राजस्थान के सवाईमाधोपुर प्रशासन ने श्योपुर के मरीजों के उपचार पर लगाई रोक!

सवाईमाधोपुर के सीएमएचओ ने जारी किया अजीब आदेश,अपने डॉक्टरों को पाबंद करते हुए लिखा श्योपुर के लोगों को उपचार के लिए न बुलाएं

By: jay singh gurjar

Published: 05 May 2021, 09:01 PM IST

श्योपुर,
कोरेाना महामारी के दौर में राजस्थान के सवाईमाधोपुर जिले के अफसरों ने श्योपुर जिले के मरीजों के आने पर रोक लगा दी है। इसके लिए सवाईमाधोपुर के सीएमएचओ द्वारा एक अजीब आदेश जारी किया है, जिसमें उन्होंने अपने यहां के डॉक्टरों को पाबंद करते हुए कहा है कि श्योपुर के लोगों को उपचार के लिए न बुलाएं और केवल वीडियो कॉल या वर्चुअल तरीके से ही उपचार करें।

सवाईमाधोपुर सीएमएचओ डॉ. कैलाश सोनी ने जिला अस्पताल सवाईमाधेापुर के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी और खंड चिकित्सा अधिकारियों केा जारी किए गए आदेश में लिखा है कि कलेक्टर सवाई माधोपुर द्वारा मध्यमप्रदेश के मरीजों के संबंध निर्देश दिए गए हैं कि सवाई माधोपुर जिले के राजकीय और निजी चिकित्सालयों के चिकित्सक मध्यप्रदेश से आने वाले मरीजों का भी ईलाज करते हैं, जो कि श्योपुर और उसके आसपास के इलाकों के रहने वाले है। ऐसी स्थिति में यह मरीज मध्य प्रदेश से बिना आरटी-पीसीआर राजस्थान में आकर राज्य सरकार की गाइडलाइंस का उल्लंघन करते हैं। पाली ब्रिज तथा बहरावडा खुर्द चेक पोस्ट पर इनकी गाड़ी को सीज किया जाता है तो इनको काफी कठिनाई होती है तथा मानवीय आधार पर इन इनको वापस भेजना पड़ता है। ऐसे में आपको निर्देशित किया जाता है कि आपके अधीन (राजकीय/निजी) कार्यरत चिकित्सकों को पाबंद करें कि वे मध्यप्रदेश से किसी भी मरीज को व्यक्तिगत रूप से जिले में नहीं बुलाए बल्कि वर्चुअल तरीके से या वीडियो कॉल के माध्यम से या दूरभाष के माध्यम से उनका इलाज करें।


इस संबंध में अपनी बात स्पष्ट करते हुए सीएमएचओ डॉ.सोनी का कहना है कि हमने श्योपुर के लेागों के इलाज करने पर रोक नहीं लगाई है, बल्कि ये कहा है कि वहां के लोगों को 72 घंटे पूर्व की आरटी-पीसीआर की रिपोर्ट दिखाने के बाद ही बॉर्डर से जिले में प्रवेश दिया जाए।

jay singh gurjar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned