नगर परिषद क्षेत्र में नियम कायदे ताक पर, मकान, दुकान और नल कनेक्शन तक में अवैध

- विजयपुर में बिना डायवर्सन, पंजीयन के चल रहा खेल, जिम्मेदार मौन
- नगर परिषद को हर साल लाखों रुपए के राजस्व की हो रही क्षति

By: Anoop Bhargava

Published: 17 Mar 2021, 09:52 PM IST

विजयपुर
नगर परिषद क्षेत्र में नियम कायदों को ताक पर रखकर बिना डायवर्सन और नक्शा पास कराए धड़ल्ले से आवासीय तथा व्यावसायिक भवनों का निर्माण हो रहा है। वहीं अवैध नल कनेक्शन के साथ बिना पंजीयन और लाइसेंस के खाद्य पदार्थों की दुकान संचालित हो रही हैं। 80 फीसदी दुकान बिना पंजीयन और लाइसेंस के बिना संचालित हैं। महज 20 फीसदी के पास ही पंजीयन और लाइसेंस हैं। इससे एक तरफ नगर परिषद व शासन को हर साल लाखों रुपये के राजस्व की क्षति हो रही है, वहीं दूसरी ओर अनियोजित भवन निर्माण के कारण कस्बे की सूरत खराब हो रही है। बावजूद इसके नगर परिषद और प्रशासन अवैध तरीके से काम करने वालों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर पा रहा है।
हालात यह है कि नियम निर्देशों के ताक पर रखकर बनाए जा रहे भवनों के कारण नगर की चौड़ी सडक़ें और गलियां तंग होती जा रही हैं। नगर परिषद के जिम्मेदार अधिकारी और कर्मचारियों को बिना अनुमति और मनमाने तरीके से हो रहे निर्माण को रोकने के लिए फुर्सत ही नहीं है। स्थिति यह है कि वर्तमान में अधिकांश भवन रजिस्ट्री की तय सीमा से अधिक में बन रहे हैं। जलनिकासी के लिए बनाई गई नालियां भी कवर्ड हो रही हैं।
राजस्व की हर साल होती है हानि
अधिकारियों की अनदेखी के कारण जहां नगर परिषद को राजस्व का नुकसान हो रहा है। वहीं बस्तियां भी बदसूरत हो रही हैं। नगर परिषद के जिम्मेदार अधिकारी और कर्मचारी कार्रवाई के लिए हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं। नगर परिषद के पास काफी स्टाफ भी है। स्थिति यह कि लोगों को पंचनामा नोटिस तक नहीं दिए जा रहे हैं। यही वजह है कि नगर में अवैध नल कनेक्शन, बिना पंजीयन के दुकान और मेडिकल स्टोर तक संचालित हो रहे हैं। इन पर भी खाद्य औषधि प्रशासन कार्रवाई नहीं कर पा रहा है।
फैक्ट फाइल
बिना पंजीयन मेडिकल दुकान- 15
झोलाछाप डॉक्टर: 50

डायवर्सन के मकान - 2000
बिना डायवर्सन मकाम - 4000

वैध नल कनेक्शन - 1800
अवैध नल कनेक्शन - 4000

किराना दुकान: 220
होटल - &5
तेल मिल - 20
घी की दुकान - 10
चिलर प्लांट - 2
दूध डेयरी बडी - 10
दूध डेयरी छोटी - 25

वर्जन
अगर ऐसा है तो संबंधित विभागों को कार्रवाई के लिए कहा जाएगा। जहां तक बिना पंजीयन के दुकानों के संचालन की बात है तो लोगों को अ‘छा सामान मिले मिलावट का नहीं इसके लिए हम संबंधित विभाग को कार्रवाई के लिए लिखेंगे।
विनोद सिंह
एसडीएम, विजयपुर

Anoop Bhargava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned