जनसुरक्षा के लिए निषेधाज्ञा, घर से निकलने पर प्रतिबंध

- कोरोना संक्रमित मिलने पर कलेक्टर ने लिया फैसला
- तीन दिन जारी रहेगा कफ्र्यू, सिर्फ मेडिकल स्टोर्स खुलेंगे
- कोरोना संक्रमित के सात परिजनों को आईसोलेट किया गया
- कोरोना संक्रमित के संपर्क में आए डॉक्टर व अस्पताल के स्टाफ को भी क्वारेंटाइन किया

By: Anoop Bhargava

Published: 08 Apr 2020, 02:17 PM IST

श्योपुर
जिले में पहला कोरोना संक्रमित केस मिलने के बाद मंगलवार की रात १२ बजे से कलेक्टर प्रतिभा पाल ने निषेधाज्ञा(कफ्र्यू) लगा दिया है। कफ्र्यू के दौरान कोई भी घर से बाहर नहीं निकल सकेगा। सडक़ों पर फालतू घूमने वालों पर पुलिस सख्ती से निपटेगी। जिले की सीमा में न तो कोई वाहन आ सकेगा और न ही बाहर जा सकेगा। वहीं कोरोना संक्रमित मरीज के बंजारा डेम हसनपुर हवेली से तीन किलोमीटर का इलाका पूरी तरह सील कर दिया गया है। पुलिस ने पूरे इलाके को कब्जे में ले लिया है। कफ्र्यू १० अप्रैल तक जारी रहेगा।

शहर के बंजारा डेम हसनपुर हवेली निवासी ५३ वर्षीय व्यक्ति की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर प्रशासनिक अफसर हरकत में आए और मौके पर पहुंचकर कोरोना संक्रमित मरीज के आसपास रहने वाले लोगों को एआउंसमेंट कर संक्रमित मरीज के संपर्क में आने की जानकारी देने को कहा। साथ ही घरों से बाहर न निकलने की हिदायत दी। अनुविभागीय अधिकारी रुपेश उपाध्याय, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पीएल कुर्वे, एसडीओपी रामतिलक मालवीय सहित राजस्व अमला मौके पर पहुंचा। कोरोना संक्रमित के सात परिजनों को आईसोलेट करनेे के लिए एम्बुलेंस से अस्पताल ले जाया गया। उनके कॉन्टेट में आने वाले व्यक्तियों की सूचना कोई भी व्यक्ति कन्ट्रोलरूम को दे सकता है। जिससे उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा।
कोरोना संक्रमित के परिवार में ११ लोग, सात को आईसोलेट किया
कोरोना संक्रमित के परिवार में ११ लोग हैं। जिनमें से सात को एम्बुलेंस के जरिए जिला अस्पताल ले जाकर स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। सभी को आईसोलेट कर दिया गया है। इसके साथ ही तीन अन्य परिजन जो संक्रमित मरीज के साथ ग्वालियर है उनका परीक्षण वहां किया जाएगा। कोरोना संक्रमित की वैसे तो कोई ट्रेवल हिस्ट्री नहीं हैं लेकिन संक्रमित मरीज का बेटा २७ मार्च को इंदौर से श्योपुर आया था। फिलहाल प्रशासन मरीज की हिस्ट्री का पता लगाने में जुटा है।
मंगलवार को २४ सैंपल लिए, इनमें डॉक्टर, स्टाफ सहित १९ शामिल
कोरोना संक्रमित मिलने के बाद उसके संपर्क में आए जिला अस्पताल के डॉक्टर, स्टाफ सहित १९ के सैंपल मंगलवार को लिए गए। इसके साथ ही तीन अन्य के सैंपल भी लिए गए। इस तरह मंगलवार को कुल २४ सैंपल लिए गए। सभी सैंपल जांच के लिए डीआरडीई भेजे जाएंगे। कोरोना संक्रमित मरीज के संपर्क में आने वाले डॉक्टर व स्टाफ को होटल में क्वारेंटाइन किया गया है।
तीन होटल अधिग्रहित
एडीएम एसआर नायर के आदेश पर होटल पाम रेजीडेन्सी स्टेडियम के सामने, होटल सेल्टर, होटल साबरिया वायपास रोड को अधिग्रहित किया गया। होटल के सभी कमरों को सेनिटाइज करा दिया गया है। जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास ओपी पाण्डेय को होटल में आवश्यक व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
संपर्क हिस्ट्री तैयार करने अधिकारी, कर्मचारियों को किया तैनात
शहर के बंजारा डैम के आसपास का क्षेत्र सील कर दिया गया है। इस क्षेत्र से कोरोना संक्रमित की संपर्क हिस्ट्री तैयार करने के लिए अधिकारी कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। प्रभारी तहसीलदार बडौदा शिवराज मीणा, राजस्व निरीक्षक बडौदा दिव्यराज धाकड, श्योपुर टीएस लकडा, पटवारी योगेश जिदंल, हनुमान मेहरा, अपसरा अंसारी, नितेश मीणा, पूजा ठाकुर, प्रीति सिकरवार, दीवान सिहं बाजोरिया, अरविन्द गुप्ता, डोगर शर्मा, पुरूषोत्तम राठोर, महेन्द्र कोमोर, शिवचरण खरे, रामअवतार सुमन एंव माया शिवहरे की ड्यूटी लगाई गई है।
संक्रमित के घर सहित आसपास का क्षेत्र किया सेनेटाइज
बंजारा डेम हसनपुर हवेली निवासी एक कोरोना संक्रमित व्यक्ति के मिलने के बाद प्रशासन ने संक्रमित के घर सहित आसपास के इलाके को सेनेटाइज करा दिया है। नगर पालिका की टीम ने क्षेत्र को सेनेटाइज किया। इसके साथ ही संक्रमित के परिजनों को एम्बुलेंस के जरिए अस्पताल तक पहुुंचाया गया। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम पीपीई किट पहने हुए थी।
इनका कहना है
कोरोना संक्रमित मिलने के बाद जिले में निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है। जिस इलाके में संक्रमित निवास करता था वहां का इलाका सहित तीन किलोमीटर का क्षेत्र सील कर दिया गया है। संक्रमित के परिजनों का स्वास्थ्य परीक्षण कराने के साथ उन्हें आईसोलेट किया गया है।
प्रतिभा पाल
कलेक्टर, श्योपुर

Anoop Bhargava Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned