गांजा तस्कर का घर प्रशासन ने तोड़ा

अतिक्रमण विरोधी मुहिम के तहत शुक्रवार को प्रशासन और पुलिस की टीम ने कार्रवाई करते हुए शहर के सीप नदी शांति धाम के निकट सरकारी जमीन पर बने मकान पर थ्रीडी चलाई।

By: rishi jaiswal

Updated: 22 Jan 2021, 10:58 PM IST

श्योपुर. अतिक्रमण विरोधी मुहिम के तहत शुक्रवार को प्रशासन और पुलिस की टीम ने कार्रवाई करते हुए शहर के सीप नदी शांति धाम के निकट सरकारी जमीन पर बने मकान पर थ्रीडी चलाई। बताया गया है कि अतिक्रामक गांजा विक्रेता भी है और उस पर कई आपराधिक प्रकरण भी थाने में दर्ज हैं।


प्रभारी तहसीलदार राघवेंद्र सिंह कुशवाह और कोतवाली टीआई रमेश डांडे की संयुक्त मौजूदगी मेें प्रशासन और पुलिस की टीम नगरपालिका की जेसीबी के साथ शुक्रवार की दोपहर ढाई बजे के आसपास सीप नदी और चंबल नहर के निकट शांतिधाम के ठीक सामने पहुंची और यहां सरकारी जमीन पर बने कैलाश मीणा के मकान को ढहा दिया। इस दौरान लोगों ने विरेाध किया, लेकिन पुलिस बल की मौजूदगी के चलते जेसीबी ने चंद मिनटों में मकान तोड़ दिया। इस दौरान पटवारीगण विनोद जालौन, गोविंद जाट, गजानंद समाधिया, राहुल शर्मा आदि भी मौजूद रहे।

भडक़े विधायक, बोले-गरीबों का शोषण कर रहा प्रशासन
अतिक्रमण हटाने के बाद मौके पर श्योपुर विधायक बाबू जंडेल पहुंचे और संबंधित परिवार से चर्चा कर प्रशासन पर भेदभाव करने का आरोप लगाया। जंडेल ने कहा कि ये गरीब व्यक्ति यहां 15 सालों से रह रहा है, लेकिन प्रशासन गरीबों का शोषण कर रहा है, जबकि बड़े भूमाफिया और भाजपा नेताओं के अतिक्रमण नहीं हटाता। जंडेल ने कहा पूर्व विधायक दुर्गालाल विजय और बृजराज सिंह के मकान नालों पर बने हैं, लेकिन वो प्रशासन को नहीं दिखते।

सलापुरा नहर के पास सरकारी जमीन पर कैलाश मीणा द्वारा अतिक्रमण किया हुआ था, साथ ही उस पर पुलिस थाने में गांजा विक्रय सहित अन्य कई आपराधिक प्रकरण भी दर्ज हैं। इसी के तहत ये कार्रवाई की गई है।
राघवेंद्र सिंह कुशवाह, प्रभारी तहसीलदार, श्योपुर

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned