घर-घर में हुई कुलदेवी की पूजा

घर-घर में हुई कुलदेवी की पूजा
दुर्गापुरी माता मंदिर पर दर्शनों के लिए पहुंचे श्रद्धालु।

Mahendra Kumar Rajore | Updated: 06 Oct 2019, 11:05:47 PM (IST) Sheopur, Sheopur, Madhya Pradesh, India

श्रद्घा और उल्लास से मनाई दुर्गाष्टïमी, देवी मंदिरों में भी पहुंचे श्रद्धालु

श्योपुर. दुर्गाष्टïमी पर रविवार को पारिवारिक सुख समृद्घि की कामना को लेकर लोगों ने परंपरागत रूप से कुलदेवी की पूजा-अर्चना की। दुर्गाष्टïमी के अवसर पर कुलदेवी की पूजा एवं दुर्गा के अनुष्ठïान के लिए लोगों ने सुबह से ही घरों में तैयारी शुरू कर दी थी। माता को भोग के लिए घरों में परंपरा के अनुसार विभिन्न पकवान बनाए गए। कुलदेवी का आह्वïान कर उनके नाम की ज्योति जलाई। परंपरागत तरीके से परिवार सहित कुलदेवी का पूजन कर सुख समृद्घि के लिए कामना की। इसके साथ ही कई घरों में कन्या भोज भी आयोजित किए गए।
दुर्गापुरी माता मंदिर पर भी दुर्गाष्टïमी अवसर पर दर्शनार्थियों की भारी भीड़ जुटी। विभिन्न मनोकामनाओं को लेकर आए श्रद्घालुओं ने देवी के दरबार में मत्था टेका और सुख शांति के लिए प्रार्थनाएं कीं। ग्वालियर, सबलगढ़ और श्योपुर की ओर से आने जाने वाली पैसेंजर रेलगाडिय़ों के अलावा निजी वाहनों और पैदल भी बड़ी तादाद में लोग परिवार सहित दुर्गापुरी पहुंचे, जबकि ग्राम पनवाड़ा स्थित अन्नपूर्णा देवी के मंदिर पर दिनभर भक्तों का मेला सा लगा रहा। वहीं पनवाड़ा मार्ग पर वाहनों की आवाजाही दिनभर बनी रही। आसपास इलाके से लोग समूहों में पैदल ही मैयारानी के जयकारे लगाते पहुंच रहे थे। कई लोग अपने घर से मंदिर तक कनक दंडवत करते हुए पहुंचे।
जयकारों के साथ रवाना हुई दुर्गापुरी माता की पदयात्रा
श्योपुर-ग्वालियर नैरोगेज रूट पर स्थित दुर्गापुरी माता के दर्शनों के लिए पदयात्रा रविवार की सुबह यहां श्योपुर से रवाना हुई। चिंताहरण हनुमान मंदिर से विधिवत पूर्जन-अर्चन के साथ रवाना हुई इस पदयात्रा में बड़ी संख्या में शामिल पदयात्री मातारानी के जयकारे लगाते हुए रवाना हुए। चंबल नहर रोड़ होते हुए पदयात्रा दोपहर मे दुर्गापुरी माता मंदिर पर पहुंची। रास्ते में पदयात्रा का कई जगह स्वागत किया गया। मंदिर पर झंडा चढ़ाने के साथ इस पदयात्रा का समापन किया गया।
दुर्गाअष्टमी पर मानपुर से एक पैदल यात्रा दुर्गापुरी माता मंदिर पर पहुंची। पहली बार रवाना हुई यह पैदल यात्रा मानपुर के किला परिसर से विधिवत पूजा-अर्चना के साथ हुई। इसके बाद यह पैदल यात्रा गाजे-बाजे के साथ बालापुरा और धीरोली होते हुए दुर्गापुरी मंदिर पर पहुंची। जहां झंडा चढ़ाकर पदयात्रा का समापन किया गया। पदयात्रा में बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल थे।
कंकाली माता का मेला आज से
जंगल में स्थित कंकाली माता मंदिर पर भी नवरात्र पर्व के उपलक्ष्य में तीन दिवसीय धार्मिक मेला सोमवार 7 अक्टूबर से आरंभ होगा। मेले में कई धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। मेले की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। ग्राम पंचायत ओछा द्वारा आयोजित इस मेले में 9 अक्टूबर को दंगल का आयोजन भी किया जाएगा, जिसमें कई पहलवान अपनी पहलवानी दिखाएंगे।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned