scriptMale laggards in sterilization, less than half percent figure in four | नसबंदी में पुरुष फिसड्डी, चार साल में आधा फीसदी से भी कम आंकड़ा | Patrika News

नसबंदी में पुरुष फिसड्डी, चार साल में आधा फीसदी से भी कम आंकड़ा

15 हजार 602 महिलाओं ने पुरुषों को दिखाया आइना
- नसबंदी के मामले में पुरुष निकले पोस्टर ब्वॉय

श्योपुर

Published: April 27, 2022 07:26:36 pm

अनूप भार्गव/श्योपुर
फिल्म पोस्टर ब्वॉयज नसबंदी की अहमियत को दर्शाती है, लेकिन यह कहानी सिर्फ पर्दे पर ही अच्छी है। हकीकत तो इससे कोसों दूर है। नसबंदी के मामले में श्योपुर जिले में पुरुष पोस्टर ब्वॉय निकले हैं, जबकि परिवार नियोजन में महिलाएं अव्वल हैं। जिले में नसबंदी के मामले में पुरुषों का आंकड़ा आधा फीसदी भी नहीं है।
स्वास्थ्य विभाग की खूब जोरआजमाइश करने के बाद भी चार साल में नसबंदी कराने में पुरुषों का 0.2 प्रतिशत आंकड़ा रहा है। महिलाओं ने परिवार नियोजन में बढ़ चढ़कर भाग लिया है। महिलाओं का प्रतिशत 156.02 रहा। पुरुष तो पोस्टर ब्वॉयज निकले हैं। फिल्म में भले ही बॉलीवुड के स्टार अभिनेताओं ने नसबंदी का संदेश दिया हो, मगर पुरुषों को कहानी फिल्मी ही लगी है। संदेश का उन पर कोई असर नहीं पड़ सका। महिलाओं ने नसबंदी में दिलचस्पी भी दिखाई है, साथ ही पुरुषों को पछाड़ा है।
नसबंदी में पुरुष फिसड्डी, चार साल में आधा फीसदी से भी कम आंकड़ा
नसबंदी में पुरुष फिसड्डी, चार साल में आधा फीसदी से भी कम आंकड़ा
पुरुषों में नसबंदी के प्रति नहीं दिखाई रुचि
स्वास्थ्य विभाग को वर्ष 2021-22 के लिए मिले निर्धारित लक्ष्य 4050 के मुकाबले जिले में केवल सात पुरुषों ने ही नसबंदी कराई है। पुरुष नसबंदी के प्रति रुचि नहीं दिखा रहे है। जबकि 4 हजार 123 महिलाओं ने नसबंदी कराई। यदि हम पिछले कुछ वर्षों के आंकड़ो पर नजर डाले तो उनमें में पुरुष फिसड्डी साबित रहे।
फैक्ट फाइल
वर्ष टारगेट केस पुरुष महिला
2018-19 4050 3459 07 3452
2019-20 4389 3863 14 3849
2020-21 4739 4186 03 4183
2021-22 4050 4129 06 4123
2018-19 में अब तक केवल 30 पुरुषों ने ही रुचि दिखाई
वर्ष 2018-19 से वर्ष 2021-22 तक केवल 30 पुरुषों ने ही नसबंदी में रूचि दिखाई है। पुरुषों के द्वारा नसबंदी नहीं कराए जाने को लेकर स्वास्थ्य विभाग के सामने पुरुषों में नसबंदी कराने के बाद कमजोरी होने की बात सामने आई है। पुरुषों के द्वारा रूचि नहीं दिखाए जाने पर स्वास्थ्य विभाग टारगेट पूरा नहीं कर पा रहा है।
इनका कहना है
पुरुष नसबंदी के प्रति कम जागरूक हैं। पुरुषों में कई तरह का भ्रम भी है, इसे दूर किए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं, ताकि नसबंदी के प्रति पुरुषों का रुझान बढ़ाया जा सके।
डॉ.ओपी वर्मा
डीएचओ व परिवार नियोजन अधिकारी, श्योपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने पर दिया बड़ा बयान, कहीं यह बातMaharashtra Political Crisis: शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा- उनके मंत्री वहां क्यों गएBypoll Result 2022: उपचुनाव में मिली जीत पर सामने आई PM मोदी की प्रतिक्रिया, आजमगढ़ व रामपुर की जीत को बताया ऐतिहासिकRanji Trophy Final: मध्य प्रदेश ने रचा इतिहास, 41 बार की चैम्पियन मुंबई को 6 विकेट से हरा जीता पहला खिताबअगरतला उपचुनाव में जीत के बाद कांग्रेस नेताओं पर हमला, राहुल गांधी बोले- BJP के गुड़ों को न्याय के कठघरे में खड़ा करना चाहिए'होता है, चलता है, ऐसे ही चलेगा' की मानसिकता से निकलकर 'करना है, करना ही है और समय पर करना है' का संकल्प रखता है भारतः PM मोदीKarnataka: नाले में वाहन गिरने से 9 मजदूरों की दर्दनाक मौत, सीएम ने की 5 लाख मुआवजे की घोषणाSangrur By Election Result 2022: मजह 3 महीने में ही ढह गया भगवंत मान का किला, किन वजहों से मिली हार?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.