पाली पुल के धंसकने की अफवाह से मचा हडक़ंप

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने से फैली अफवाह, सामरसा चौकी प्रभारी बोले झूठी है पुल धंसकने की बात, रात को चार बार पुल को घूमकर देखा

दांतरदा/श्योपुर. मध्यप्रदेश और राजस्थान की सीमा पर स्थित चंबल नदी पर बने पाली पुल के धंसकने की अफवाह से जिले में हडक़ंप मच गया। वहीं पुलिस भी रातभर चकरघिन्नी रही, लेकिन पुल के धंसकने की बात अफवाह निकली। सामरसा चौकी प्रभारी ने पुल धंसकने की खबर मिलने पर रात को पाली पुल को चार बार घूमकर देखा, लेकिन पुल न तो कहीं से धंसका था और न ही कहीं से टूटा था।
श्योपुर-सवाईमाधोपुर हाइवे पर सामरसा चौकी के नजदीक चंबल नदी पर पाली पुल बना है। यह पुल श्योपुर जिले को दिल्ली सहित राजस्थान के सवाईमाधोपुर, टोंक, दौसा, अलवर, करौली, जयपुर सहित अन्य कई शहरों से जोड़ता है, लेकिन मंगलवार की देर शाम को पाली पुल के धंसकने की अफवाह फैल गई, जो बुधवार की दोपहर बाद तक भी बनी रही। सोशल मीडिया पर किसी युवक द्वारा पाली पुल के धंसकने संबंधी वीडियो वायरल कर दिया। जबकि वायरल वीडियो किसी दूसरी नदी के पुल का था। मगर वीडियो वायरल होते ही श्योपुर जिले सहित राजस्थान के सवाईमाधोपुर जिले में भी हडक़ंप मच गया। पुल धंसकने की खबर को लेकर सामरसा चौकी पुलिस भी रातभर चकरघिन्नी बन रही। रात को सामरसा चौकी प्रभारी सुमेर सिंह धाकड़ ने पुलिस टीम के साथ चार बार पुल को जाकर चेक किया। वहीं बुधवार की सुबह राजस्थान की खंडारा थाना पुलिस भी पुल को चेक करने के लिए पहुंची। मगर पुलिस की पड़ताल में पुल के धंसकने की बात झूठी निकली।
वर्जन
पुल धंसकने की सूचना मिलने के बाद मैंने रात को चार बार पुल को जाकर चेक किया। पुल धंसकने की बात पूरी तरह झूठी है। इस तरह की अफवाहों पर ध्यान देने की जरूरत नहीं है।
सुमेर सिंह धाकड़, चौकी प्रभारी सामरसा ,मप्र
वर्जन
पाली पुल के धंसकने की सूचना पर हमने भी पुल को चेक कराया। मगर पुल धंसकने की बात कोरी अफवाह है।
भरत सिंह, थाना प्रभारी, खंडारा राजस्थान

महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned