चार साल बाद टूटी विभाग की नींद,दर्ज कराई चोरी की रिपोर्ट जानिए क्या है मामला

- पहेला के हायरसैकेंडरी स्कूल भवन का मामला

By: Laxmi Narayan

Published: 06 Jan 2020, 06:45 PM IST


श्योपुर
आदिवासी विकासखंड कराहल के ग्राम पहेला के खंडहर हो गए हायरसेकंडरी स्कूल भवन की संबंधित विभागीय अफसरो ने चार साल बाद तब सुध लेकर कराहल थाने में चोरी का मामला दर्ज करवाया,जब इस मामले को पत्रिका ने उठाया।आरईएस विभाग के अफसरों की शिकायत पर कराहल थाना पुलिस ने स्कूल भवन की निर्माण सामग्री चोरी होने का मामला दर्ज कर लिया है।
यहां बताना होगा कि ग्राम पहेला में हायरसैकेंडरी में पढऩे वाले छात्र-छात्राओं की सुविधा के लिए इस भवन को बनाया गया था। करीब 27 लाख रुपए की लागत के इस हायरसेकंडरी स्कूल भवन का निर्माण ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग के द्वारा कराया गया। लेकिन कुछ काम शेष होने के कारण स्कूल भवन का हैंडओवर आदिम जाति कल्याण विभाग को नहीं किया जा सका। मगर हैंडओवर होने के पहले ही यह स्कूल भवन ही गायब हो गया। स्कूल भवन के खिड़की, दरवाजे और अन्य मटेरियल को भी लोग चोरी कर ले गए। मौके पर सिर्फ स्कूल भवन का ढांचा खड़ा रह गया। तत्समय भवन के खंडहकर हो जाने के संबंध में पहेला हायरसैकंडरी स्कूल के प्राचार्य ने आदिम जाति कल्याण के सहायक आयुक्त के समक्ष शिकायत कर कार्रवाई के लिए पत्र लिखा। इसके बाद विभागीय स्तर से इस मामले में एफआईआर के आदेश जारी हो गए। लेकिन जिम्मेदारो के द्वारा इस दिशा में कोई ध्यान नहीं दिया।
23 दिसंबर को प्रत्रिका ने उठाया था मामला
इस मामले को पत्रिका ने 23 दिसंबर के अंक में उठाते हुए एक समाचार प्रमुखता से प्रकाशित किया। जिसके बाद विभागीय अधिकारी नींद से जागे और चार साल के बाद इस स्कूल भवन की सुध ली। बताया गया है कि ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संंभाग के कार्यपालन यंत्री पातीराम इटोरिया ने 4 जनवरी को इस मामले की शिकायत कराहल थाने में दर्ज कराई और बताया कि 4 मई 2015 से 28 अक्टूबर 2016 के बीच अज्ञात आरोपी स्कूल भवन के मटेरियरल को चोरी कर ले गए। इस मामले में कराहल थाना पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ चोरी का मामला दर्ज कर लिया है।
वर्जन
स्कूल भवन की निर्माण सामग्री चोरी होने की शिकायत मिली है। चोरी का मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरु कर दी है।
राजेश शर्मा
थाना प्रभारी,कराहल

Laxmi Narayan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned