scriptgovernment support | गरीबों के मातमी दर्द के आंसू नहीं सोख पा रही सरकार की संबल | Patrika News

गरीबों के मातमी दर्द के आंसू नहीं सोख पा रही सरकार की संबल

- आपदा अनुग्रह अनुदान राशि के इंतजार में पथराई हितग्राहियों की आंखें
- जिले में नगर परिषद, नगर पालिका समेत जनपद पंचायत में 249 मामले पेडिंग

श्योपुर

Published: November 02, 2021 06:48:05 pm

अनूप भार्गव/श्योपुर
अपनों के खोने का दर्द लिए परिजन बिलख रहे हैं। ऐसे में उनके आंसू सोखने की योजना संबल भी सहायता का मरहम नहीं लगा पा रही है। आपदा अनुग्रह अनुदान राशि के लिए परिजन संबल के भरोसे बैठे हैं, लेकिन संबल से इंतजार के सिवाए कुछ नहीं मिल पा रहा है। हम यहां बात कर रहे हैं आपदा और हादसे में जान गंवाने वालों के परिवारों की। हादसे व अन्य प्राकृतिक आपदा में मृत लोगों के लिए सरकार संबल योजना के तहत अनुग्रह सहायता राशि देती है, लेकिन जिले में कई परिवार ऐसे हैं जिनको योजना का लाभ नहीं मिल सका है।

जिले के कराहल विकासखंड, विजयपुर विकासखंड, बड़ौदा से लेकर शहर तक हितग्राही संबल की सहायता की आस में बैठे हैं। ऐसे में 249 मामले हैं जो अभी पेंडिंग चल रहे हैं। जनपद में इन मामलों का बुरा हाल है। कराहल जनपद में 64, विजयपुर जनपद में 150 हितग्रहियों के मामले पेडिंग हैं। शहर नगर पालिका की बात करें तो यहां 25 मामले पेंडिंग में चल रहे हैं। हालांकि अफसरों का कहना है कि अनुग्रह राशि जल्द ही हितग्रहियों के खाते में पहुंच जाएगी। हालांकि जिसे सहायता राशि मिल गई वह अपने को भाग्यवान समझ रहा है और जिनको नहीं मिली वह लगातार कार्यालयों के चक्कर काट रहे हैं।
गरीबों के मातमी दर्द के आंसू नहीं सोख पा रही सरकार की संबल
गरीबों के मातमी दर्द के आंसू नहीं सोख पा रही सरकार की संबल
जनसुनवाई में भी पहुंचे दो मामले
जनसुनवाई के दौरान संबल योजना के दो हितग्राहियों पवन शर्मा निवासी अडवाड एवं मुकेश बैरवा निवासी डाबरसा ने बताया कि योजना अंतर्गत उन्हें अनुग्रह सहायता योजना का लाभ नहीं मिला है। पवन शर्मा ने कहा कि उनकी मॉ चंदा शर्मा की मृत्यु हो गई थी। योजना के तहत आवेदन ऑनलाइन करने के बाद राशि नहीं मिल रही है। इसी प्रकार डाबरसा निवासी मुकेश बैरवा के पिता बाबूलाल बैरवा की मृत्यु होने पर उसके द्वारा भी आवेदन किया गया, लेकिन योजना में लाभ मिलने में देरी हो रही है।
संबल योजना के लाभ
योजना में श्रमिक की असामयिक मृत्यु पर अनुग्रह सहायता, अंत्येष्टि सहायता और अपंगता पर आर्थिक सहायता का प्रावधान है। संबल योजना में 5 हजार रुपए की राशि अंत्येष्टि के लिए सहायता के रूप में दी जाती है। सामान्य मृत्यु पर 2 लाख रुपए की राशि और दुर्घटना से मृत्यु होने पर चार लाख रुपए की राशि परिजन को देने का प्रावधान किया गया। स्थाई अपंगता पर 2 लाख रुपए की अनुग्रह सहायता और आंशिक स्थाई अपंगता पर एक लाख रुपए की अनुग्रह सहायता देने का प्रावधान किया गया।
फैक्ट फाइल
कराहल
हितग्राही राशि मिली पेंडिंग मामले
264 200 64

बड़ौदा
हितग्राही राशि मिली पेंडिंग मामले
91 91 00

विजयपुर
नगर परिषद हितग्राही राशि मिली पेंडिंग मामले
36 26 10
जनपद पंचायत हितग्राही राशि मिली पेंडिंग मामले
350 200 150
श्योपुर
नगर पालिका हितग्राही राशि मिली पेंडिंग मामले
98 73 25

नहीं मिली अंत्येष्टि की राशि
ंमैं नगर परिषद बड़ौदा के वार्ड 15 का निवासी हूं। मेरे पिता की मृत्यु होने के बाद भी मुझे अब तक अंत्येष्टि की राशि नहीं मिली है। नगर परिषद के चक्कर काट रहा हूं। सिर्फ आश्वासन मिल रहा है। इसके अलावा कुछ नहीं मिला।
नरेन्द्र माहौर, हितग्राही
वर्सन
जनसुनवाई में भी इस तरह के दो मामले आए थे। इनको लेकर जिला पंचायत के अधिकारियों एवं जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी से संबल योजना के तहत ऑनलाइन किए जाने वाले प्रकरणों के संबंध में जानकारी लेकर निर्देश दिए गए हैं। अन्य प्रकरणों को लेकर भी संबंधितों को निर्देशित किया जाएगा।
शिवम वर्मा
कलेक्टर, श्योपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

SSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगानिलंबित एडीजी जीपी सिंह के मोबाइल, पेन ड्राइव और टैब को भेजा जाएगा लैब, खुल सकते हैं कई राजUP Election 2022: सपा कार्यालय में आयोजित रैली में टूटा कोविड प्रोटोकॉल, लखनऊ के गौतमपल्ली थाने में सपा नेताओं पर FIR दर्जविराट कोहली ने किसके सिर फोड़ा हार का ठीकरा?, रहाणे-पुजारा का पत्ता कटना तयएसईसीएल ने प्रभावित गांवों को मूलभूत सुविधा देना किया बंद, कोल डस्ट मिले पानी से बर्बाद हो रहे हैं खेत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.