ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर के क्लीनिक पर इलाज के लिए पहुंचे किशोर से तोड़ा दम

- ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर को परिजनों ने ठहराया बच्चे की मौत का जिम्मेदार
- थाना कराहल में एफआइआर दर्ज कराने को लेकर अड़े, विधायक सीताराम आदिवासी भी पहुंचे थाने

By: Anoop Bhargava

Updated: 21 Jul 2021, 10:34 AM IST

कराहल
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कराहल के ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉ.राजेन्द्र प्रजापति के करियादेह तिराहा पर स्थित क्लीनिक पर इलाज़ के बाद 17 वर्षीय किशोर ने दमतोड़ दिया। किशोर की मौत से गुस्साए परिजनों ने न केवल डॉ. प्रजापति को मौत का जिम्मेदार ठहराया बल्कि क्लीनिक पर बैठे डॉ. प्रजापति को घेर लिया। किसी तरह बचते-बचाते बीएमओ डॉ.प्रजापति थाने पहुंचे। परिजन भी कराहल थाना पहुंच गए और हंगामा किया। परिजन डॉ.प्रजापति पर एफआइआर दर्ज करने की मांग कर रहे थे। जानकारी लगने पर क्षेत्रीय विधायक सीताराम आदिवासी कराहल थाना पहुंच गए। विधायक ने परिजनों को समझाने की कोशिश की।
बताते हैं कि चारो खंभा निवासी 17 वर्षीय संजय पुत्र रामप्रसाद उर्फ तेजा गुर्जर को मंगलवार को बीएमओ डॉ. प्रजापति के निजी क्लीनिक पर परिजन बुखार आने पर दिखाने आए थे। इस दौरान संजय को मल्टीविटामिन एनएस बोतल चढ़ाई गई। इसके बाद उसे स्वास्थ्य लाभ मिला तो परिजन उसे घर लेकर चले गए। घर पर जब उसकी तबीयत बिगडऩे लगी तो संजय को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भर्ती कराया गया। जहां से उसे श्योपुर रैफर कर दिया गया। लेकिन कराहल से दो किमी निकलने के बाद किशोर की मौत हो गई। मौत से गुस्साए संजय के पिता ने बीएमओ के क्लीनिक पर शव लाकर बीएमओ को घेर लिया।
बीएमओ ने कहा पीलिया के साथ खून की कमी थी बच्चे को
ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉ. राजेन्द्र प्रजापति ने परिजनों द्वारा लगाए गए आरोपों को नकारते हुए कहा कि बच्चे को पीलिया के साथ खून की कमी थी इसके साथ ही उसे बुखार आ रहा था। प्रारंभिक इलाज देने के बाद बच्चे की स्थिति गंभीर होने पर उसे श्योपुर रैफर कर दिया था। लेकिन परिजन उसे श्योपुर नहीं ले गए।इसके बाद बालक की तबीयत बिगड़ी तो उसे कराहल में भर्ती कराया गया जहां डॉ.सौरभ कुशवाह ने उसे ऑक्सीजन लगाकर श्योपुर रैफर कर दिया। लेकिन श्योपुर पहुंचने से पहले ही उसने दमतोड़ दिया।
इनका कहना है
20-25 दिन से परिजन बच्चे का इलाज किसीझोलाछाप डॉक्टर से करा रहे थे। जब परिजन मेरे पास पहुंचे तो बच्चे की स्थिति गंभीर थी। मैंने उसे जिला अस्पताल श्योपुर ले जाने को कहा, लेकिन परिजन राजी नहीं हुए। मंैने अपना फर्ज निभाते हुए बालक को एनएस बोतल, मल्टीविटामिन लगा दिया। आराम मिलने पर परिजन उसे घर ले गए लेकिन जब वहां तबीयत बिगड़ी तो कराहल अस्पताल लेकर आए जहां डा. सौरभ कुशवाह ने जांच में पाया कि उसे खून की कमी के साथ पीलिया व बीपी लो आ रहा था।
राजेन्द्र प्रजापति
बीएमओ, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कराहल

पैनल से कराया पोस्टमार्टम
मर्ग कायम कर डॉक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम कराया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पोस्टमार्टम रिपोट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।
ऋतुराज सिंह कुशवाह
थाना प्रभारी कराहल

Anoop Bhargava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned