500 के करीब खैर के पेड़ काट दिए। जिसका पता कूनो वन मंडल और राजस्व विभाग के अधिकारियों को भी है।इसके बाद भी पेड़ काटने वालों पर अभी कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है।
केस-2
जमूर्दीके जंगल में काट दिए 400 पेड़
जंगल माफियाओं ने जमूर्दी के जंगल से भी 400 से ज्यादा खैर के पेड़ो को काट दिए।यह जंगल कूनो वन मंडल के जंगल से ही लगा है। ग्रामीणों की माने ते यहां माफिया ने पेड़ काटने का काम खेत बनाने के लिए किया गया है। मगर यहां भी अभी तक कार्रवाई का अभाव दिख रहा है।
केस-3
बगवानी के जंगल में भी हो गईअवैध कटाई
विजयपुर क्षेत्रके बगवानी के जंगल मेंं अप्रेल के महिने जंगल की अवैध कटाई हो गई।यहां माफियाओं ने 100 से ज्यादा पेड़ो को काट दिया गया है। मगर कार्रवाईका अभाव अभी तक बना हुआ है।
केस-4
पिपरवास के जंगल में भी कट गए पेड़
विजयपुर क्षेत्र स्थित पिपरवास के जंगल में माफियाओं के द्वारा जंगल की अवैध कटाई कर दी गईहै। ग्रामीणों की माने तो पिछले महिने यहां 150-200 खैर के पेड़ो की अवैध कटाईकी गईहै। मगर विभाग की ओर से अवैध कटाईकरने वालों पर अभी कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है।

Laxmi Narayan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned