केंद्रीय मंत्री तोमर कूनो पर एक शब्द नहीं बोले!

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के नागरिक अभिनंदन कार्यक्रम में कांग्रेसी विधायक भी रहे मौजूद
मांगपत्र सौंपा और रखी मांगें, लेकिन कूनो में शेरों की बात पर मौन साध गए तोमर
मेडिकल कॉलेज की सौगात मिलने पर प्रबुद्ध नागरिक परिषद ने किया केंद्रीय मंत्री का नागरिक अभिनंदन

श्योपुर. केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर रविवार को एक दिवसीय दौरे पर श्योपुर आए। इस दौरान उन्होंने जहां कई कार्यक्रमों में शिरकत की, वहीं दो दिन पूर्व आनन-फानन में गठित प्रबुद्ध नागरिक परिषद ने श्योपुर में मेडिकल कॉलेज की स्वीकृति पर उनका नागरिक अभिनंदन किया। विशेष बात ये रही कि कार्यक्रम में कांग्रेसी विधायक बाबू जंडेल भी मौजूद रहे, जिन्होंने अपने संबोधन में अन्य मांगों के साथ ही कहा कि मंत्रीजी हमें तो कूनो नेशनल पार्क में एशियाई सिंह चाहिए, लेकिन केंद्रीय मंत्री ने अपने संबोधन में अन्य मांगों के बारे में तो कुछ न कुछ बोला, लेकिन कूनो में शेरों को लेकर एक शब्द नहीं बोले।
गुलंबर चौक पर आयोजित नागरिक अभिनंदन समारोह में तोमर को जिले की मांगों का मांगपत्र सौंपा। इस दौरान श्योपुर विधायक बाबू जंडेल ने अपने संबोधन में कहा कि हमारे सांसद और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मेडिकल कॉलेज की सौगात दिलाई ये अच्छी बात है, लेकिन कूनो नेशनल पार्क तैयार है, जिसमें गिर के एशियाई सिंह आने हैं, जो आने ही चाहिए और आप इसे ला सकते हो। इसके साथ ही जंडेल ने श्योपुर में धान मिल, कृषि कॉलेज, खेतों के लिए सड़़क आदि की मांग रखी। जंडेल ने कहा कि आप भी एक नंबर सीट से सांसद और मैं भी एक नंबर सीट से विधायक हूं। आपके पास ताकत है, लिहाजा कूनो में सिंह लाएं। इसके बाद केंद्रीय मंत्री तोमर ने अपने संबोधन में कूनो में शेर लाने की मांग पर तो मौन साध लिया, लेकिन उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज की स्वीकृति में मैं यदि कहीं भी निमित्त हूं, तो ये मैंने श्योपुर की जनता पर कोई अहसान नहीं किया, बल्कि मैंने अपने धर्म का पालन किया है। तोमर ने कहा कि आप मांग करो न करो, लेकिन काम करना हम सांसद और विधायकों की जिम्मेदारी है। तोमर ने कहा कि मैंने चुनावों के समय भी ऐसा कोई वचन नहीं दिया जो पूरा नहीं किया जा सके, लेकिन जो काम किया जा सकता है, उसमें कोई कंजूसी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज स्वीकृत हो गया है और आगामी बजट आने वाला है, जिसमें राशि भी स्वीकृत हो जाएगी, जिसके बाद काम भी शुरू हो जाएगा। इसके अलावा उन्होंने धान और गन्ना प्लांटों की मांग को लेकर कहा कि इन्हें सरकार नहीं खोलती, लेकिन कोई व्यापारी या कंपनी बनाकर खोलना चाहे तो मैं उसमें पूरा सहयोग करूंगा। हालांकि उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से धान की फसल की बजाय किसानों को सरसों व अन्य तिलहनी फसलें करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि देश में तेल की कमी है और बाहर से आयात करना पड़ता है, जबकि चावल मांग से कई गुना ज्यादा उत्पादित होता है, जिसके रखने की जगह नही है। इसलिए किसान फसलें परिवर्तन पर ध्यान दें।

विधायक सीताराम बोले-सोते रहते हैं मुख्यमंत्री

इससे पहले कार्यक्रम में विजयपुर के भाजपा सांसद सीताराम आदिवासी ने अपने क्षेत्र में बेरोजगार और पलायन की समस्या रखी और बड़ा उद्योग धंधा खोलने की मांग की। साथ ही प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि ये सरकार झूठ पर टिकी है और इनका मुख्यमंत्री सोता रहता है।

ये भी रहा खास-खास
अभिनंदन समारोह में विधायक जंडेल जब अपनी बात रख रहे थे तो आयोजकों ने उन्हें बीच में रोकते हुए समयाभाव बताकर भाषण खत्म करने को कहा, जो चर्चा का विषय रहा।
अभिनंदन समारोह में कार्यक्रम की भूमिका में ही मंच संचालक ने बीच-बीच में इतना समय ले लिया कि मौजूद लोग उठकर चल दिए, जिससे तोमर के संबोधन से पहले ही भीड़ छंट गई।
अभिनंदन समारोह के बाद केंद्रीय मंत्री तोमर ने बायपास रोड पर स्थित केंद्रीय विद्यालय के नवीन भवन का लोकार्पण किया। हालांकि यहां विद्यालय शिक्षण सत्र प्रारंभ होने के समय ही शिफ्ट हो गया था। केंद्रीय विद्यालय भवन लगभग 10 करोड़ की लागत से बना है।

Show More
महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned