गांधी चौक से डावीपुरा तक की सडक़ का प्रपोजल खारिज

टैंटरा-धोविनी सडक़ का मेंटेनेंस 31 मार्च तक होगा पूरा
-एमपीआरडीसी एजीएम ने विकास मंच के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर दिया आश्वासन

By: Anoop Bhargava

Updated: 03 Jan 2020, 11:46 AM IST

श्योपुर/विजयपुर
विजयपुर विकास मंच के पदाधिकारियों के साथ गुरुवार को एमपीआरडीसी के अधिकारियों की बैठक हुई। जिसमें सडक़ का मेंटेनेंस कार्य 31 मार्च तक पूरा करने का आश्वासन एमपीआरडीसी के एजीएम सुनील पुआरे ने दिया। करीब एक घंटे चली बैठक में अन्य मुद्दों पर भी चर्चा हुई। उल्लेखनीय है कि यह बैठक न्यायालय में पीआईएल दायर किए जाने के चलते भी एमपीआरडीसी के अधिकारियों ने विकास मंच के पदाधिकारियों के साथ की।

पीआईएल के चलते न्यायालय से एमपीआरडीसी के अफसरों को फटकार भी लग चुकी है। सडक़ को लेकर 6 जनवरी को एमपीआरडीसी को न्यायालय में जबाव देना है। इसलिए एमपीआरडीसी के अफसरों ने विकास मंच के साथ बैठक कर मेंटेनेंस का काम 31 मार्च तक पूरा करने का भरोसा दिलाया। बैठक में विकास मंच के ललितमोहन शर्मा, आरसी गुप्ता, एडवोकेट विनोद शर्मा, बीएल शिवहरे, एमपीआरडीसी के एजीएम सुनील पुआरे उपस्थित थे।
गांधी चौक से डावीपुरा तक की सडक़ का प्रपोजल खारिज
बंधपुरा से गांधीचौक तक फोरलेन का काम तेजगति से चल रहा है, लेकिन गांधीचौक से डावीपुरा तक की सडक का प्रपोजल शासन ने खारिज कर दिया है। यह बात उस दौरान सामने आई जब विकास मंच के साथ एमपीआरडीसी के बैठक चल रही थी।डावीपुरा तक सडक़ नहीं बनने से लोगों को आवागमन ने असुविधा का सामना करना पड़ेगा। गांधीचौक से डीवीपुरा तक सवा दो किलोमीटर सडक़ बनना थी। गांधीचौक से डीवीपुरा तक लगभग 10 करोड़ का प्रपोजल था। बताते हैं कि शासन ने बजट का अभाव बताकर प्रस्ताव खारिज किया।

Anoop Bhargava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned