ड्रेस कोड में समय पर अस्पताल आने की आदत डालें डॉक्टर्स

सिविल सर्जन ने चिकित्सकों सहित अन्य स्टाफ को चेताया, व्यवस्थाओं में कसावट लाने अमले के साथ की मैराथन बैठक





By: Gaurav Sen

Published: 15 Jul 2018, 03:37 PM IST

श्योपुर । देर से आना, कुर्सियों से नदारद रहना। यह बहुत हो गया। अब इसमें सुधार करो। आगे से समय पर अस्पताल आएं। अपने चैंबर्स में बैठें और रोगियों को निर्धारित समय तक देखें। यह दो टूक चेतावनी नवागत सिविल सर्जन डॉ. आरबी गोयल द्वारा जिला चिकित्सालय के चिकित्सक और अन्य स्टाफ को दी गई।

बीमार को खाट पर लिटाकर गले तक पानी में तैरते हुए ले जाते हैं अस्पताल


शुक्रवार की देर शाम को जिला चिकित्सालय के सभागार में चिकित्सकों सहित अन्य स्टाफ के साथ मैराथन बैठक लेते हुए सिविल सर्जन ने कहा कि अस्पताल को लेकर लोगों में नाराजगी हैं। जो व्यवस्थाएं हैं, उनको लेकर हम स्वयं भी अभी संतुष्ट नहीं है। इसमें कसवाट लाना होगी। जो बिना सभी के सहयोग और सेवा के जज्बे के संभव नहीं है। श्योपुर में लोग पूरी तरह से जिला चिकित्सालय पर ही निर्भर हैं, हमें लोगों की इस स्थिति का ध्यान रखना होगा और जो संसाधन और साधन उपलब्ध हैं, उसके सहारे अच्छा करने का प्रयास करना होगा। सिविल सर्जन ने कहा कि सभी डॉक्टर्स और अन्य स्टाफ अपने ड्रेस कोड में आना भी सुनिश्चित करें, राउण्ड का समय निर्धारित करें, जिससे उसका सभी को पता रहे। ऐसे नहीं कि कोई कभी भी राउण्ड ले ले।


वार्ड प्रभारी होंगे नियुक्त
जिला चिकित्सालय की व्यवस्थाओं में कसावट लाने को लेकर हुई बैठक में सिविल सर्जन डॉ. गोयल ने निर्देश दिए कि जल्द ही मेटरनिटी भवन में शिफ्ट हो जाएगा। उसके बाद जिला चिकित्सालय में पृथक पृथक वार्ड बनाए जाएंगे, सर्जरी अलग होगा और दूसरे वार्ड अलग होंगे। इसके लए वार्डवार प्रभारी विशेषज्ञ चिकित्सक बनाए जाएंगे, जिससे रोगियों को समय पर और बेहतर इलाज मिल सके।

अस्पताल की व्यवस्थाओं में दुरुस्ती के निर्देश दिए गए हैं। व्यवस्थाओं में कसावट लाने के उद्देश्य से यह किया गया है।
डॉ आर बी गोयल, सिविल सर्जन श्योपुर

Gaurav Sen
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned