scriptMP MLA's demand, Rajasthan CM accepted | मप्र विधायक की मांग, राजस्थान सीएम ने मानी | Patrika News

मप्र विधायक की मांग, राजस्थान सीएम ने मानी

मप्र राजस्थान सीमा के पूसैद गांव के निकट पुल बनाने की घोषणा

MP MLA's demand, Rajasthan CM accepted, news in hindi, mp news, sheopur news

श्योपुर

Published: November 17, 2021 10:40:40 pm

श्योपुर. श्योपुर विधायक बाबू जंडेल की मांग पर बुधवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलौत ने कोटा जिले के जोरावपुरा गांव में आयोजित कार्यक्रम में मंच से ही मप्र-राजस्थान सीमा पर पूसैद गांव के निकट नया पुल बनाने की घोषणा की। विशेष बात यह है कि इस कार्यक्रम में श्योपुर विधायक जंडेल ने न केवल मुख्यमंत्री गहलौत के साथ मंच साझा किया, बल्कि हेलीपैड पर पीपल्दा विधायक रामनारायण मीणा के साथ मुख्यमंत्री की अगवानी भी की।
मप्र विधायक की मांग, राजस्थान सीएम ने मानी
मप्र विधायक की मांग, राजस्थान सीएम ने मानी
हमारे पड़ोसी जिले कोटा की पीपल्दा तहसील के ग्राम जोरावरपुरा में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलौत प्रशासन गांवों के संग कार्यक्रम का जायजा लेने आए। इस दौरान श्योपुर विधायक बाबू जंडेल भी वहां पहुंचे और उन्होंने मप्र-राजस्थान के बीच बह रही पार्वती नदी पर पूसैद गांव के निकट पुल बनाने की मांग रखी। यही वजह रही कि जब मुख्यमंत्री गहलौत ने अपना संबोधन दिया तो न केवल इस पुल की घोषणा की, बल्कि कहा कि आज यहां आए श्योपुर के विधायक बाबू जंडेल जब वापस जाएंगे तो अपने क्षेत्र में बता सकेंगे कि मैं राजस्थान के सीएम कार्यक्रम में गया तो पुल की सौगात लेकर आया हूं।
गहलौत की इस घोषणा पर विधायक जंडेल ने मंच से ही उन्हें धन्यवाद दिया। विधायक जंडेल ने एक अन्य मांगपत्र भी सीएम गहलौत को दिया, जिसमें राजस्थान के अस्पतालों में श्योपुर के मरीजों को बेडचार्ज मुक्त करने और निशुल्क सुविधा देने की मांग रखी।
पुल से बड़ौदा क्षेत्र का इटावा-कोटा से सीधा जुड़ाव
पार्वती नदी का पुल बनने के बाद बड़ौदा बत्तीसा क्षेत्र के वाशिंदों का राजस्थान के इटावा क्षेत्र से सीधा जुड़ाव हो जाएगा और लगभग 40 से 50 किलोमीटर का लंबा फेर बचेगा। ये पुल श्योपुर जिले की सीमा में स्थित ग्राम रूंडी और राजस्थान के पीपल्दा तहसील में स्थित पूसैद गांव के सामने पार्वती नदी पर बनेगा। अभी बड़ौदा क्षेत्र के आधा सैकड़ा से अधिक गांवों के वाशिंदों को राजस्थान के पीपल्दा, इटावा और कोटा जाने के लिए के लिए श्योपुर-खातौली होकर या मांगरौल होकर जाना पड़ता है। लेकिन पुल बनने के बाद ललितपुरा से बिचगांवड़ी, पनवाड़, रूंडी होते हुए पूसैद, पीपल्दा और इटावा, कोटा निकल सकेंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Antrix-Devas deal पर बोली निर्मला सीतारमण, यूपीए सरकार की नाक के नीचे हुआ देश की सुरक्षा से खिलवाड़Delhi Riots: दिलबर नेगी हत्याकांड में हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, 6 आरोपियों को दी जमानतDelhi: 26 जनवरी पर बड़े आतंकी हमले का खतरा, IB ने जारी किया अलर्टUP Election 2022 : टिकट कटने पर फूट-फूटकर रोये वरिष्ठ नेता ने छोड़ी भाजपा, बोले- सीएम योगी भी जल्द किनारे लगेंगेपंजाबः अवैध खनन मामले में ईडी के ताबड़तोड़ छापे, सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर दबिशLeopard: आदमखोर हुआ तेंदुआ, दो बच्चों को बनाया निवाला, वन विभाग ने दी सतर्क रहने की सलाहइन सेक्टरों में निकलने वाली हैं सरकारी भर्तियां, हर महीने 1 लाख रोजगारमहज 72 घंटे में टैंकों के लिए बना दिया पुल, जिंदा बमों को नाकाम कर बचाई कई जान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.