11वीं व 12वीं दोनों कक्षाओं का एक ही पेपर

माध्यमिक शिक्षा मंडल का कारनामा, कॉमर्स के छात्र काफी देर तक होते रहे परेशान

 

By: shyamendra parihar

Published: 09 Dec 2017, 10:59 PM IST


शिवपुरी. प्रदेश भर में चल रही हाईस्कूल एवं हायर सेकंडरी स्कूल की अद्र्ध वार्षिक परीक्षाओं में शनिवार को माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल ने 11 वीं के छात्रों 12 वीं का पेपर भेज दिया। जब पेपर बच्चों को बंट गए तब इसका पता चला तो काफी देर तक अफरा तफरी का माहौल बना रहा। इसके बाद बोर्ड को इसकी सूचना दी गई और फिर नया पेपर आया जिसे बच्चों को वितरित किया गया। जानकारी के अनुसार शनिवार को कक्षा 11 व 12 का अकाउंट का पेपर था। उक्त दोनों परीक्षाओं को संपादित कराने के लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल ने स्कूलों को ऑनलाइन पेपर भिजवाए थे। निर्धारित समय पर बच्चो को पेपर वितरित कर दिया गया, परंतु जब 11 वीं के बच्चों ने पेपर पढ़ा तो वह चौंक गए, क्योंकि उनके पेपर में जो प्रश्न पूछे गए थे। वह प्रश्न उनके क्लास के न होकर 12 वीं के प्रश्न थे। 11 वीं के छात्रों की शिकायत पर जब पेपर मिलाया गया तो पता चला कि कक्षा 11 व 12 दोनों ही कक्षाओं में एक ही प्रश्न पत्र आया है। इस घटना के जानकारी में आते ही विभाग में अफरा तफरी की स्थिति निर्मित हो गई। जिम्मेदार अधिकारियों को इस बात से अवगत कराया गया, तो उन्होंने बोर्ड ऑफिस इस बात की जानकारी भिजवाई। इसके बाद बोर्ड ऑफिस ने 11 वीं का दूसरा पेपर अपलोड किया, जिसका प्रिंट आउट बच्चों को दिया गया। बताया जा रहा है कि इस पेपर को सॉल्व करने के लिए बच्चों को अतिरिक्त समय भी दिया गया।
छात्रों से वापस लिए पेपर
जब स्कूल प्रबंधनों को इस बात की जानकारी लगी की ११वीं के प्रश्न पत्र में १२वीं के प्रश्न पूछे गए हैं तो उन्होंने बच्चों से वह पेपर तत्काल वापस ले लिए ताकि यह बात लीक न हो सके। इसके अलावा बच्चों को गुमराह करने की मंशा से यह भी कहा गया कि यह गलती से हो गया। कई स्कूलों में बच्चों को यह बात किसी से न करने की हिदायत भी दी। इसके चलते कई स्कूली बच्चों ने भी पहचान उजागर न करने की शर्त पर इस बात की पुष्टि की कि, पहले हमें जो पेपर दिया गया था उसमें १२वीं के प्रश्न थे। नाम उजागर न करने की शर्त पर कुछ स्कूलों के प्राचार्यों ने भी इस बात को स्वीकार किया कि पेपर में गलती हुई है।
ऊपर से तो प्रश्न पत्र सही आया है, अगर आप बता रहे हैं कि स्कूलों में कक्षा 11 व 12 का पेपर में एक ही प्रश्न आए हैं तो मैं दिखवा लेता हूं कि ऐसा किस कारण से हुआ है। भोपाल से तो पेपर सभी स्कूलों को भिजवाए जाते हैं मैं पता करता हूं क्या सभी जगह ऐसे ही पेपर आए हैं क्या।
परमजीत सिंह गिल, डीईओ शिवपुरी

छात्रों ने किया फिजिक्स के पेपर का बहिष्कार
शिवपुरी. शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय क्रमांक-२ में पीरियड न लगने से तैयारी न लहोने के कारण शुक्रवार को छात्रों ने पेपर का बहिष्कार कर दिया। जब छात्रों ने शिक्षक न होने को लेकर स्कूल के प्रिंसिपल से बात की तो प्रिंसिपल का कहना था कि हमने शिक्षक के लिए विज्ञप्ति जारी की थी, परंतु हमें शिक्षक नहीं मिला। उन्होंने छात्रों से यहां तक कह दिया कि अगर आप को शिक्षक मिल जाए तो आप ले आओ।
जानकारी के अनुसार जिले के शासकीय उत्कृष्ट माध्यमिक विद्यालय क्रमांक-२ में फिजिक्स का टीचर न होने के कारण छात्रों में रोष की स्थिति बनी हुई है। शुक्रवार को छात्रों ने स्कूल में आयोजित हुए फिजिक्स के पेपर का बहिष्कार कर दिया। छात्रों ने स्कूल प्रबंधन के सामने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि हमें स्कूल में पढ़ाया नहीं गया है, हम ट्यूशन जाते नहीं हैं। ऐसे में हम पेपर कहां से दें। इस पर स्कूल प्रबंधन कोई जवाब नहीं दे पाया बल्कि उपस्थिति का हवाला देकर मामले को दबाने का प्रयास किया। इस तर्क पर कुछ छात्रों ने कहा कि हम तो स्कूल आते हैं, हमने टेस्ट भी दिए हैं। अगर शिक्षक नहीं होंगे तो हमें भी मजबूरन स्कूल आना बंद करना पड़ेगा। अंतत: स्कूल प्राचार्य ने छात्रों से यह कहकर पल्ला झाड़ा कि हमने स्कूल में विज्ञप्ति चस्पा की थी, हमें तो कोई टीचर नहीं मिला, हम अब कहां से ले आएं। अगर आप के पास कोई टीचर हो तो आप ले आओ।

Show More
shyamendra parihar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned