12 गांव के ग्रामीणों का रास्ता रोक रहा जलभराव

इधर कराहल की आदिवासी बस्ती में भी जलभराव की समस्या
दांतरदा और कराहल कस्बे में निवासरत लोग परेशान

श्योपुर. दांतरदा से मानपुर होते हुए ऊंचाखेड़ा पहुंच मार्ग पर जलभराव होने से 12 गांव के रहवासी परेशान हैं। मार्ग पर जलभराव की स्थिति रहने से ग्रामीणों को निकलने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में इस समस्या के समाधान को लेकर जिम्मेदार चुप्पी साधकर बैठे हुए हैं। ऐसा नहीं है कि ग्रामीणों ने इसकी शिकायत नहीं की। शिकायत के बाद भी अब तक न तो जनप्रतिनिधियों ने इसकी सुध ली न ही जिम्मेदार अफसरों ने, ऐसे में ग्रामीणों को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।


सड़क पर आने वाला नालियों का पानी इस समस्या की वजह है। पंचायत भी इस समस्या को लेकर गंभीर नहीं है। ऐसे में ग्रामीणों को रोजाना सड़क पर जलभराव व कीचड़ से होकर गुजरना पड़ता है। ग्रामीणों का कहना है कि जलभराव के कारण कीचड़ होने से फिसलन बढ़ गई है, जिससे न केवल पैदल निकलने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है, बल्कि दो पहिया वाहन चालकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। फिसलन होने से दो पहिया वाहन चालक गिरकर चोटिल हो जाते हैं। ग्रामीण जलभराव की समस्या के समाधान को लेकर पंचायत व प्रशासनिक अफसरों को शिकायत कर चुके हैं, लेकिन समस्या का समाधान अब तक नहीं हो सका।


बरसात में बढ़ जाती है समस्या


बरसात के दिनों में इस रास्ते निकलना न केवल खतरे से कम नहीं, बल्कि निकलना ही बंद हो जाता है। इस रास्ते से करीब 12 गांव के लोग गुजरते हैं। इसके बाद भी रास्ते पर होने वाले जलभराव को खत्म करने को लेकर अब तक कोई प्रयास नहीं किए गए। पिछले कई सालों से यह समस्या बनी हुई है। इससे दांतरदा, ऊंचाखेड़ा, बिचपुरी, तलावदा, आवनी, जवासा, सिरसोद, जैनी मानपुर सहित अन्य गांव के ग्रामीण परेशान हैं।


इधर कराहल की बस्ती के मुख्य मार्ग में जलभराव


कराहल कस्बे के बड़ी कॉलोनी आदिवासी बस्ती के मुख्य मार्ग की सीसी सड़क पर जल निकासी नहीं होने से पिछले दो साल से जलभराव की समस्या बनी हुई है। हाईवे सड़क होने के कारण जल निकासी का प्रबंध नहीं है नाली निर्माण को लेकर कई बार बस्ती के लोग मांग कर चुके हैं, बावजूद इसके कुछ नहीं हुआ। जलभराव के कारण बरसात में बस्ती के घरों में गंदा पानी भर जाता है। ग्राम पंचायत को कई बार लिखित आवेदन दिए गए, लेकिन जल निकासी के लिए कोई प्रबंध नहीं किए जा सके।


जलभराव से होती है दिक्कत


सीसी सड़क पर पानी भरे होने से रहवासियों को निकलने में परेशानी में का सामना करना पड़ता है। बाइक फिसलकर कई बार गिरने से हादसे हो जाते हैं, वहीं पास में कॉलोनी के लिए एक अन्य मार्ग में भी पानी भरा होने से परेशानी ज्यादा है। ग्राम पंचायत को बीते दो साल से बस्ती के रहवासियों ने आवेदन देकर जल निकासी की समस्या से अवगत कराया। मगर पंचायत सचिव सरपंच जलभराव की समस्या का समाधान नहीं कराया गया।

बस्ती के लोगों की शिकायत पर मौका मुयाअना किया गया था, लेकिन जलभराव का पानी निकालने के लिए जगह नहीं होने से दिक्कत आ रही है। ऐसे में पानी कहां निकालें, रमणा नाला तक एक किमी की नाली निर्माण के लिए पत्र लिख रहे हैं। अगर एक किमी की स्वीकृति नहीं हुई तो 100 मीटर नाली कराएंगे।
पूरन सिंह मीणा, सचिव, ग्राम पंचायत कराहल

Show More
महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned