ट्रांसपोर्टर और वेयरहाउस प्रबंधक में तू-तू-मैं-मैं, हंगामा

शहर के शिवपुरी रोड सेंट्रल वेयरहाउस का मामला, नॉन कमर्शियल ट्रैक्टर-ट्रॉली में गेहूं उठाव को लेकर हुआ विवाद

श्योपुर. शहर के शिवपुरी रोड स्थित सेंट्रल वेयरहाउस के गोदाम पर मंगलवार को जमकर हंगामा हुआ और एक ट्रांसपोर्टर और वेयरहाउस प्रबंधक के बीच जमकर तू-तू-मंै-मैं हुई। हालांकि अन्य लोगों की समझाइश के बाद मामला शांत हो गया, लेकिन एक नॉन कमर्शियल ट्रैक्टर-ट्रॉली में गेहूं उठाव किए जाने को लेकर ट्रांसपोर्टर ने आपत्ति जताई और इसी बात को लेकर दोनों में बहस हुई।
बताया गया है कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दुकानों पर खाद्यान्न पहुंचाने के लिए द्वार प्रदाय योजना का टेंडर हनुमान ट्रांसपोर्ट कंपनी श्योपुर द्वारा लिया गया है। ट्रांसपोर्टर द्वारा श्योपुर सेक्टर में वेयरहाउस से खाद्यान्न पहुंंंचाया जाता है। मंगलवार को शिवपुरी रोड रेस्टहाउस के सामने स्थित सेंट्रल वेयरहाउस के गोदाम पर एक ट्रैक्टर-ट्रॉली में गेेहंू के कट्टे रखे हुए और धर्मकांटे पर तुलता हुआ दिखा तो ट्रांसपोर्ट संचालक त्रिलोकचंद गर्ग ने इस पर वेयरहाउस प्रबंधक के समक्ष आपत्ति दर्ज कराई और कहा कि जब हमारे नॉन कमॢशयल ट्रैक्टर को यहां से माल उठाने की अनुमति नहीं देते हो तो फिर इस ट्रैक्टर में कैसे माल ले जाया रहा है। इस पर प्रबंधक बीआर जाट ने कहा कि ये दीनदयाल रसोई योजना के लिए गेहूं जा रहा है और सरकारी उपयोग का है, लिहाजा इस प्रकार उठाव किया जा सकता है। इसी बहस के दौरान बात बढ़ गई और दोनों में जमकर तू-तू-मैं-मैं हो गई। हालांकि इस दौरान लोगों की समझाइश पर मामला शांत हो गया, लेकिन ट्रांसपोर्टर का कहना था कि हम जिला प्रशासन से लिखवा भी लाए हैं, उसके बाद भी हमारे ट्रैक्टर-ट्रॉली पर तमाम तरह के कागज मांगे जाते हैं, जबकि आज बिना कमर्शियल वाले ट्रैक्टर पर क्षमता से ज्यादा गेहूं के कट्टे भरकर निकाल दिया गया।
वर्जन
ट्रांसपोर्टर ने द्वार प्रदाय योजना का ठेका लिया है, उसमें ट्रक के नंबर दिए हैं। फिर भी हमने उन्हें कह दिया है कि कमर्शियल परमिट का टै्रक्टर-ट्रॉली हो तो माल ले जा सकते हैं। आज दीनदयाल रसोई का गेहूं ट्रैक्टर में जा रहा था, उसी पर ट्रांसपोर्टर ने हमारे साथ गाली-गलौच शुरू कर दी।
बीआर जाट, प्रबंधक, सेंट्रल वेयरहाउस शिवपुरी रोड श्योपुर

शहर में कुछ दुकानें ऐसी हैं, जहां ट्रक नहीं पहुंचता, लिहाजा हम ट्रैक्टर-ट्रॉली से माल पहुंचाते हैं। हम जिला प्रशासन से लिखवाकर ले आए हैं, उसके बाद भी वेयरहाउस प्रबंधक द्वारा तमाम नियम बताए जाते हैं और आज बिना कमॢशयल वाले ट्रैक्टर में गेहूं दिया जा रहा था, इसी पर हमने आपत्ति दर्ज कराई, लेकिन प्रबंधक ने हमें बाहर निकलने की बात कही।
त्रिलोकचंद गर्ग, संचालक, हनुमान ट्रांसपोर्ट कंपनी श्योपुर

Show More
महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned