गोवंश वृद्धि और समृद्धि के लिए बनवाया गो माता का मंदिर

जिले के ग्राम ढेंगदा में एकमात्र है गौ माता का मंदिर, गौवंश वृद्धि की कामना के साथ ग्रामीण करते हंै पूजा

 

By: rishi jaiswal

Published: 21 Nov 2020, 11:30 PM IST

श्योपुर. गो सेवा के नाम पर यूं तो प्रदेश और देश में कई तरह के दावे और बातें होती हैं, लेकिन कई गोसेवक ऐसे भी हैं, जो बिना किसी दिखावे के अपनी गो भक्ति में लगे हुए हैं। ऐसे ही एक पशुपालक हैं ग्राम ढेंगदा के असरफी लाल, जिन्होंने क्षेत्र में गो संवर्धन और गोवंश वृद्धि और समृद्धि के लिए गो माता का ही मंदिर बनवा दिया, जो जिले में अपनी तरह का एक मात्र मंदिर है।


शहर से सटे ग्राम ढेंगदा निवासी पशुपालक असरफी लाल कुशवाह लगभग एक दशक पूर्व ग्वालियर जिले से आकर यहां बसे थे। तब उन्होंने क्षेत्र में गोवंश वृद्धि के लिए स्वयं अपने स्तर पर अपने घर के निकट ही गोमाता का मंदिर बनवाया और उसे कामधेनु मंदिर नाम दिया। लगभग सात साल पूर्व बनाए इस मंदिर में जहां असरफी लाल तो नियमित पूजा अर्चना करते ही हैं, साथ ही स्थानीय ग्रामीण भी यहां पूजा करने आते हैं। यही नहीं ढेंगदा से जब कोई धार्मिक झंडा चढ़ाने की पदयात्रा रवाना होती है तो उसकी शुरुआत भी इसी कामधेनु मंदिर पर पूजा अर्चना के बाद होती है।

यही वजह है कि इस मंदिर की अपनी अलग मान्यता है। पशुपालक असरफी लाल का कहना है कि गो माता में सभी 33 करोड़ देवी देवताओं का निवास होता है और यदि हम गो माता की पूजा करेंगे तो सभी देवी-देवता प्रसन्न रहते हैं। साथ ही गोवंश निरोगी और समृद्ध रहे, इसलिए हमने ये कामधेनु मंदिर बनवाया है।
गो संपदा से परिपूर्ण है श्योपुर

कृषि और पशुपालन की आजीविका पर आधरित श्योपुर जिले में गो संपदा भी भरपूर है। ग्रामीण क्षेत्र में जहां घर-घर में पशु पाए जाते हंैं, वहीं कराहल क्षेत्र के दो दर्जन गांव तो पूरी तरह पशुपालन पर निर्भर है, जहां गिर प्रजाति की गाय बहुतायत में पाई जाती है। वहीं अन्य इलाकों में भी बड़ी संख्या में गो-वंश है।

गोपाष्टमी आज
यूं तो दीपावली के दिन भी गायों की पूजा होती है, लेकिन कार्तिक शुक्ल अष्टमी का दिन गोपाष्टमी के रूप में मनाया जाता है। इस दिन गायों व गो-वंश की पूजा की जाती है। इस बार गोपाष्टमी आज 22 नवंबर को है, लिहाजा पाली रोड स्थित गोपाल गोशाला सहित अन्य गोशालाओं में गोपाष्टमी मनाई जाएगी।

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned