आठ मार्च को टिकैत श्योपुर की किसान पंचायत में आएंगे


किसान महापंचायत के लिए राजस्थान के किसानों को भी न्योता

On March 8, Tikait will come to Sheopur's Kisan Panchayat, news in hindi, mp news, sheopur news

By: संजय तोमर

Published: 05 Mar 2021, 11:01 PM IST

श्योपुर. कृषि कानूनों के विरोध में आठ मार्च को श्योपुर में होने वाली किसान महापंचायत में न केवल जिले के किसानों को भागीदारी के प्रयास तेज हो गए हैं। राजस्थान के किसानों को भी न्यौता दिया जा रहा है। यही वजह है कि संयुक्त किसान मोर्चा के श्योपुर के प्रतिनिधि राजस्थान के तीन जिलों में जाकर संपर्क कर रहे हैं और वहां के किसानों को आमंत्रण भी दे रहे हैं।

श्योपुर के किसान नेताओं के अलग-अलग जिले के विभिन्न क्षेत्रों में तो संपर्क कर ही रहे हैं, साथ ही राजस्थान के सवाईमाधोपुर, कोटा और बारां जिले के बॉर्डर के इलाके के गांवों में लगातार संपर्क कर रहे हैं। किसानों के अलग अलग दल राजस्थान के इन तीनों जिलो के खंडार, बहरावंडा, इटावा, पीपल्दा, खातौली, मांगरौल, शाहबाद, किशनगंज, बारां, इलाकों के गांवों में पहुंचकर किसानों महापंचायत के लिए न्यौता दे रहे हैं। उल्लेखनीय है कि 8 मार्च को श्योपुर कृषि उपज मंडी में होने वाली किसान महापंचायत में भाकियू नेता राकेश टिकैत व कई राष्ट्रीय नेता आ रहे हैं।

किसानों को दबाने की कोशिश न करे :नरेश
किसान महापंचायत की तैयारियों के मद्देजनर किए जा रहे जनसंपर्क के तहत राजस्थान के युवा किसान नेता नरेश मीणा ने शुक्रवार को आधा दर्जन स्थानों पर किसान सभाएं की। इस दौरान उन्होंने संबोधित करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश की भाजपा की शिवराज सरकार किसानों को दबाने की कोशिश न करें, अन्यथा केंद्र सरकार से हमें मप्र सरकार से लड़ाई लडऩी पड़ेगी।

मीणा ने श्योपुर जिला मुख्यालय के साथ ही दांतरदा, भोगिका, ढोटी, ननावद, बांडीखेड़ा, ललितपुरा आदि में किसान सभाओं को संबोधित किया। इस दौरान मीणा का जगह-जगह स्वागत किया। सभी किसान सभाओं को संबोधित करते हुए मीणा ने कहा कि मध्यप्रदेश में यदि किसी भी किसान को सरकार ने परेशान किया तो हम श्योपुर की इस धरा से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के खिलाफ बिगुल फूंक देंगे।

संजय तोमर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned