scriptO ka poe hana e k nei i ka hoopai o ka palena, e uhi ana i ka mamao o | परिसीमन की सजा भुगत रहीं कार्यकर्ता, तय कर रही 40 किलोमीटर की दूरी | Patrika News

परिसीमन की सजा भुगत रहीं कार्यकर्ता, तय कर रही 40 किलोमीटर की दूरी

- नजदीकी परियोजना में शामिल करने के बजाएदो सेक्टरों को वीरपुर परियोजना से जोड़ा
- मामला विजयपुर परियोजना के पास के दो सेक्टरों का

श्योपुर

Published: January 11, 2022 11:09:21 am

विजयपुर
परियोजना के साथ सेक्टरों का विभाजन महिला एवं बाल विकास विभाग की कार्यकर्ताओं के लिए परेशानी का सबब बन गई है। दरअसल विजयपुर परियोजना के नजदीक होने के बाद भी दो सेक्टरों को 40 किलोमीटर दूर वीरपुर परियोजना से जोड़ दिया गया। इस कारण आंगनबाड़ी कार्यकर्ता दिक्कत में हैं।
जिन दो सेक्टर को विजयपुर परियोजना में होना चाहिए था उनको वीरपुर परियोजना में शामिल कर दिया गया। वीरपुर परियोजना के सेक्टर इकलोद और गढ़ी सेक्टर विजयपुर परियोजना से महज दस किलोमीटर के दायरे में हैं। इसके बाद भी इनको विजयपुर परियोजना के बजाए वीरपुर परियोजना जो चालीस किलोमीटर दूर है उससे जोड़ दिया गया है।
केन्द्र द्वारा किया जाता है परिसीमन
जनसंख्या एवं आंगनबाड़ी केंद्रों की संख्या के आधार पर केन्द्र प्रदेश सरकार की अनुशंसा पर भौतिक सत्यापन के लिए दल को भेजकर निरीक्षण भेजता है। फिर उनकी संख्या के आधार पर जहां सेक्टर की जरुरत होती है सेक्टर बनाते हैं और जहां परियोजना की जरुरत होती है परियोजना बनाने का प्रतिवेदन तैयार कर केन्द्र को रिपोर्ट देते हैं जिसके बाद सेक्टर स्थापित किए जाते हैं।
परिसीमन की सजा भुगत रहीं कार्यकर्ता, तय कर रही 40 किलोमीटर की दूरी
परिसीमन की सजा भुगत रहीं कार्यकर्ता, तय कर रही 40 किलोमीटर की दूरी
दूरी के चलते निरीक्षण से लेकर बैठक तक परेशानी
इकलोद और गढी सेक्टर ऐसे हैं जो वीरपुर परियोजना अधिकारी और पर्यवेक्षक को निरीक्षण के लिए पहले मुरैना जिले की सबलगढ परियोजना से निकलते हुए विजयपुर परियोजना पहुंचना पडता है उसके बाद वीरपुर परियोजना के सेक्टर में जाते है इसमें सबसे बड़ी परेशानी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को आवश्यक बैठक के दौरान होती है।
लांघनी पड़ती हैं तीन परियोजना
वीरपुर परियोजना का एक आंगनबाड़ी केन्द्र अनीदा ऐसी जगह पर है जिसके निरीक्षण के लिए वीरपुर परियोजना अधिकारी या पर्यवेक्षक को तीन परियोजना लांघनी पड़ती हैं। इसके लिए पहले वीरपुर फिर सबलगढ और उसके बाद विजयपुर परियोजना से होकर गुजरना पड़ता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Update in Delhi: दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेSSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाHowrah Superfast- हावड़ा सुपरफास्ट से यात्रा करने वाले यात्रियों को परिवर्तित मार्ग से करना पड़ेगा सफर, इन स्टेशनों पर नहीं जाएगी ट्रेनपूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.