सुरक्षित नहीं श्योपुर के पिकनिक स्पॉट

सुरक्षित नहीं श्योपुर के पिकनिक स्पॉट

jay singh gurjar | Updated: 10 Jul 2019, 08:23:22 PM (IST) Sheopur, Sheopur, Madhya Pradesh, India

सुरक्षित नहीं श्योपुर के पिकनिक स्पॉट
बारिश की शुरूआत के साथ ही पिकनिक स्पॉटों पर बढऩे लगी सुंदरता, लेकिन प्रशासन ने नहीं किए सुरक्षा के इंतजाम

श्योपुर,
सीप, कदवाल और अमराल नदियों से घिरे शहर श्योपुर में बारिश के दिनों के दौरान पिकनिक का दौर रहता है। हालांकि अभी इन पिकनिक स्थलों पर पानी की आवक कम होने के कारण सैलानियों की गहमा-गहमी शुरू नहीं हुई है, लेकिन आगामी दिनों में यहां अच्छी खासी रौनक होगी। बाजवूद इसके अभी तक इन पिकनिक स्पॉट्स पर सुरक्षा के कोई इंतजाम नजर नहीं आ रहे हैं, ऐसे में हादसों की आशंका बढ़ जाती है। इसकी बानगी दो दिन पूर्व ही देख चुके हैं, जब शहर के बंजारा डेम में एक आठ वर्षीय बालक की डूबने से मौत हो गई। यही नहीं पिछले वर्षों में शहर के मोर डूंगरी, नकच बालाजी, बंजारा डेम आदि स्थलों पर कई हादसे हो चुके हैं तो कई लोग नदी की लहरों में फंस चुके हैं।

मोर डूंगरी
विशेषता-शहर के शिवपुरी रोड स्थित कलक्ट्रेट के सामने बहने वाली अमराल नदी में मोरडूंगरी शहर का सबसे प्रमुख पर्यटन स्थल है। यहां श्रावण एवं भादौ मास के दौरान रविवार व सोमवार को सैलानियों की भीड़ उमड़ती है। यहां पिकनिक के लिए आने वाले यह लोग सपरिवार आते हुए सुबह से शाम तक डटे रहते हैं। इस वर्ष भी मोर डूंगरी पर अभी से चहल-पहल शुरू हो गई है जो आगामी सावन-भादौ के महीनों में काफी व्यस्ततम हो जाएगी।
सुरक्षा इंतजाम-यहां कई बार लोग डूब चुके हैं और बाढ़ में फंस चुके हैं, इन स्थितियों में फंसकर कई लोगों की जान भी जा चुकी है। लेकिन इसके बाद भी प्रशासन ने चेतते हुए अब तक मोर डूंगरी पर न तो केाई चेतावनी बोर्ड लगाया गया और न ही पर्यटकों के जाने की सीमा निर्धारित की गई है।

नकचा बालाजी स्टॉप डैम
विशेषताएं-शहर के स्टेडियम के पीछे स्थित अमराल नदी पर ही नकचा बालाजी स्टॉप डैम भी पर्यटकों का मुख्य आकर्षण का केंद्र है। यहां भी प्रतिवर्ष बारिश के मौसम के दौरान सैकड़ों सैलानी पिकनिक मनाने आते हैं और स्टॉप डैम से गिरते झरने और कल-कल करती अमराल नदी का लुत्फ लेते हैं।
सुरक्षा इंतजाम-इस स्थान पर भी नदी में अचानक से पानी का प्रवाह बढ़ जाने के चलते सैलानियों के उसमें फंस जाने एवं डूब जाने जैसे हालात निर्मित होते रहे हैं। बावजूद इसके अब तक इस पिकनिक स्पॉट की सुरक्षा को लेकर भी कोई अहतियाती कदम नहीं उठाए गए हैं।

हाथी टीला
विशेषताएं-शहर के निकट बगवाज क्षेत्र में कदवाल नदी पर स्थित एक और पर्यटन स्थल है हाथी टीला। यहां भी सैलानी एकांत में परिवार के साथ झरने रूपी नदी में नहाने एवं पिकनिक मनाने बढी तादात में आते हैं। यह स्थल भी बारिश के दिनों के दौरान सैलानियों की भारी आवक का गवाह बनता है।
सुरक्षा इंतजाम-शहर के एकांत में होने के कारण यहां हादसों की संभावना भी ज्यादा रहती है। विशेष बात यह है कि अमराल नदी की भांति ही कदवाल में भी पानी की आवक अचानक होती है, जिससे यहां कई बार हादसे हो चुके हैं, लेकिन प्रशासन ने इस ओर ध्यान देकर कदम नहीं उठाए हैं।

 

बंजारा डैम
विशेषता-शहर से बड़ौदा रोड की ओर जाने वाले रास्ते पर सीप नदी पर बना बंजारा डैम न केवल नदी पर पुलिया का काम करता है, बल्कि पर्यटन विभाग्र द्वारा यहां पर सुविधा विस्तारित करते हुए इसे एक अहम पर्यटन केन्द्र का स्वरूप भी प्रदान कर दिया है। हालांकि केंद्र तो बंद है, लेकिन बंजारा डेम की सुंदरता निहारने यहां बड़ी संख्या में सैलानी पहुंचते हैं।
सुरक्षा इंतजाम-प्रमुख पर्यटन केन्द्र बंजाराडैम पर सैलानियों की सुरक्षा को लेकर कोई इंतजामात नहीं है। अभी डेम ओवरफ्लो चल रहा है और नदी की गहराई भी है, बावजूद इसके यहां कोई चेतावनी बोर्ड या सुरक्षा के इंतजाम नहीं है। दो दिन पूर्व ही एक बालक यहां डूब गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned